मुम्ब्रा में पुलिस लाठी चार्ज के वीडियो को इंदौर का बता कर किया गया वायरल

वायरल वीडियो में दावा किया गया है की इंदौर पुलिस ने 1 अप्रैल को डॉक्टर्स की टीम पर पथराव करने वालों की पिटाई की है | बूम ने पता लगाया की वीडियो मुम्ब्रा, थाणे से हैं ना की इंदौर से

पुलिस वालो द्वारा कुछ लोगों पर लाठी भांजने का एक वीडियो फ़ेक क्लेम के साथ काफ़ी वायरल हो रहा है | वीडियो में दावा किया गया है की इंदौर पुलिस ने डॉक्टरों की टीम पर पथराव करने वालों की पिटाई की है |

ज्ञात रहे की एक अप्रैल को इंदौर के टाट पट्टी इलाके में कुछ लोगों ने डॉक्टर्स के एक ग्रुप पर तब पथराव कर दिया था जब वो कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग के लिए वहाँ पहुंचे थे | वायरल हो रहे वीडियो को भी इसी घटना से जोड़ कर दिखाया जा रहा है | बूम ने पता लगाया की ये घटना मुम्ब्रा, थाणे से है ना की इंदौर से |

आपको बता दे की इंदौर के टाट पट्टी इलाके में एक अप्रैल को डॉक्टर्स की एक टीम पर वहाँ के बाशिंदो ने तब हमला कर दिया था जब वो वहाँ एक व्यक्ति के स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे थे | इस सिलसिले में पुलिस ने अब तक सात लोगों को गिरफ्तार किया है | इंदौर में पिछले कुछ दिनों में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या में काफ़ी बढ़ोतरी हुई है |

लगभग बीस सेकंड लम्बे इस वीडियो में कुछ पुलिस वाले दो लोगों को लाठियों से पीटते हुए नज़र आते हैं | वीडियो के साथ एक कैप्शन है 'मामा ऑन फ़ायर... इंदौर #एमपी वही मोहल्ला है जंहा डॉक्टरों पे हमला हुआ था |'

वायरल वीडियो नीचे देखें तथा आर्काइव्ड वर्शन यहां देखें



यही वीडियो कई फ़ेसबुक पेजेज़ और ट्विटर हैंडल्स से भी वायरल हो रहा है |



ये भी पढ़ें जी नहीं, ये मुस्लिम युवक 'बर्तन चाट कर' कोरोना वायरस नहीं फ़ैला रहें हैं


फ़ैक्ट चेक

बूम ने रिवर्स इमेज सर्च के सहारे इस तस्वीर के बारे में अधिक जानकारी इक्कट्ठा करने की कोशिश की | हमें यही वीडियो यूट्यूब पर भी मिला | वीडियो मार्च 28 को अपलोड किया गया था | हालांकि इस वीडियो में घटना के बारे में कुछ ख़ास जानकारी नहीं दी गयी थी सिवाय एक कैप्शन के जिसमे लिखा था 'दो ग्रुप्स की झड़प में पुलिस की लाठी से पिट गए तमाशा देखने वाले' |



इस वीडियो के साथ मुम्ब्रा पुलिस को भी हैशटैग किया गया है | अधिक जानकारी हासिल करने के लिए हमने मुम्ब्रा पुलिस से संपर्क किया जिसने हमें बताया की घटना वाकई वहीँ से है |

"घटना का लॉक डाउन से कोई संबंद्ध नहीं है | ये दो गुटों की आपसी झड़प का वीडियो है | पुलिस को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठी चार्ज का सहारा लेना पड़ा | घटना मुम्ब्रा के कौसा, श्रीलंका एरिया से है," पुलिस वाले ने हमें बताया |

इसके अलावा बूम ने मुम्ब्रा क्षेत्र के एक रिपोर्टर से भी संपर्क किया जिन्होंने हमें इस घटना से जुडी सारी जानकारियाँ दी | उन्होंने हमारे साथ एक यूट्यूब वीडियो भी शेयर किया जिसमे वायरल क्लिप का एक लंबा वर्शन मौजूद है |


ये भी पढ़ें मराठी अख़बार लोकमत ने कोविड-19 को बायोवेपन बताने वाले फ़र्ज़ी लेख को सही माना

वीडियो के हिसाब से ये घटना कौसा, श्रीलंका में 27 मार्च को घटित हुई थी | आपस में भिड़ते दिख रहे लोग असल में दो लोकल नेताओं के समर्थक हैं | जहां एक ग्रुप ने दावा किया की झगड़ा अवैध निर्माण की शिकायत करने के कारण हुआ है, वहीँ दूसरे ग्रुप ने कहा की झगड़े के पीछे कारण है लॉकडाउन के दौरान गरीबो को राशन देने के कारण पैदा हुई ईर्ष्या |

इस वीडियो में आप पुरे घटना को डिटेल में देख सकते हैं |

बूम ने इंदौर में डॉक्टर पर हुए पत्थरबाज़ी के वीडियो को भी करीब से देखा और पाया की दोनों घटनाए अलग-अलग जगह घटित हुई हैं |

Claim Review :  वीडियो में दावा किया गया है की इंदौर पुलिस ने उस मोहल्ले में, जहां डॉक्टर्स की टीम पर एक अप्रैल को पथराव हुआ था, जम कर लाठी चार्ज किया है
Claimed By :  सोशल मीडिया
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story