तालिबान और इज़रायल पर NSA अजीत डोभाल के नाम से वायरल ट्वीट का सच

वायरल ट्वीट के स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया यूज़र्स असल मानते हुए ख़ूब शेयर कर रहे हैं. पढ़िए ट्वीट की सच्चाई इस रिपोर्ट में

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) के नाम पर बने एक फैन ट्विटर हैंडल (Twitter Handle) से किये गए ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल है. सोशल मीडिया यूज़र्स ट्वीट को असल मानते हुए ख़ूब शेयर कर रहे हैं. वायरल ट्वीट में अप्रत्यक्ष रूप से भारत के मुसलमानों को तालिबान (Taliban) का समर्थक कहा गया है, वहीं हिन्दुओं से इज़रायल (Israel) का समर्थन करने की बात कही गई है.

बूम ने पाया कि वायरल ट्वीट का स्क्रीनशॉट एनएसए अजीत डोभाल के एक फैन अकाउंट से किया गया है. अजीत डोभाल ट्विटर पर नहीं हैं.

काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले के रूप में न्यूज़ चैनलों ने पुरानी तस्वीरें दिखायीं

वायरल ट्वीट में लिखा है, अगर वो "तालिबान" का समर्थन कर सकते हैं तो हम "इजरायल" का समर्थन क्यों नहीं कर सकते?

फ़ेसबुक पर वायरल


पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें

हिंदू महिला की मुस्लिम शख़्स को राखी बांधने की तस्वीर ग़लत दावे संग वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल ट्वीट की जांच करने के लिए सबसे पहले ट्विटर हैंडल - @AjitDoval_Ind की खोजबीन शुरू की. हमने पाया कि यह ट्विटर हैंडल राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल का नहीं बल्कि उनका एक फैन अकाउंट है. हमने पाया कि ट्विटर पर अजीत डोभाल का आधिकारिक हैंडल नहीं है.

ट्विटर हैंडल की प्रोफ़ाइल फ़ोटो में अजीत डोभाल की तस्वीर लगी है जबकि बायो सेक्शन में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) लिखा है और तो और ट्विटर यूज़र्स से नए ट्वीट के लिए नोटिफिकेशन टर्न ऑन रखने के लिए कहा गया है.


हमने पाया कि @AjitDoval_Ind हैंडल से वायरल ट्वीट 25 अगस्त 2021 को किया गया था. उसी दिन ट्वीट में लिखीं गई बातों को कई अन्य ट्विटर हैंडल द्वारा शेयर किया गया था.

इस ट्विटर हैंडल के ज़्यादातर ट्वीट मोदी सरकार की नीतियों का समर्थन करते हैं जबकि मोदी विरोधियों को 'देश विरोधी, गद्दार' से संबोधित करते हैं. इसके अलावा कई ट्वीट में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष तौर पर मुस्लिमों को निशाना बनाया गया है.

हमारी एनएसए डोभाल के इस फैन अकाउंट की जांच में एक बात सामने निकल आती है कि अधिकतर ट्वीट में वैसी ही बातें लिखीं गई है जैसे कि आमतौर पर दक्षिणपंथी हैंडल में मिलती हैं.

वायरल तस्वीर में दिख रहा कुपोषित व्यक्ति क्या सूडान का पूर्व गृहमंत्री है?

पिछले कुछ समय में एक ट्रेंड उभरकर सामने आया है जिसमें अपनी बातों व विचारों को मशहूर हस्तियों के नाम पर फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल बनाकर ट्वीट कर दिया जाता है, ताकि यूज़र इसपर विश्वास करें और उसे सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफ़ॉर्म पर शेयर करें.

Claim Review :   अगर वो तालिबान का समर्थन कर सकते हैं तो हम इजरायल का समर्थन क्यों नहीं कर सकते- अजीत डोभाल
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story