हेलिकॉप्टर से लटकाकर लोगों को सज़ा दे रहा तालिबान? वायरल वीडियो का सच क्या है

वायरल वीडियो में एक व्यक्ति हेलिकॉप्टर से लटकता हुआ दिख रहा है, तमाम मेनस्ट्रीम चैनलों ने इसे तालिबान की क्रूर सज़ा बताया है

अफ़ग़ानिस्तान के कंधार शहर में एक व्यक्ति को हेलीकॉप्टर से लटकते हुए दिखाने वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि अमेरिका के अफ़ग़ानिस्तान छोड़ते ही तालिबान ने एक दुभाषिये की बर्बर हत्या की है. हालांकि, घटना के अन्य वीडियो और तस्वीरों ने इस दावे को गलत साबित कर दिया क्योंकि उनमें दिख रहा है कि वह आदमी जीवित था और उसने हार्नेस पहन रखा था.

इस वीडियो को 30 अगस्त, 2021 को अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने की पृष्ठभूमि में साझा किया जा रहा है, जो एक तरह से लगभग दो दशकों तक चले सबसे लंबे अमेरिकी युद्ध के अंत का प्रतीक है. बताया जाता है कि तालिबान ने अमेरिका द्वारा छोड़े गये सैन्य उपकरण बरामद किए हैं जिन्हें सेना ने विमान सहित पीछे छोड़ दिया था.

सिर पर चोट और टाँके दिखाती तस्वीर किसानों पर लाठीचार्ज की नहीं है

वायरल वीडियो को ज़ी न्यूज़ के चीफ़ एडिटर सुधीर चौधरी ने कैप्शन के साथ ट्वीट किया, "आतंक के एक नए युग में दुनिया को ले जा रही एक और ऐतिहासिक तस्वीर. तालिबान ने एक अमेरिकी ब्लैकहॉक हेलीकॉप्टर से एक व्यक्ति को फांसी दी, जिसे अमेरिकी दुभाषिया माना जा रहा है. अमेरिका के बचे हुए हेलीकॉप्टरों का अब इस तरह #Afghanistan में इस्तेमाल किया जाएगा."

(ट्वीट का आर्काइव वर्जन)

तालिबान और इज़रायल पर NSA अजीत डोभाल के नाम से वायरल ट्वीट का सच

यही वीडियो अर्नब गोस्वामी के नेतृत्व वाले रिपब्लिक टीवी में भी प्रसारित किया गया था, जिसने इस वीडियो पर पूरी बहस छेड़ दी थी, जिसमें दावा किया गया था कि तालिबान ने अमेरिकी ब्लैक हॉक हेलिकॉप्टर से एक व्यक्ति को क्रूरता से लटकाया है.


(यहाँ देखें)

इसके अलावा मेनस्ट्रीम भारतीय मीडिया के कई चैनलों मसलन Aaj Tak, News 24, News 18, Wion News, Navbharat Times, Dainik Bhaskar, Amar Ujala, Zee Hindustan, ABP News और दक्षिणपंथी रुझान वाली वेबसाइट OpIndia ने भी इस वीडियो को इसी दावे के साथ शेयर किया कि ये तालिबानी क्रूरता का वीडियो है.


Fact-Check

वायरल वीडियो को 30 अगस्त, 2021 को सबसे पहले ट्विटर अकाउंट Talib Times द्वारा इस कैप्शन के साथ ट्वीट किया गया था, "हमारी वायु सेना! इस समय, इस्लामिक अमीरात के वायु सेना के हेलीकॉप्टर कंधार शहर के ऊपर से उड़ान भर रहे हैं और शहर में गश्त लगा रहे हैं."

