पाकिस्तान में लॉकडाउन उल्लंघन के सज़ा के वीडियो को उत्तर प्रदेश का बता कर किया गया वायरल

बूम की पड़ताल में सामने आया की वायरल वीडियो पाकिस्तान के मंशारा से है ना की भारत से

लॉकडाउन से जुड़ी सज़ा बताकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल हो रहा है | वायरल वीडियो में पुलिस द्वारा लोगों के एक समूह को मुर्गा बना कर एक पेड़ के इर्द-गिर्द घुमाते देखा जा सकता है | पोस्ट के साथ दावा किया गया है की वीडियो उत्तर प्रदेश से है और पेड़ के चक्कर काट रहे सभी लोगों को पुलिस ने सज़ा दी है | बूम ने पता लगाया की यही वीडियो अलग कैप्शंस के साथ कई पाकिस्तानी यूट्यूब चैनल्स पर मार्च 29 और अप्रैल 1 को अपलोड किया गया था |

वायरल हो रहे पोस्ट के कैप्शन में लिखा है: योगी जी का नया पोल्ट्री फार्म |

कोरोनावायरस के चलते कई देशों में लॉकडाउन मार्च महीने से ही लागू कर दिया गया था | लॉकडाउन में हुई कई समस्याओं में लोगों द्वारा उल्लंघन एक बड़ी समस्या के तौर पर सामने आया था और इससे पुलिस प्रशासन ने अलग-अलग तरीकों से निपटने का प्रयास किया | इन्ही तरीकों के चलते हाल में वायरल हुए वीडियो में पुलिस द्वारा लोगों के एक समूह को मुर्गा बना कर एक पेड़ के इर्द-गिर्द घुमाते देखा जा सकता है |इस पोस्ट को नीचे देखे और आर्काइव्ड वर्ज़न यहाँ देखिए |

क्या एक साधू ने कर दी पुलिस वाले की धुनाई?

हमें इस प्रकार के और कई पोस्ट्स मिले | इनमें से एक नीचे देखे और बाकी यहाँ, यहाँ और यहाँ देखिये |

ट्विटर पर भी वायरल वीडियो को झूठे दावों के साथ शेयर किया गया |


फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल वीडियो के की-फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिये चेक किया तो हमें पता चला की यह वीडियो पाकिस्तान के कई यूट्यूब चैनलों पर मार्च 29 और अप्रैल 1 को अपलोड हुआ है |

हमें उर्दू अपडेट्स नामक यूट्यूब चैनल का वीडियो मिला जिसे मार्च 28, 2020 को अपलोड किया गया था | इसमें वायरल हुए वीडियो की फ़ुटेज है और बताया गया है की यह वीडियो पाकिस्तान के मंशारा इलाके की पुलिस द्वारा लॉकडाउन तोड़ रहे लोगों को मुर्गा बनाते हुए दिखा रहा है |

नहीं, आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत ने नहीं कहा: "कोरोना ने तोड़ी मेरी धर्म में आस्था"

इस वीडियो को नीचे देखें |


हमने " मंशारा", " पुलिस" और " लॉकडाउन" जैसे शब्दों को कीवर्ड सर्च कर कई मीडिया रिपोर्ट्स को देखा |

हमारे सामने जिओ न्यूज़ नामक पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल की मार्च 29 की रिपोर्ट आयी जिसमें इस वीडियो को पाकिस्तान के मंशारा से होने की बात को दोहराया गया है | चैनल के एंकर ने बताया की वीडियो लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे 60 लोगों को है जिन्हे मंशारा पुलिस द्वारा थाने के सामने मुर्गा बनाकर चलाया जा रहा है | इस रिपोर्ट को यहाँ देखे |


बूम ने जब वाजिब कीवर्ड्स के साथ ट्विटर पर सर्च किया तो हमें मंशारा पुलिस को इसी वीडियो पर टैग किया गया एक ट्वीट मिला |

ट्विटर यूज़र ने उर्दू में लिखा है की 'ये तरीके अत्यधिक निंदनीय हैं। पुलिस को या तो जुर्माना लगाना चाहिए या ऐसे पुलिस वीडियो को अपलोड करना चाहिए।'

इसके जवाब में मंशारा पुलिस के ट्वीटर हैंडल से कहा गया है 'DIG हज़ारा और DPO मंशारा ने आलरेडी इस वाकिये को नोटिस में लिया है और आइंदा से किसी भी थाने में इस तरह की पनिशमेंट देने से बाज़ रहने को भी कहा है ...इन्क्वारी हो रही है जल्द आपको आगाह करेंगे |


Claim Review :  वायरल वीडियो दावा करता है की लॉक डाउन का उल्लंघन करते लोगो को उत्तर प्रदेश पुलिस ने मुर्गा बनाया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story