कर्नाटक में लड़की के अपहरण का वीडियो उत्तर प्रदेश का बताकर वायरल

बूम ने पाया कि वायरल पोस्ट का दावा फ़र्ज़ी है, घटना उत्तर प्रदेश की नहीं बल्कि कर्नाटक के कोलार जिले की है।

कर्नाटक में दिनदहाड़े एक महिला के अपहरण का सीसीटीवी फुटेज उत्तर प्रदेश से जोड़कर वायरल किया जा रहा है। हाथरस में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप की घटना के बाद वीडियो फुटेज शेयर किया जा रहा है। बूम ने पाया कि घटना कर्नाटक के कोलार की है, जहां एक महिला को शादी के प्रस्ताव से इंकार करने पर अगवा कर लिया गया था।

वीडियो में क्लोज सर्किट कैमरा फुटेज की एक फोन रिकॉर्डिंग दिखाई गई है। फुटेज में दोपहर के समय एक व्यस्त सड़क पर दो लड़कियों को चलते हुए देखा जा सकता है, तभी विपरीत दिशा से आती एक चार पहिया गाड़ी से एक युवक उतरता है और एक लड़की को जबरन गाड़ी में खींच कर वहां से निकल जाता है। दूसरी लड़की को पीड़िता के अपहरण का विरोध करते देखा जा सकता है।

फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लोग उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल उठा रहे हैं। हाथरस में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप की घटना की पृष्ठभूमि में वीडियो फुटेज शेयर किया जा रहा है, जहां चार उच्च जाति के लोगों ने दलित युवती के साथ कथित तौर पर दरिंदगी को अंजाम दिया था। घटना के बाद चारों आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया था। 29 सितंबर 2020 को दिल्ली के सफ़दरजंग अस्पताल में पीड़िता ने दम तोड़ दिया था। राज्य प्रशासन को मामले पर लीपापोती करने के लिए काफ़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था।

गोवा कांग्रेस की सोशल मीडिया प्रभारी की तस्वीर 'नक्सल भाभी' बताकर वायरल

एक यूज़र ने फ़ेसबुक पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि "उत्तर प्रदेश में दिनदहाड़े बेटियों को उठाया जा रहा है, गैंगरेप किया जा रहा है, पूरे प्रदेश में जंगलराज क़ायम है।"

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।

ट्विटर पर वीडियो शेयर करते हुए यूज़र्स महिलाओं की सुरक्षा पर बीजेपी की आलोचना कर रहे हैं। एक यूज़र ने ट्वीट किया कि "उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुम्भकर्ण की नींद में सो रहे हैं क्योंकि सभी बला*** बीजेपी सपोर्टर हैं।"

आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।

फ़ेसबुक पर बड़े पैमाने पर वीडियो को शेयर किया गया है। अधिकतर यूज़र्स ने एक ही कैप्शन "उत्तर प्रदेश में दिनदहाड़े बेटियों को उठाया जा रहा है..अंधभक्त अभी भी आंखों पर पट्टी चढ़ाए हैं #मीडिया_योगी_का_इस्तीफा_माँगो" के साथ वीडियो शेयर किया है।


नहीं, तस्वीर में प्रियंका गांधी 'नक्सल भाभी' को गले नहीं लगा रही हैं

फ़ैक्ट चेक

बूम यह पता लगाने में सक्षम था कि वीडियो कर्नाटक का है क्योंकि लोगों को वीडियो फुटेज के बैकग्राउंड में कन्नड़ बोलते हुए सुना जा सकता है। हमने एक कीवर्ड के साथ सर्च किया तो कई न्यूज़ रिपोर्ट मिली। 'द न्यूज़ मिनट' की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि यह घटना इस साल अगस्त में कर्नाटक के कोलार जिले में हुई थी। सीसीटीवी फुटेज के स्क्रीनशॉट का इस्तेमाल द न्यूज मिनट में घटना की रिपोर्ट करने के लिए किया गया है, जिसका शीर्षक है, "शादी से इनकार करने पर कर्नाटक के एक व्यक्ति ने दिन के उजाले में महिला का अपहरण किया, जो सीसीटीवी में पकड़ा गया है।"

कोलार के पुलिस अधीक्षक कार्तिक रेड्डी ने 'द न्यूज मिनट' को बताया कि महिला का अपहरण किया गया और फिर तुमकुरु जिले के एक लॉज में रखा गया, जहां अपहरणकर्ता शिवशंकर ने उसे शादी करने के लिए मनाने का प्रयास किया। हालांकि, महिला अपने ठिकाने के बारे में जल्द ही अपने परिवार के सदस्यों को बताने में कामयाब रही।

कई समाचार आउटलेट ने वीडियो और घटना को कवर किया है। यहां पढ़ें

मध्य प्रदेश में बलात्कार के आरोपी की तस्वीर हाथरस मामले से जोड़कर वायरल


Claim Review :   उत्तर प्रदेश में दिनदहाड़े बेटियों को उठाया जा रहा है, गैंगरेप किया जा रहा है
Claimed By :  Social Media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story