क्या प्रधानमंत्री मोदी मुकेश अंबानी के पोते को देखने मुंबई गए थे?

दावा है कि यह तस्वीर वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलन के वक़्त की है ।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani), उनकी पत्नी एवम कंपनी की चीफ़ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर नीता अंबानी (Nita Ambani) एवम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की छ्ह साल पुरानी एक तस्वीर फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल है । तस्वीर एक हॉस्पिटल (hospital) की है तो दावा यह किया जा रहा है कि मोदी किसान आंदोलन (farmers protest) के बीच मुकेश अंबानी के पोते (grandson) को देखने मुम्बई पहुँचे ।

बूम ने पाया कि यह तस्वीर 25 अक्टूबर 2014 को ली गयी थी जब नरेंद्र मोदी मुम्बई में रिलायंस ग्रुप के एक अस्पताल के उद्घाटन में शरीक हुए थे ।

हाल ही में मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी (Akash Ambani) पिता बने हैं । इस ख़बर ने 10 दिसंबर को काफ़ी सुर्खियां बटोरी थीं । यह दावा वायरल हो रही तस्वीर को किसान आंदोलन (kisan andolan) से जोड़ रहा है ।

पिछले कुछ महीनों से पंजाब और हरियाणा के किसान केंद्र सरकार द्वारा बनाए नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं ।

दावा में लिखा है: "बंदा #मालिक के पोते को देखने हॉस्पिटल पहुंच गया लेकिन किसानों से मिलने का समय नहीं है। जो १७ दिन से ऐसी ठण्ड और बरसात में खुले आसमान के नीचे बैठे हैं"

पोस्ट्स नीचे देखें और इनके अर्काइव्ड वर्शन यहां, यहां और यहां देखें ।




नहीं, यह ट्रैफ़िक जाम किसान आंदोलन के कारण नहीं हुआ है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस तस्वीर के साथ 'Mukesh Ambani with Narendra Modi' कीवर्ड्स खोज की और पाया कि यह तस्वीर 25 अक्टूबर 2014 में प्रकाशित हुई थी ।

हमें इंडिया टुडे का एक लेख मिला जिसमें बताया गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के गवर्नर सी विद्यासागर राव मुम्बई में एच.एन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल के उद्घाटन में शरीक हुए थे । यह 25 अक्टूबर 2014 को हुए कार्यक्रम की है । वायरल पिक्चर को फ्लिप किया गया है ।


इसके बाद हमनें इस कार्यक्रम पर कीवर्ड्स खोज की और इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट पाई । इस रिपोर्ट में कार्यक्रम की अन्य तस्वीरें भी हैं ।

Updated On: 2020-12-18T19:01:50+05:30
Claim Review :   बंदा #मालिक के पोते को देखने हॉस्पिटल पहुंच गया लेकिन किसानों से मिलने का समय नहीं है। जो १७ दिन से ऐसी ठण्ड और बरसात में खुले आसमान के नीचे बैठे हैं
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story