काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले के रूप में न्यूज़ चैनलों ने पुरानी तस्वीरें दिखायीं

इंडिया टुडे, टाइम्स नाउ और रिपब्लिक टीवी सहित भारतीय न्यूज़ चैनलों ने काबुलएयरपोर्ट पर हुए हमलों की कवरेज के रूप में पुरानी तस्वीरें और एक असंबंधित वीडियो प्रसारित किया.

कई मुख्यधारा के भारतीय न्यूज़ चैनलों ने गुरुवार को काबुल एयरपोर्ट पर बम धमाकों के लाइव दृश्यों के रूप में पुरानी तस्वीरों और एक एयर स्ट्राइक के एक पुराने वीडियो को प्रसारित किया.

समाचार रिपोर्टों के अनुसार, इस्लामिक स्टेट के अफ़ग़ानिस्तान सहयोगी ने धमाकों की ज़िम्मेदारी ली है.

26 अगस्त, 2021 को काबुल एयरपोर्ट पर सिलसिलेवार बम हमलों ने अफ़ग़ानिस्तान से निकलने के लिए बेताब लोगों को निशाना बनाया. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार हमलों से मरने वालों की संख्या तेज़ी से बढ़ रही है. मरने वालों में ज़्यादातर आम नागरिक शामिल हैं. अमेरिकी सेना के कई जवान भी हमले में मारे गए हैं.

अफ़ग़ान महिलाओं के पैर में ज़ंजीर दिखाने के दावे से वायरल ये तस्वीर फ़ेक है

धमाकों की ख़बर आते ही कई भारतीय मेनस्ट्रीम मीडिया आउटलेट जैसे इंडिया टुडे, WION, टाइम्स नाउ, रिपब्लिक टीवी, ज़ी न्यूज़ और न्यूज़18 बांग्ला ने अफ़ग़ानिस्तान से विज़ुअल स्ट्रीमिंग के रूप में काबुल एयरपोर्ट की पुरानी तस्वीरों का इस्तेमाल किया और एक एयरस्ट्राइक का पुराना वीडियो जोकि गाजा पट्टी का बताया गया.

पहली तस्वीर


16 अगस्त, 2021 की तस्वीर में, काबुल पर तालिबान के कब्ज़े के एक दिन बाद एयरपोर्ट पर विदेशी देशों द्वारा निकासी प्रक्रिया के दौरान काबुल एयरपोर्ट पर अमेरिकी सैनिकों को पहरा देते हुए दिखाया गया है जबकि अफ़ग़ान लोग जल्द से जल्द निकलने का इंतज़ार कर रहे हैं. इसे एएफ़पी के इमेज आर्काइव में देखा जा सकता है (ऊपर देखें)

26 अगस्त, 2021 को हुए हमलों के लाइव प्रसारण के दौरान इंडिया टुडे, टाइम्स नाउ, WION न्यूज़, रिपब्लिक टीवी, ज़ी न्यूज़ और न्यूज़ 18 बांग्ला सहित भारतीय न्यूज़ आउटलेट्स द्वारा यही तस्वीर प्रसारित की गई थी. चैनलों ने विज़ुअल मार्कर का उपयोग नहीं किया था जैसे कि तस्वीर को इंगित करने के लिए FILE का इस्तेमाल, जिससे स्पष्ट किया जा सके कि यह तस्वीर गुरुवार के हमले से नहीं है.


दूसरी तस्वीर


16 अगस्त, 2021 की इस तस्वीर में अफ़ग़ान लोगों को दिखाया गया है जो 15 अगस्त को शहर में तालिबान के नियंत्रण के बाद काबुल एयरपोर्ट से निकलने के इंतज़ार में बैठे हैं.

क्या वायरल वीडियो में तालिबान ने भारत को धमकी दी है?

इंडिया टुडे और टाइम्स नाउ सहित न्यूज़ चैनलों ने इसे प्रसारित किया, जबकि यही तस्वीर ज़ी न्यूज़ द्वारा काबुल हमले की कवरेज के दौरान ट्वीट की गई थी.


काबुल हमले के फ़ुटेज के रूप में दिखाया गया एयर स्ट्राइक का वीडियो

रात के समय आसमान में एयरस्ट्राइक दिखाता वीडियो, जिसे गाजा पट्टी में इज़रायली एयर स्ट्राइक के रिपोर्ट किया गया है. इस वीडियो को भारतीय न्यूज़ चैनलों ने काबुल एयरपोर्ट पर बम धमाके के फ़ुटेज का झूठा दावा करते हुए प्रसारित किया था.वीडियो काबुल में हुए हमलों से कुछ दिन पहले इंटरनेट पर मौजूद है (ऊपर ट्वीट देखें)

एसोसिएटेड प्रेस ने भी इस वीडियो का फ़ैक्ट चेक किया है और कहा है कि यह काबुल, अफ़ग़ानिस्तान में नहीं बल्कि गाजा में एयर स्ट्राइक दिखाता है.

इंडिया टुडे और न्यूज 18 बांग्ला ने यह दावा करते हुए फ़ुटेज प्रसारित किया कि यह एयरपोर्ट पर दोहरे विस्फोटों के बाद 'लेटेस्ट विज़ुअल्स' दिखाता है. इंडिया टुडे ने बाद में अपना ट्वीट डिलीट कर दिया.


बूम स्वतंत्र रूप से वीडियो की पुष्टि कर रहा है, जिसे स्टोरी में अपडेट कर दिया जाएगा.

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबान के कब्ज़े के बाद से बूम वायरल फ़र्ज़ी सूचना और दुष्प्रचार को खारिज कर रहा है. आप नीचे दिए गए थ्रेड में हमारी फ़ैक्ट चेक रिपोर्ट देख सकते हैं.

वायरल तस्वीर में दिख रहा कुपोषित व्यक्ति क्या सूडान का पूर्व गृहमंत्री है?

Claim Review :   तस्वीरें और वीडियो 26 अगस्त 2021 को काबुल एयरपोर्ट पर हुए विस्फोट के बाद के दृश्य दिखाते हैं
Claimed By :  India Today, Times Now, WION, Republic Tv
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story