क्या केरल में मुस्लिम दंपति ने अपनी बेटी की शादी हिन्दू लड़के से कर दी?

बूम को कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं, जिनमें उल्लेख किया गया है कि मुस्लिम दंपति ने एक हिन्दू लड़की को गोद लिया था और वायरल तस्वीर उसकी शादी की है.

सोशल मीडिया पर एक नव-विवाहित हिंदू जोड़े को एक बुज़ुर्ग मुस्लिम दंपति का पैर छूकर आशीर्वाद लेते हुए एक तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल है. तस्वीर शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि मुस्लिम दंपति ने अपनी बेटी की शादी हिन्दू लड़के के साथ की है.

बूम को कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं, जिनमें उल्लेख किया गया है कि मुस्लिम दंपति ने एक हिन्दू लड़की को गोद लिया था और वायरल तस्वीर उसकी शादी की है.

क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खाली मैदान में हाथ लहरा कर लोगों का अभिनंदन किया? फ़ैक्ट चेक

वायरल तस्वीर में एक बुज़ुर्ग मुस्लिम दंपति के साथ एक नवविवाहित जोड़े को देखा जा सकता है, जहां नवविवाहिता लड़की बुर्क़ा पहने महिला के पैर छू रही है, वहीं युवक उसे देख रहा है.

कैलाश उनियाल नाम के एक फ़ेसबुक यूज़र ने तस्वीर पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा, "केरल मे मुस्लिम माता पिता ने अपनी बेटी की शादी एक #सनातनी लड़के से करा दी...बेटी #हिन्दू_घर मे सुरक्षित रहेगी..!! #जय_श्री_राम"


पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें. अन्य पोस्ट यहां देखें.

ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

फ़ेसबुक पर इसी दावे के साथ बड़ी संख्या में तस्वीर शेयर की गई है.

ईवीएम हैकिंग पर पूर्व चुनाव आयुक्त टीएस कृष्णमूर्ति के नाम से फ़र्ज़ी बयान वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो पाया कि इस तस्वीर का उपयोग 18 फ़रवरी, 2020 को टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक लेख में किया गया था, जिसका शीर्षक 'केरल: मुस्लिम व्यक्ति ने गोद ली हुई हिंदू बेटी की शादी की' है.


टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में कहा गया है कि केरल के कासरगोड के मेलपराम्बा के अब्दुल्ला अब्दुरहीमन ने जब राजेश्वरी को गोद लिया था, तब वह दस साल की थी. राजेश्वरी ने अपने माता-पिता, तमिलनाडु के दोनों खेतिहर मजदूर, को खो दिया था.

17 फ़रवरी, 2020 को मातृभूमि में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, राजेश्वरी के पिता 'अब्दुल्ला के कुनैनियम में निवास और खेत में एक नियमित मजदूर' थे और इसलिए वह बचपन से परिवार के करीब थीं.

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि चूंकि राजेश्वरी के पति विष्णु के परिवार ने मांग की कि शादी एक मंदिर में की जाए, इसलिए परिवार ने 'कान्हांगट में मनोट्टु मंदिर' चुना, जहां सभी धर्मों के लोगों को अनुमति दी जाती है'.

इंडिया टुडे ने अपनी रिपोर्ट में लिखा कि राजेश्वरी 16 फ़रवरी को मंदिर में विष्णु प्रसाद के साथ दोनों हिंदू और मुस्लिम समुदायों के परिवार और दोस्तों की मौजूदगी में शादी के बंधन में बंधी.

आरएसएस चीफ़ मोहन भागवत के 'फ़ैन ट्विटर हैंडल' से किया गया ट्वीट वायरल

Claim Review :   मुस्लिम दंपति ने अपनी बेटी की शादी हिन्दू लड़के के साथ की.
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story