क्यों ट्रेंड कर रहें हैं ट्विटर पर रणदीप हुड्डा?

रणदीप हुड्डा का एक वीडियो ट्विटर पर काफ़ी वायरल है. ऐसा क्या है इस वीडियो में और क्यों सोशल मीडिया पर हुड्डा की आलोचना हो रही है?

सोशल मीडिया पर इन दिनों बॉलीवुड अभिनेता रणदीप हुड्डा चर्चा में हैं या यूँ कहें आलोचना का केंद्र बने हुए हैं. हुड्डा अपने एक पुराने वीडियो को लेकर विवादों के घेरे में आ गए हैं.

25 मई, 2021 मंगलवार को एक ट्विटर यूज़र ने हुड्डा का एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें बॉलीवुड अभिनेता उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) पर एक 'सेक्सिस्ट जोक' सुनाते हैँ.

भ्रामक दावे से वायरल क़रीब 5 साल पुराने इस वीडियो की आखिर क्या सच्चाई है?

वीडियो में Randeep Hooda किसी शो के दौरान दर्शकों से भरे कमरे में बैठे हैं. "...आई विल टेल अ डर्टी जोक," हुड्डा कहते हैं. इसके बाद वो अपना चुटकुला सुनाते हैं और दर्शक ठहाके मारते हैं.

वीडियो शेयर करते हुए यूज़र @SrishtyRanjan ने लिखा हैं कि ऐसे कमैंट्स हमें समझाते हैं कि हमारा समाज कितना जातिवादी और सेक्सिस्ट है, ख़ासकर* दलित महिलाओं के प्रति.

अंग्रेज़ी में ट्वीट: "if this does not explain how casteist and sexist this society is, especially towards dalit women, i don't know what will. the "joke", the audacity, the crowd. randeep hooda, top bollywood actor talking about a dalit woman, who has been the voice of the oppressed."

वीडियो वायरल होने के बाद ट्विटर पर यूज़र्स #ArresteRandeepHooda और #ArrestRandeephooda ट्रेंड के साथ हुड्डा को गिरफ़्तार करने की मांग करने लगे.

'हाइवे,' 'मर्डर 3,' 'सरबजीत' और हाल में 'राधे' जैसी फ़िल्मों में काम कर चुके रणदीप का ये वीडियो कथित तौर पर वर्ष 2012 का है.

बीजेपी सांसद मेनका गांधी बताकर वायरल इस वीडियो की सच्चाई क्या है?

कई लोगों ने ट्विटर पर इस बात का आक्रोश जताते हुए पूछा है कि कोई चार दफ़ा मुख्यमंत्री रह चुकी महिला पर ऐसी बेहूदा टिप्पणी कैसे कर सकता है. दूसरी ओर कुछ लोगों ने कहा हैं कि वीडियो महिलाओं के लिए अपमानजनक है लेकिन जातिवादी नहीं. कुछ यूज़र्स ने हुड्डा को माफ़ी मांगने के लिए कहा हैं.

रणदीप हुड्डा ने अब तक इस बात पर कुछ नहीं कहा है.


UN ने एम्बेसडर पद से हटाया

हुड्डा के इस आपत्तिजनक बयान को गंभीरता से लेते हुए संयुक्त राष्ट्र (UN) ने उन्हें जंगली जानवरों के प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण (Conservation of Migratory Species of Wild Animals) के एम्बेसडर के पद से हटा दिया है.



बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की पुरानी तस्वीर ग़लत दावे के साथ वायरल

Show Full Article
Next Story