राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुराना वीडियो फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

बूम ने पाया कि वीडियो 2019 का है जब मुख्यमंत्री गहलोत डूंगरपुर दौरे के बीच गलियाकोट स्थित सैयदी फखरुद्दीन शहीद की मज़ार पर ज़ियारत के लिए गए थे।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की एक पुरानी वीडियो फ़र्ज़ी दावे के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। वीडियो क्लिप शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि अशोक गहलोत नमाज़ पढ़कर बाहर निकल रहे हैं जबकि उन्होंने दीवाली में पटाखों पर पाबंदी लगा रखी है।

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो क्लिप के साथ किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है। वीडियो 2019 का है जब मुख्यमंत्री गहलोत अपने डूंगरपुर ज़िले के दौरे के बीच गलियाकोट स्थित सैयदी फ़खरुद्दीन शहीद की मज़ार पर ज़ियारत के लिए गए थे।

49 सेकंड लंबे वीडियो में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सर पर टोपी लगाए एक मेहराब रुपी दरवाज़े से बाहर निकलते हुए देखा जा सकता है। उनके इर्दगिर्द प्रशासनिक अधिकारियों सहित मुस्लिम धर्मगुरुओं को देखा जा सकता है।

वायरल फ़ोटो में गुलनाज़ ख़ातून के लिए प्रदर्शन नहीं कर रहे तेजश्वी यादव

वीडियो क्लिप राजस्थान में दीवाली में पटाखों पर लगे बैन की पृष्ठभूमि में वायरल हो रही है। कुछ यूज़र कैप्शन में सवाल उठा रहे हैं कि गहलोत ने दीवाली में पटाखे क्यों बैन कर दिया।

फ़ेसबुक पर एक यूज़र ने वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा कि "राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नमाज पढ़ के बाहर निकले जब भी तो दीपावली पटाखे क्यों बंद कर रखा।" पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।


पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें।

वायरल पोस्ट फ़ेसबुक और ट्विटर पर बड़ी तादाद में वायरल है।

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें। अन्य पोस्ट यहां, यहां और यहां देखें।

नहीं, तस्वीर में दिख रहा युवक बिहार के गुलनाज़ ख़ातून केस का आरोपी नहीं है

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो के कीफ़्रेम को रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो फर्स्ट इंडिया न्यूज़ राजस्थान के यूट्यूब चैनल पर 28 जनवरी को अपलोड हुआ वीडियो मिला, जिसके डिस्क्रिप्शन में लिखा था, "अशोक गहलोत पहुंचे गलियाकोट, पीर फखरुद्दीन बाबा की दरगाह पर की जियारत।"

यूट्यूब वीडियो के कैप्शन से हिंट लेते हुए हमने गूगल पर खोज की तो कई समाचार रिपोर्ट मिले। डेलीहंट पर 28 जनवरी 2019 को पब्लिश एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने डूंगरपुर दौरे के दौरान गलियाकोट में स्थित प्राचीन शीतला मंदिर में दर्शन एवं पूजा-अर्चना तथा गलियाकोट दरगाह में जियारत कर प्रदेश की खुशहाली की कामना की।

इसके अलावा अशोक गहलोत की आधिकारिक वेबसाइट में भी मुख्यमंत्री की गलियाकोट दरगाह में ज़ियारत के बारे में जानकारी उपलब्ध है। वेबसाइट के अनुसार दरगाह पहुंचने पर मुख्यमंत्री का बोहरा समुदाय द्वारा स्वागत किया गया। इस दौरान उन्होंने दरगाह परिसर में निर्मित भवन का अवलोकन भी किया और श्रद्धालुओं से चर्चा की।

बूम को फ़ेसबुक पर हम 'डुँगरपुर वाले है॥' नाम के एक पेज पर 31 जनवरी 2019 को शेयर हुआ वही वीडियो मिला, जिसका कैप्शन "मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी.... गलियाकोट दरगाह।"

हवा साफ़ है या ख़राब बताने वाला एयर क्वालिटी इंडेक्स आख़िर है क्या?

Updated On: 2020-11-19T17:52:34+05:30
Claim Review :   राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नमाज़ियों के साथ नमाज पढ़ के बाहर निकले
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story