क्या उज्जैन में 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' नारा लगाने पर सरकार ने बस्ती खाली करा दी? फ़ैक्ट चेक


(यहाँ देखें)

बूम ने यह भी पाया कि इसी क्लिप को पहले एक अफगान रेडियो स्टेशन, Tabassum Radio द्वारा टेलीग्राम पर पोस्ट किया गया था, जिसका वॉटरमार्क वीडियो में देखा जा सकता है. इसमें इस बात का कोई दावा नहीं किया गया था कि इसमें तालिबान द्वारा एक व्यक्ति को फांसी पर लटका हुआ दिखाया गया है.


काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले के रूप में न्यूज़ चैनलों ने पुरानी तस्वीरें दिखायीं

वीडियो को कई अलग एंगल से देखने पर आदमी को हॉर्नेस पहने और हाथ लहराते देखा जा सकता है

सर्च करने पर हमें कई अन्य वीडियो और तस्वीरें भी मिलीं, जिसमें दिखाया गया था कि वायरल क्लिप में जो आदमी दिख रहे है वह हार्नेस (एक तरह का रक्षा उपकरण) पहने है और हवा में हाथ लहराते हुए देखा जा सकता है. इससे ये साफ़ पता चलता है कि वह व्यक्ति जीवित है. जबकि वायरल दावे के मुताबिक़ आदमी के गले में फंदा डालकर उसे लटकाया गया था.

'Kandhar', 'Helicopter' जैसे कीवर्ड्स से सर्च करने पर हमें फेसबुक पर एक अलग एंगल से पोस्ट किया गया वीडियो मिला, जिसमें क्लिप की शुरुआत में आदमी को हाथ हिलाते हुए स्पष्ट देखा जा सकता है. वीडियो को Khan Mohammad Ayan नाम के एक यूज़र ने पोस्ट किया है. इसके कैप्शन का अनुवाद है कि "तालिबान ने कंधार में एक हेलीकॉप्टर का उपयोग करके गवर्नर के कार्यालय में अपना झंडा फहराने की कोशिश की थी."

हिंदू महिला की मुस्लिम शख़्स को राखी बांधने की तस्वीर ग़लत दावे संग वायरल

हमें एक और वीडियो भी मिला, जो गवर्नर के कार्यालय की इमारत के पास से शूट किया गया था, जिसमें बिल्कुल वही हेलीकॉप्टर दिखाया गया है. नीचे से झंडे के खंभे दिखाई दे रहे हैं, जबकि हेलीकॉप्टर इसके ऊपर मँडरा रहा है. वीडियो को कंधार में एक स्थानीय रिपोर्टर Arghand Abdulmanan द्वारा पोस्ट किया गया था.

इस पोस्ट का कैप्शन के साथ अनुवाद है ,"एक विमान कंधार गवर्नर के कार्यालय में झंडा फहराने के लिए पहुंचा, एक सैनिक को भी झंडा उठाने के लिए एक विमान पर उठाया गया था, लेकिन उड़ नहीं सका". इसमें साफ़ तौर पर कहा गया है कि वीडियो में दिख रहा शख्स तालिबान का सिपाही है जो तालिबान का झंडा फहराने की कोशिश कर रहा था.

वायरल तस्वीर में दिख रहा कुपोषित व्यक्ति क्या सूडान का पूर्व गृहमंत्री है?

इसके अलावा हमें एक और शख़्स ज़ाहिद जलाल के अकाउंट (@A_jahid_jalal) से वायरल वीडियो मिला जिसमें बिल्कुल स्पष्ट तरीक़े से देखा जा सकता है कि शख़्स जीवित है और हवा में हाथ हिला रहा है.



फ़ैक्ट-चेकिंग साइट Alt News के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को भी एक वीडियो मिला जिसमें व्यक्ति को हाथ हिलाते हुए दिखाया गया था.




Claim Review :   Another landmark picture taking the world in a new era of terror. Taliban hang a person, presumed to be an American interpreter, from a U.S. Blackhawk helicopter.
Claimed By :  Sudhir Chaudhary, Aaj Tak, ABP News, Republic TV
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story