पाकिस्तान का पुराना वीडियो भारत में ग़लत दावे के साथ वायरल

वायरल वीडियो में कुछ लोग एक कार्गो गाड़ी में कंटेनर में रखे दूध में कुछ मिलावट करते नज़र आ रहे हैं.

एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें एक छोटी ट्रक नुमा गाड़ी में दूध के कुछ कंटेनर रखे हैं. वीडियो में दिख रहा है कि एक शख़्स उसमें से एक कंटेनर खोलता है और अपना सिर उसके अंदर डालकर हाथ से कुछ मिला रहा होता है. इसी वीडियो को कई अलग अलग दावों के साथ शेयर किया जा रहा है. बूम ने अपनी पड़ताल में पाया कि ये वीडियो दरअसल पाकिस्तान का है.

तेलंगाना: पुलिसकर्मी की सूझ-बूझ ने बचाई जान, वीडियो हुआ वायरल

इस वायरल वीडियो को सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक रंग देकर शेयर किया जा रहा है. एक यूज़र ने इसे ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा "देख लीजिये क्या चल रहा है, खुलेआम सड़कों पर पानी मिलाते हैं और शायद लगता है कि दूध के कंटेनर में ये थूक भी रहे है। अब तो लगता है दूध वाला भी सनातनी ही ढूँढना पडेगा"

वीडियो फ़ेसबुक पर भी काफ़ी वायरल है और वहाँ भी इसे ग़लत दावों के साथ शेयर किया जा रहा है. कैप्शन में साम्प्रदायिक एंगल देकर दावा किया जा रहा है.

(पोस्ट यहाँ देखें)

फ़ैक्ट चेक

बूम ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल क्लिप भारत का नहीं है. हमने अपनी खोज में पाया कि बिल्कुल यही वीडियो पाकिस्तान के कई लोगों ने पहले भी शेयर किया हुआ है. जो गाड़ी उस वीडियो में दिख रही है वो कंपनी भी पाकिस्तानी कंपनी की है जिसका नाम है 'सिवा कार्गो लोडर'. वायरल वीडियो कई कीफ्रेम्स (वीडियो को गूगल सर्च करने के लिये उसे कई तस्वीरों में तोड़ा जाता है ताकि आसानी से उससे मिलती जुलती तस्वीरों के ज़रिये इसका सुराग लगाया जा सके) में तोड़ा और उन तस्वीरों में से एक का रिवर्स इमेज सर्च किया तो पाया कि पहले भी इस वीडियो को पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर शेयर किया जा चुका है. वीडियो को शेयर करते हुए बताया गया कि ये पाकिस्तान के लाहौर का है.

असम के मुख्यमंत्री के भाषण के रूप में वायरल इस वीडियो का सच क्या है?

हमें एक ट्वीट मिला जो 16 जनवरी 2021 को किया गया था जिसमें इस वीडियो क्लिप का एक लंबा हिस्सा शेयर किया गया था. जब उसके कैप्शन को उर्दू से ट्रांसलेट किया गया तो लिखा था कि 'लाहौर में शुद्ध दूध बनाया जाता है वीडियो का आख़िरी हिस्सा तो कमाल का है'


और खोजने पर हमें तमाम फ़ेसबुक पोस्ट भी भी मिलीं जो पाकिस्तान के फ़ेसबुक यूज़र्स ने शेयर की थीं. यूट्यूब पर भी कुछ वीडियो इससे जुड़े मिले जिनमें लोग दूध में मिलावट करने को लेकर लोगों की आलोचना कर रहे थे.

पूर्व CJI रंजन गोगोई के नाम पर चल रहे फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल्स से फैलाई जा रही हैं फ़र्ज़ी ख़बरें

सबसे आख़िरी में जब वीडियो में दिख रही गाड़ी के ब्रांड के बारे में हमने पड़ताल की तो पाया कि ये पाकिस्तान की ही कंपनी है जो मिनी ट्रक बनाती है. इसका नाम है Siwa Cargo loader.


Claim Review :   ख लीजिए क्या चल रहा है 🔸खुलेआम सड़कों पर #पानी मिलाते हैं और शायद लगता है दूध के #कंटेनर में यह #थूक भी रहे हैं अब तो दूधवाला भी #सनातनी ढूंढना पड़ेगा... #थूक_जिहादी_शांतिदूत
Claimed By :  social media
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story