Lucknow में Cab Driver की पिटाई करने वाली लड़की हुई Arrest? फ़ैक्ट चेक

वायरल वीडियो में पुलिस एक महिला को हिरासत में लिये दिख रही है. दावा किया जा रहा है कि वो लखनऊ में कैब ड्राइवर की पिटाई करने वाली प्रियदर्शिनी है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा रहा जिसमें पुलिसकर्मी एक महिला को हिरासत में लेकर जाते दिख रहे हैं. वीडियो में महिला पुलिसकर्मी भी दिख रही हैं. वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि हिरासत में ली गई ये लड़की लखनऊ के 'थप्पड़ कांड' से चर्चा में आई प्रियदर्शिनी है. वीडियो के साथ ये भी कहा जा रहा है कि कैब ड्राइवर को मिला न्याय और थप्पड़बाज लड़की गिरफ़्तार हो गई.

Schools to reopen: जानें UP में स्कूल खुलने से जुड़ी ज़रूरी बातें

5 अगस्त की रात लखनऊ के एक Cab Driver की पिटाई का वीडियो देश भर में वायरल हुआ था. Nav Bharat Times की एक खबर के मुताबिक़ लखनऊ की रहने वाली प्रियदर्शिनी ने कैब ड्राइवर पर ऐक्सिडेंट का आरोप लगाकर उसे जमकर पीट दिया. बीच रोड पर युवती ने चालक को कई थप्पड़ मारे और फोन छीनकर तोड़ दिया.

एक युवक चालक की मदद को आगे आया तो युवती उससे भी भिड़ गई. वहां मौजूद अन्य लोग घटना का वीडियो बनाते दिखाई दिए. सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले गई. बाद में सोशल मीडिया पर लड़की के ख़िलाफ़ जमकर माहौल बना और उसकी गिरफ़्तारी की माँग की जाने लगी.

ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता से जोड़कर राहुल गाँधी का मॉर्फ़्ड ट्वीट वायरल

इसी घटना से जोड़कर अब एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो को एक यूज़र ने शेयर करते हुए लिखा 'ड्राइवर के हक में आया फैसला पापा की परी ज्यादा उड़ रही थी'


फ़ेसबुक पर इसी दावे के साथ कि 'कैब ड्राइवर को मिला न्याय और थप्पड़बाज महिला गिरफ़्तार' ख़ूब वायरल है.


फ़ैक्ट चेक

इस वायरल वीडियो की सत्यता जानने के लिये हमने इसे कीफ्रेम में तोड़कर रिवर्स इमेज सर्च किया तो पाया कि ये वीडियो साल 2016 का है. वीडियो में पहले ही दिख रहा है कि ये कोरोना काल का नहीं हैं क्योंकि न ही कोई मास्क लगाया है और न ही कोई सोशल डिस्टेंसिंग है.

MHK TANHA नाम के इस चैनल में अपलोड इस वीडियो का कैप्शन था 'आनंदराज की राइट हैंड अनुराधा चौधरी को पुलिस ने किया गिरफ़्तार'

राम मंदिर के नाम से शेयर हो रही तस्वीर का अयोध्या से कोई ताल्लुक़ नहीं


अब हमने कीवर्ड्स की मदद से गूगल सर्च किया तो हमें News 24 की जून 2016 की एक Video report मिली जिसमें हूबहू यही वीडियो दिख रहा था. इसमें दी गई जानकारी के अनुसार राजस्थान की अनुराधा चौधरी को 'लेडी डॉन' के नाम से जाना जाता है. रिपोर्ट में कहा गया कि राजस्थान की एक अदालत ने अनुराधा को 2 साल की सजा सुनाई और 20 हज़ार रुपये का जुर्माना भी लगाया.

इन खबरों से ये स्पष्ट हो गया कि वायरल वीडियो में दिख रही लड़की राजस्थान की अनुराधा चौधरी है और वीडियो पाँच साल पुराना है. इस वीडियो का लखनऊ का प्रियदर्शिनी से कोई लेना देना नहीं है.

वायरल वीडियो में दिख रहा शख्स हिमालया कंपनी का चेयरमैन नहीं है

NDTV की 31 जुलाई 2021 की एक खबर के मुताबिक़ अनुराधा को हाल ही में दिल्ली पुलिस ने उसके एक साथी के साथ गिरफ़्तार किया है. इसी रिपोर्ट में बताया गया कि अनुराधा राजस्थान के सीकर की रहने वाली है. वह पढ़ाई में बहुत तेज थी और बीसीए जैसी प्रोफेशनल डिग्री भी ली. बाद में अपराध की दुनिया में कदम रखा तो 'लेडी डॉन' "रिवॉल्वर रानी'" और तमाम नामों से उसे जाना जाने लगा.

Claim :   ज्यादा उड़ रही थी पापा की परी थप्पड़ बाज Girl
Claimed By :  social media
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.