तारेक फ़तेह ने फ़र्ज़ी पोलियो वीडियो किया पोस्ट

फ़र्ज़ी वीडियो पोस्ट करने पर पाकिस्तानी अभिनेत्री महविश हयात ने ट्विटर इन्फ्लुएंसर तारेक फ़तेह की खिंचाई की

पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई ट्विटर इन्फ्लुएंसर, तारेक फ़तेह ने बुधवार को पाकिस्तानी फिल्म के एक दृश्य ट्वीट किया जिसमें टीके लगाने वाले स्वास्थ्य कर्मचारी को एक महिला घर में आने नहीं देती है। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि यह दृश्य किसी फिल्म से लिया गया था।

भारत में दक्षिणपंथियों के बीच ज्यादा लोकप्रियता रखने वाले तारेक फ़तेह ने 42 सेकेंड की क्लिप ट्वीट किया जिसमें एक महिला को स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ रूखे अंदाज़ से पेश आते हुए दिखाया गया है। ये स्वास्थ्य कर्मचारी घर-घर पोलियो वैक्सीन प्रशासन अभियान पर थे।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस की जीत में पाकिस्तान के झंडे को लहराने का दावा करता वीडियो हुआ फ़िर वायरल


पाकिस्तान दुनिया के उन तीन देशों में से एक है, जहां अभी भी पोलियो मौजूद है। पोलियो वैक्सीन के बारे में ग़लत सूचना, भय और संदेह के कारण पाकिस्तान अब भी इसके प्रसार को नियंत्रित करने के लिए संघर्ष कर रहा है। ग्लोबल पोलियो उन्मूलन पहल के अनुसार, 2019 में देश में कम से कम 136 मामले सामने आए। टीकाकरण ड्राइव के दौरान स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अस्पतालों पर नियमित हमलों की रिपोर्ट के साथ, पाकिस्तान ने वैक्सीन के ख़िलाफ उग्र प्रतिरोध देखा है।

यह भी पढ़ें: 'नेशन विद नमो' ने शेयर किया मुहर्रम का पुराना वीडियो, बिहार में सीएए विरोध का दावा

तारेक फ़तेह द्वारा ट्वीट की गई क्लिप में एक उत्तेजित महिला को दिखाया गया है| वह स्वास्थ्य कार्यकर्ता से बात करते हुए कह रही है कि वह अपने बच्चे को पोलियो ड्रॉप्स नहीं पिलाएगी। वह नाटकीय अंदाज में पंजाबी-हिंदी में बात करते हुए स्वास्थ्य कार्यकर्ता को कहती है, "यह बच्चों को दस्त देता है और इसे ठीक करने के लिए दवाइयाें वहन करने योग्य नहीं है।" जब स्वास्थ्य कार्यकर्ता उसे समझाने की कोशिश करता है, तो महिला कार्यकर्ता से कहती है कि "पोलियो वैक्सिन पर पैसे खर्च करने की बजाय वह घर में किराने का सामान भरे, जैसा कि इससे उन्हें कुछ मदद मिलेगी।"

फतह के ट्वीट के बाद वीडियो को फ़ेसबुक पर शेयर किया गया।


फ़ैक्ट चेक

फ़तेह ने वीडियो को ट्वीट करने के कुछ घंटों बाद, पाकिस्तानी अभिनेत्री मेहविश हयात ने उन्हें जवाब दिया कि वीडियो उनकी फिल्म "लोड वेडिंग" का एक दृश्य था।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी का दावा, 2014 से एनआरसी पर सरकार द्वारा कोई चर्चा नहीं की गई

हयात ने कहा कि वीडियो में दिखाई देने वाली पोलियो कार्यकर्ता वह हैं और मां की भूमिका निभाने वाली महिला एक अभिनेत्री है।

फिर हमने यूट्यूब पर उपलब्ध लोड वेडिंग मूवी के दृश्यों को देखा और 34.30 मिनट के काउंटर पर यही दृश्य पाया।

फतेह द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो के संवाद, सेटिंग, पात्र, फिल्म से मेल खाते हैं। फिल्म के अंत में दिए गए क्रेडिट में अभिनेत्री की पहचान 'साना बट' के रुप में की गई है। हमने फिल्म से वीडियो की तुलना फतेह द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो से की और कई समानताएं पाईं।


यह पहली बार नहीं है जब फतेह ने भ्रामक और फ़र्ज़ी पोस्ट ट्वीट किए हैं। बूम ने पहले फ़तेह के एक ट्वीट को ख़ारिज किया था जिसमें उन्होंने जम्मू-कश्मीर के बाल शोषण के एक वीडियो को पाकिस्तान का बताते हुए शेयर किया था।

हालांकि फ़तेह ने सवाल उठाए जाने के बाद ट्वीट हटा दिया है|

Claim :   पाकिस्तान में पोलियो पिलाने आये स्वास्थ कर्मियों को महिला घर में नहीं आने देती और मुँह पर दरवाज़ा बंद कर देती है
Claimed By :  Tarek Fateh and Facebook pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.