भारतीय सेना ने पीओके में एयर स्ट्राइक की ख़बर का किया खंडन

भारतीय सेना के सैन्य संचालन महानिदेशक ने कहा कि पाकिस्तान आक्युपाइड कश्मीर में सेना की कार्रवाई की ख़बरें फ़र्ज़ी हैं।

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में आतंकवादी लॉन्चपैड पर भारतीय सेना (Indian Army) द्वारा किए गए हवाई हमले का दावा गुरुवार को सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया। हालांकि, भारतीय सेना ने स्पष्ट किया कि 19 नवंबर को नियंत्रण रेखा के पार ऐसी कोई गोलीबारी नहीं हुई थी।

कई फ़ेसबुक पेज और वेरिफ़ाइड ट्विटर हैंडल से शेयर किए गए पोस्टों में दावा किया गया कि पीओके में भारतीय सेना के हवाई हमलों (airstrike) में कई आतंकी (terrorists) ठिकाने ध्वस्त हो गए। कई मेनस्ट्रीम मीडिया आउटलेट्स ने इस ख़बर को प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (पीटीआई, PTI) के हवाले से चलाया। हालंकि बाद में रिपोर्ट्स को अपडेट कर लिया गया जब सेना ने इस ख़बर का खंडन किया।

दीवाली से एक दिन पहले 13 नवंबर को पाकिस्तान द्वारा जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन की पृष्ठभूमि में समाचार वायरल हुआ है। इस संघर्ष विराम उल्लंघन में चार सैन्यकर्मियों और एक सीमा सुरक्षा बल के जवान सहित 11 लोगों की मौत हो गई थी।

समाचार रिपोर्टों के अनुसार, 'भारतीय सेना ने कहा कि उसने ज़ोरदार जवाबी कार्रवाई की, जिससे पाकिस्तान सेना के बुनियादी ढांचे को काफी नुकसान पहुंचा और एलओसी के पार पाकिस्तानी सेना हताहत हुई।'

क्या राजस्थान में पटाखे बैन होने पर राजपूतों ने फ़ायरिंग करके दीवाली मनाई?

वही रिपोर्ट फ़ेसबुक और ट्विटर पर शेयर की गई थी। नीचे पोस्ट देखें और आर्काइव वर्ज़न यहां, यहां और यहां देखें।




दीपक चौरसिया, रुबिका लियाकत और अंजना ओम कश्यप सहित कई पत्रकारों और मीडिया आउटलेट ने ट्वीट कर एयर स्ट्राइक के बारे में बताया। बाद में अंजना ओम कश्यप ने ट्वीट करके कहा कि सेना ने दावों का खंडन किया है।

योगी आदित्यनाथ का पुराना वीडियो भ्रामक दावों के साथ वायरल







इंडिया टुडे और आज तक ने इन्डोनेशियाई बच्चे का एडिटेड वीडियो किया पोस्ट

सेना ने दावा ख़ारिज किया

इस बीच न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने ट्वीट कर जानकारी दी कि भारतीय सेना ने 19 नवंबर को एयर स्ट्राइक के दावों का खंडन किया है।

बूम ने पत्रकार दिनाकर पेरी और शिव अरूर के ट्वीट देखे, जिसमें उन्होंने एयर स्ट्राइक की ख़बर को ख़ारिज किया.

दिनाकर पेरी ने ट्वीट किया: स्पष्टता: सेना ने स्पष्ट किया है कि चारों तरफ़ घूम रही पीटीआई की न्यूज़ स्टोरी संघर्ष विराम उल्लंघन (सीएफ़वी) के विश्लेषण पर आधारित है जो 13 नवंबर को हुई थी। #LoC में आज कोई गोलीबारी या सीएफ़वी नहीं हुई है, सेना का कहना है।

जबकि शिव अरूर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'आज पीओके में एलओसी के पार भारतीय सेना की कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब तक तो नहीं, कम से कम'।

हवा साफ़ है या ख़राब बताने वाला एयर क्वालिटी इंडेक्स आख़िर है क्या?

Updated On: 2020-11-25T16:20:17+05:30
Claim Review :   भारतीय सेना ने पीओके में एयर स्ट्राइक कर कई आतंकवादी शिविरों को नष्ट किया
Claimed By :  Social Media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story