फलों पर पेंट स्प्रे करने का वीडियो भारत का नहीं बल्कि पाकिस्तान से है

वीडियो को एक झूठे दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि मुंबई के पास लोनावला में एक मुस्लिम वेंडर को पकड़ा गया है जो लीची पर पेंट स्प्रे कर रहा था।

अंगूर को आर्टिफिशिअल पेंट से स्प्रे करने वाले पाकिस्तानी फल विक्रेता का दो साल पुराना वीडियो एक बार फिर सोशल मीडिया पर ग़लत दावों के साथ वायरल हो रहा है। वीडियो के साथ ग़लत दावा किया जा रहा है कि यह मुंबई के पास लोनावाला की घटना है।

क्लिप भारत में सांप्रदायिक दावे के साथ वायरल हो रही है। वीडियो के साथ हिंदी में मैसेज दिया गया है, जिसमें लोगों से इस वीडियो को व्यापक रुप से शेयर करने का आग्रह किया गया है ताकि मुस्लिम विक्रेता की दुकान बंद की जा सके।

वायरल वीडियो एक लंबे विवरण का हिस्सा है, जहां भारत में मुसलमानों के आर्थिक बहिष्कार का आह्वान करते हुए इसी तरह के वीडियो शेयर किए गए हैं। पिछले महीने देश की राजधानी, दिल्ली में हिंसक दंगे हुए, जिसके बाद ही ऐसी प्रवृत्ति ने जोर पकड़ा है।

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस पर वायरल 'एडवाइज़री' यूनिसेफ़ ने जारी नहीं की है

मैसेज के साथ दिए गए कैप्शन में लिखा है, "लोनावला (मुंबई पुणे हाईवे पर) मे आजकल लिची खुब बिकने आई है। लिची को देखते ही मुह मे पाणी आ जाता है। खाने से पहले ईस विडीओ को देखो। और आगे इतना वायरल करो के इस मुस्लिम मुल्लेकी दुकान दारी पुरी पुरी बंद हो जाय।" (Sic)

वीडियो नीचे देखा जा सकता है और इसके आर्काइव्ड वर्शन के लिए यहां क्लिक करें।

वीडियो, फेसबुक पर कई प्रोफाइल द्वारा शेयर किया है। वीडियो में एक फल विक्रेता को अंगूर पर गहरे लाल रंग का पेंट स्प्रे करते हुए दिखाया गया है, क्योंकि लाल रंग के अंगूर की कीमत ज्यादा होती है। वीडियो में एक जगह यह कहते हुए सुना जा सकता है, "देखिए, हमें बेवकूफ बनाने के लिए कैसे इसे रंगा जा रहा है।" वह व्यक्ति फिर आगे बढ़ता है और फलों के पास रखे स्प्रे पेंट की कैन लेता है, और कहता है, "देखिए, यह कैंसर का कारण बनता है और हम इसका सेवन कर रहे हैं। क्या आप शर्मिंदा हैं? क्या आप अपने बच्चों को यही खिलाएंगे? क्या आपके पास विवेक है?"




यह भी पढ़ें: फ़र्ज़ी संदेशों का दावा - शाहीन बाग़ प्रदर्शनकारी कोरोनावायरस की चपेट में है

फ़ैक्टचेक

बूम ने वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट से रिवर्स इमेज सर्च किया और 2018 की कई न्यूज़ रिपोर्ट तक पहुंचे जहां यही वीडियो शेयर किया गया था। इन रिपोर्टों के अनुसार, घटना पाकिस्तान के मीरपुर के अफ़ज़लपुर गांव की है। एक ब्रिटिश पर्यटक लैला खान ने अपने चचेरे भाई के साथ वीडियो रिकॉर्ड किया था और इसे ऑनलाइन शेयर किया था। रिपोर्टों के अनुसार, स्थानीय फल बाजार से अंगूर का सेवन करने के बाद खान की चाची बीमार हो गई थीं और इसलिए वह अपने चचेरे भाई के साथ बाजार में चल रही गतिविधियों के बारे में पता लगाने की कोशिश की।

घटना पर ज्यादा जानकारी के लिए 9 और 10 सितंबर, 2018 को मेट्रो, डेली मेल और द सन द्वारा प्रकाशित लेख पढ़ें।


पत्रकार तनवीर मान ने 10 सितंबर, 2018 को अपनी कहानी के लिंक के साथ घटना के बारे में ट्वीट किया था।


Claim Review :   वीडियो दर्शाता है की लोनावला में एक फल विक्रेता लीचियों को रंग रहा है
Claimed By :  Facebook
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story