क्या अरविन्द केजरीवाल और उनका परिवार आरएसएस के सदस्य थे?

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो को क्रॉप कर भ्रामक संदर्भ के साथ शेयर किया गया था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री, अरविंद केजरीवाल का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में दिखाया गया है कि कैमरे के सामने उन्होंने स्वीकार किया है कि वे खुद और उनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सदस्य रहे हैं। यह वीडियो झूठा है और इसे चालाकी से क्रॉप किया गया है।

सात सेकंड की क्लिप में, ऐसा प्रतीत होता है कि केजरीवाल कह रहे हैं, "हमारा परिवार जनसंघ में था, जन्म से हम भाजपा के सदस्य थे। मेरे पिता जनसंघ में थे और आपातकाल के दौरान जेल गए थे।"

यह भी पढ़ें: क्या 'आप' ने केवल मुस्लिम दंगा पीड़ितों के लिए मुआवज़े की घोषणा की?

बूम को अपने व्हाट्सएप्प हेल्पलाइन नंबर (7700906111) पर भी यह वायरल वीडियो मिला है।


ट्विटर पर वायरल

दिल्ली में विधानसभा चुनाव के बाद यही फ़र्ज़ी तरह से एडिटेड वीडियो ट्वीटर पर भी ट्वीट किया गया था।

अर्काइव के लिए यहां क्लिक करें।

अर्काइव के लिए यहां क्लिक करें।

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली सात सेकंड की क्लिप को 22 मिनट के साक्षात्कार से ली गयी, जो केजरीवाल ने 3 फ़रवरी, 2020 को एडीटीवी को दिया था। साक्षात्कार में, केजरीवाल भाजपा के एक पूर्व समर्थक के बारे में बात कर रहे हैं, जिन्होंने कहा था कि पिछले महीने हुए दिल्ली राज्य चुनावों में वह आम आदमी को वोट देंगे।

यह भी पढ़ें: दंगा पीड़ितों को राहत राशि देने का वीडियो शाहीन बाग़ को निशाना बनाते हुए वायरल हुआ

7.16 सेकंड के टाइमस्टैम्प पर केजरीवाल कहते हैं, "मैं देख रहा था कि एक भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) समर्थक एक चैनल पर बात कर रहे थे कि, "हमारा परिवार जनसंघ में था, जन्म से ही हम भाजपा के सदस्य थे। मेरे पिता जनसंघ में थे और आपातकाल के दौरान जेल गए थे।" लेकिन उन्होंने कहा कि वह इस बार केजरीवाल को वोट देंगे।"

वह भाग जिसमें उन्होंने कहा कि, "मैं देख रहा था कि एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थक एक चैनल पर यह कहते हुए ले जा रहा था कि," को वायरल क्लिप में नहीं देखा जा सकता क्योंकि उसे हटा किया गया है और यह वाक्य "हमारा परिवार जनसंघ में था, जन्म से हम भाजपा के सदस्य थे, पिता जनसंघ में थे और आपातकाल के दौरान जेल गए थे।" को इस झूठे दावे क साथ शेयर किया जा रहा है कि केजरीवाल ने स्वीकार किया कि उनके आरएसएस से सम्बन्ध रखते हैं।

केजरीवाल आगे कहते हैं, "उन्होंने उनसे पूछा कि क्यों, तो उन्होंने कहा," मेरा बच्चा एक सरकारी स्कूल में पढ़ता है और सरकारी स्कूलों की हालत इतनी ख़राब स्थिति थी, उन्होंने (आप) मेरे बच्चे का भविष्य बनाया है। आदमी ने कहा कि वह (केजरीवाल) एकमात्र व्यक्ति है जो काम के आधार पर वोट मांग रहा है, 60 साल में किसी भी पार्टी ने अपने काम के आधार पर वोट नहीं मांगा।

केजरीवाल ने आगे कहा कि जब भाजपा के पूर्व समर्थक को शाहीन बाग़ में विरोध प्रदर्शन के बारे में कहा गया था, तो आदमी ने कहा, 'मैं उनकी राजनीति जानता हूं, यह 10 दिन का मामला है, उन्होंने (भाजपा) खुद ही शाहीन बाग़ का निर्माण किया है, और शाहीन बाग़ 10 दिनों में ख़त्म हो जाएगा, चुनाव के बाद शाहीन बाग़ खत्म हो जाएगा और तब बिजली, पानी और अस्पतालों के साथ केवल केजरीवाल मदद के लिए होंगे।'

यह भी पढ़ें: क्या इस वीडियो में अमानतुल्ला खान का गुस्सा केजरीवाल के ख़िलाफ है? फ़ैक्ट चेक

Claim Review :  वीडियो दर्शाता है की अरविन्द केजरीवाल ने स्वीकारा है की वे और उनका परिवार आरएसएस के सदस्य थे
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story