क्या इस वीडियो में अमानतुल्ला खान का गुस्सा केजरीवाल के ख़िलाफ है? फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वीडियो 24 फ़रवरी का है, जब 'आप' विधायकों ने दिल्ली में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल के आवास के सामने प्रदर्शन किया था।

दिल्ली में लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल के आवास के सामने प्रदर्शन करते हुए आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्ला खान का एक वीडियो नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) से संबंधित हिंसा के मद्देनज़र ग़लत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि जब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अमानतुल्ला खान से मिलने से इंकार कर दिया, तब वह भड़क गए और यह वीडियो केजरीवाल के ख़िलाफ गुस्सा दिखा रहे अमानतुल्ला का है।

वीडियो में ओखला क्षेत्र से दिल्ली विधानसभा के सदस्य खान को पार्टी के अन्य विधायकों के साथ दिखाया गया है, जिसमें दिल्ली के दंगा क्षेत्रों में कानून व्यवस्था को बहाल करने के लिए आवश्यक कदम नहीं उठाने के कारण बैजल की निंदा कर रहे हैं।

उत्तेजित खान, बैजल की अनुपस्थिति पर सवाल उठाते हैं। उन्हें हिंदी में कहते हुए सुना जा सकता है, "जब पूरी दिल्ली दुर्घटनाग्रस्त हो जाएगी, तो क्या आप तब मिलेंगे? क्या आप इसका आनंद ले रहे हैं? कमिश्नर और डीसीपी कॉल का जवाब नहीं दे रहे हैं और वह मिलने के लिए तैयार नहीं हैं। हर किसी को मार दें, जिन्होंने आपको वोट नहीं दिया। हमें अभी उनसे मिलने दें। यह अब एक मज़ाक बन गया है। दिल्ली जल रही है। क्या आपको इस वजह से चार्ज दिया गया है? क्या आपको लगता है कि हम पागल हैं?"

यह भी पढ़ें: दिल्ली दंगे: मोहम्मद शाहरुख़ की पहचान को कैसे फ़र्ज़ी सूचनाओं ने धुंधला किया

समर्थक और एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों के समूहों में बीच झड़प होने के बाद उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में बड़े पैमाने पर हिंसा और दंगे हुए। हिंसा में अब तक 43 लोगों की मौत हो चुकी है और 100 से अधिक घायल हुए हैं।

भारतीय जनता पार्टी के आई.टी सेल (आईटी) प्रमुख अमित मालवीय ने भी 45 सेकंड के लंबे वीडियो को इस दावे के साथ ट्वीट किया है कि दिल्ली के दंगों के दौरान अरविंद केजरीवाल की अनुपस्थिति पर खान सवाल उठा रहे हैं। ट्वीट के साथ हिंदी में कैप्शन दिया गया है जिसमें लिखा है, "अमानतुल्ला खान इस विडीओ में किस पर भड़क रहा है? "इसके लिए ही सीट पर बैठाया है क्या?" कौन है जिसे अमानतुल्ला ने सीट पर बैठाया और अब उसी से मिलने के लिए उसे इंतज़ार करना पड़ रहा है? दिल्ली का मुख्यमंत्री कौन है?"

ट्वीट के अर्काइव के लिए यहां देखें

ऐसी ही कहानी के साथ वीडियो को व्यापक रूप से फेसबुक पर शेयर किया जा रहा है, जिसमें दावा है कि दिल्ली के दंगों के मुस्लिम पत्थरबाजों के लिए खड़े नहीं होने के लिए खान केजरीवाल को खुलेआम फटकार लगा रहे हैं।


फेसबुक पर वायरल


बूम के हेल्पलाइन नंबर पर भी यह वीडियो भेजा गया है ताकि हम सच्चाई का पता लगा सकें।


यह भी पढ़ें: 'आप' विधायक अमानतुल्ला खान के ट्वीट का फ़र्ज़ी स्क्रीनशॉट वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो को मुख्य फ़्रेम में तोड़ा और एक रिवर्स इमेज सर्च चलाया और पाया कि खान 24 फ़रवरी को उपराज्यपाल बैजल के आवास के सामने प्रदर्शन कर रहे थे, न कि केजरीवाल के आवास पर, जैसा कि वायरल वीडियो में दावा किया गया है।

खान ने अन्य विधायकों के साथ, 24 फ़रवरी को दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाकों में कानून और व्यवस्था को सामान्य बनाने में उचित कारवाही न होने के लिए बैजल के निवास के सामने विरोध प्रदर्शन किया था।

हमें वीडियो का एक लंबा वर्शन मिला, जिसे 'आप' के सोशल मीडिया रणनीतिकार ने 25 फ़रवरी को ट्विटर पर अपलोड किया। दिलीप पांडे, गोपाल राय, इमरान हुसैन, अखिलेश त्रिपाठी और संजीव झा सहित अन्य विधायकों को खान के साथ प्रदर्शन करते देखा जा सकता है।

55 काउंटर के बाद, खान को अनिल बैजल के ख़िलाफ नारेबाज़ी करते हुए सुना जा सकता है।

बूम ने खान से संपर्क किया, जिन्होंने पुष्टि की कि वह उसी दिन बैजल के निवास के सामने प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने कहा, "मैं अन्य विधायकों के साथ बैजल के घर के सामने नारेबाज़ी कर रहा था जब उन्होंने हमसे मिलने से इनकार कर दिया।"

एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के एक अंश में लिखा है, "पार्टी के अन्य नेताओं के साथ दिल्ली की आम आदमी पार्टी (आप) के मंत्री गोपाल राय, राष्ट्रीय राजधानी में" बिगड़ती कानून और व्यवस्था की स्थिति "पर चर्चा करने के लिए सोमवार देर रात उपराज्यपाल के आवास पर पहुंचे। दिल्ली पुलिस द्वारा लोगों को सुरक्षा सुनिश्चित करने का आश्वासन मिलने के बाद वहां से वापस गए।"

न्यूज़ 18 इंडिया के बुलेटिन में भी यही बताया गया था।


Updated On: 2020-03-02T17:42:08+05:30
Claim Review :   वीडियो दर्शाता है की आप के विधायक अमानतुल्लाह खान अरविन्द केजरीवाल की ग़ैरमौजूदगी और निष्क्रियता पर नाराज़ हैं
Claimed By :  Facebook and Twitter
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story