वायरल वीडियो अल अक़्सा मस्जिद में जुमा की नमाज़ का मंज़र नहीं दिखाती

वायरल वीडियो बीते दिनों अल अक्सा मस्जिद में इज़रायली सुरक्षाबलों और फ़िलस्तीनी प्रदर्शनकारी के बीच हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में शेयर की जा रही है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो ख़ूब वायरल है. दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो यरूशलम (Jerusalem) में स्थित मुसलमानों की पवित्र मस्जिद अल अक्सा (Al Aqsa Mosque) में जुमा की नमाज़ का मंज़र दिखाती है. यूज़र्स इसे वास्तविक मानते हुए बड़े पैमाने पर शेयर कर रहे हैं.

बूम ने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है. असल में, यह वीडियो इराक़ी शहर क़र्बला में मुहर्रम के दौरान का है.

काले लिबास में दिख रही न्यूज़ीलैण्ड की प्रधानमंत्री की तस्वीर क्यों हुई वायरल?

वायरल वीडियो में इस्लामिक वास्तुकला में बने भवन के अंदर हजारों लोगों को प्रवेश करते हुए देखा जा सकता. अधिकतर लोगों ने काला लिबास पहना हुआ है.

बीते दिनों इज़रायल और फ़िलस्तीनी प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के दौरान इज़रायली सेना मस्जिद अल अक्सा परिसर में घुस गई थी. वहां फ़िलस्तीनी लोगों पर रबर बुलेट, आंसू गैस के गोले दागे गए थे. इस हिंसा में दर्ज़नों लोग घायल हो गए थे. वायरल वीडियो उसी पृष्ठभूमि में शेयर की जा रही है.

फ़ेसबुक पर पोस्ट किये गए इस वीडियो के कैप्शन में उर्दू में लिखा गया है, "अल-अक्सा मस्जिद में जुमे की नमाज़ का नज़ारा माफ़ी के साथ माशाअल्लाह कहते कोई नहीं मिला. अल-अक्सा मस्जिद में जुमे की नमाज का दृश्य."

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

प्रधानमंत्री बेरोज़गार भत्ता योजना 2021 का सच क्या है? फ़ैक्ट चेक

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल वीडियो के साथ किये जा रहे दावे की वास्तविकता जानने के लिए वीडियो को फ़्रेम में तोड़कर रिवर्स इमेज सर्च किया. हमने पाया कि असल वीडियो साल 2020 का है और यह मुहर्रम के दौरान इराक़ी शहर क़र्बला में आशूरा के शोक में इमाम हुसैन की दरगाह में लोगों को प्रवेश करते हुए दिखाता है.

यूट्यूब पर इराक़ी डिज़ाइनर नाम के चैनल द्वारा 31 अगस्त 2020 को अपलोड किये गए वीडियो में हूबहू वही दृश्य देखा जा सकता है. वीडियो के कैप्शन के अरबी अनुवाद में लिखा है, "इमाम हुसैन की दरगाह की ओर भागने का सबसे भयावह दृश्य देखें."

वीडियो के स्थान को "इमाम हुसैन की दरगाह" के रूप में टैग किया गया है.

इसके अलावा हमें फ़ेसबुक पर 31 अगस्त 2020 को शेयर किये गए एक पोस्ट में यह वीडियो मिला. पोस्ट में कहा गया है कि ये इमाम हुसैन की दरगाह में प्रवेश करने के दृश्य हैं. बता दें कि 2020 का आशूरा 29 अगस्त के दिन था. वीडियो शायद उसी समय लिया गया था.

बूम ने गूगल मैप्स पर पुष्टि की है कि यह इमाम हुसैन की दरगाह के प्रवेश द्वार की तस्वीर है. दरगाह के प्रांगण में कई प्रवेश द्वार हैं. कर्बला शहर में अली-अब्बास का मक़बरा इमाम हुसैन की कब्र के पास है.

गूगल स्ट्रीट व्यू पर, इमाम हुसैन की दरगाह से अली अब्बास के मक़बरे के सुनहरे गुंबद और दो मीनारों की एक झलक देखी जा सकती है, जो वायरल वीडियो में भी दिखाई दे रहा है.


क्या दिल्ली सरकार ने सिर्फ़ मुस्लिम डॉक्टर को ही एक करोड़ का मुआवज़ा दिया है?

Claim Review :   वायरल वीडियो मस्जिद अल अक़्सा में जुमा की नमाज़ का मंज़र
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story