दो साल पुराने वीडियो का हिस्सा लव जिहाद के फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

वीडियो के साथ दावा किया गया है: इस महिला को सलाम #Lovejihad का असली मतलब समझाते हुए |

सोशल मीडिया पर दो साल पुराना एक वीडियो क्लिप Love Jihad के फ़र्ज़ी दावे के साथ काफ़ी वायरल है | वीडियो के साथ दावा किया गया है कि किस तरह से एक महिला ने #LoveJihad का असली मतलब समझाया है |

बूम ने पाया कि वायरल क्लिप के साथ किया गया दावा फ़र्ज़ी है और दो साल पुराने इस वीडियो का 'लव जिहाद' से कोई ताल्लुक नहीं है ना ही शादी शुदा जोड़ा अलग-अलग धर्मों से हैं | हमने वीडियो में दिखाई दे रही महिला - शबनम शेख - से बात करने की कोशिश भी की पर हमें सफ़लता नहीं मिली |

क्या किसानों ने धरना स्थल पर एक भाजपा नेता की पिटाई कर दी?

वायरल वीडियो में एक महिला एक युवक और युवती से बात करती दिखाई देती है | जबकि लड़के ने पैंट और टी-शर्ट पहन रखा है, लड़की बुर्के में है | आरंभिक बातचीत से लगता है कि महिला एक शादी शुदा जोड़े के बीच हुए किसी झगड़े का समाधान कर रही है | हालाँकि कुछ ही सेकण्ड्स में महिला के तेवर बदल जाते हैं और वो सामने बैठे व्यक्ति से बेहद बदतमीज़ी से बात करने लगती है |

वीडियो क्लिप के ख़त्म होने तक महिला उस व्यक्ति को अपने ऑफ़िस से निकल जाने को कहती है |

वायरल क्लिप के साथ ये कैप्शन भी है: इस महिला को सलाम🙏🏻🙏🏻 #Lovejihad का असली मतलब समझाते हुए। इनका उद्देश्य इनकी जनसंख्या बढा़ना है। हिन्दू लड़कियाँ इसके बारे में जागरूक हो जाओ |

चूँकि वायरल वीडियो में इस्तेमाल की गयी भाषा आपत्तिजनक है, बूम ने वीडियो अपने पेज पर शेयर ना करने का निर्णय लिया है | आप वीडियो यहां देख सकते हैं और उसका आर्काइव यहां |


जी नहीं, यह तस्वीर अयोध्या में निर्मित दिव्य चौराहे की नहीं है

यही वीडियो अंग्रेजी में इसी कैप्शन के साथ वायरल है |

फ़ैक्ट चेक

हमने वायरल वीडियो के कई स्क्रीनशॉट्स को रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिये चेक किया और दिसंबर 11, 2020 को किये गए एक क्वोट ट्वीट तक पहुंचे जिसमे ठीक यही वीडियो शेयर किया गया था |

क्वोट ट्वीट के साथ लिखे गए कैप्शन में कहा गया है 'ये तड़ी पार अभी भी एक्टिव है. किसने इसे हक़ दिया है कि ये इस तरह के कथित मेडिएशन करवाए और उन्हें रिकॉर्ड करे? मुझे ताज्जुब है की लोग ऐसे सड़कछाप गुंडे के पास क्यों जाते हैं | इसका मतलब है की लोगों को मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है इसीलिए वो डॉन लोगों के पास जाते हैं' |

(ये तड़ी पार अभी भी एक्टिव है।Who gave her the authority to conduct nd record these so called mediations. And I wonder why people go to such a useless street level Gunda . It simply means people do not have trust in @MumbaiPolice tats why they go to these dons instead of police)

जिस ट्वीट को क्वोट ट्वीट किया गया है उसके कैप्शन में महिला का नाम शबनम शेख बताया गया है और उन्हें Help Care Foundation का कर्ताधर्ता बताया गया है |

बूम ने इसके बाद Shabnam Shaikh कीवर्ड्स के साथ यूट्यूब पर सर्च किया तो हमें इसी नाम से एक चैनल मिला | काफ़ी सर्च करने के बाद हमे चैनल पर इसी वीडियो का एक लम्बा वर्ज़न सितम्बर 20, 2018 को अपलोड किया गया मिला | वीडियो का शीर्षक है 'shabnam shaikh helping 27 June' |

नहीं, यह शाहरुख़ खान का कश्मीरी हमशक्ल नहीं है

लगभग आधे घंटे लम्बे इस वीडियो में से ही वायरल क्लिप को काट कर अलग किया गया है |

बूम ने पूरा मसला जानने के लिए आधे घंटे लम्बे इस क्लिप को पूरा देखा | सोशल मीडिया पर अब वायरल हो रहे इस क्लिप को आप यूट्यूब वीडियो में 27.27 के टाइम स्टाम्प पर देख सकते हैं | जबकि वायरल वीडियो में सिर्फ़ तीन लोग नज़र आते हैं, यूट्यूब पर मौजूद वीडियो में आप फ़्रेम में कई लोगों के देख सकते हैं |

ओरिजिनल वीडियो में हो रही बातचीत से पता चलता है कि शबनम शेख एक शादी शुदा जोड़े में चल रहे झगडे का निपटारा कर रहीं हैं | वीडियो में दिख रहे पुरुष और महिला ने अपनी पहचान इमरान और फ़ातिमा के तौर पर की | शबनम पूरे वीडियो में पुरुष को इमरान बोल कर सम्बोधित करती दिख रही हैं |

वीडियो से समझ आता है कि इमरान अपनी बीवी फ़ातिमा और बच्चे से अलग होना चाहता है |

शबनम फ़ातिमा से ये भी कहती हैं कि वो उसका केस लड़ेंगी | पूरी वीडियो देख कर साफ़ समझ आता है की मामला एक शादी-शुदा जोड़े में चल रहे आपसी झगडे का है ना कि 'लव जिहाद' का |

क्या प्रधानमंत्री मोदी मुकेश अंबानी के पोते को देखने मुंबई गए थे?

हमने वायरल वीडियो और 2018 के यूट्यूब वीडियो के कुछ स्क्रीनशॉट्स की तुलना भी की जो एकदम सामान थे | नीचे देखें |


शबनम शेख के यूट्यूब चैनल पर इस तरह के कई वीडियोस मिलें जिसमे वो शादी शुदा जोड़ो के बीच झगड़ों का निपटारा करती नज़र आती हैं | उनके चैनल के About Us सेक्शन में दी गई जानकारी नीचे शेयर की गयी है |


बूम ने दिए गए नंबर पर कॉल किया पर हमारी शबनम से बात नहीं हो पाई | शबनम से बात होने पर रिपोर्ट अपडेट की जाएगी |

Updated On: 2020-12-16T20:15:37+05:30
Claim Review :   इस महिला को सलाम #Lovejihad का असली मतलब समझाते हुए। इनका उद्देश्य इनकी जनसंख्या बढा़ना है। हिन्दू लड़कियाँ इसके बारे में जागरूक हो जाओ
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story