मृत महिला सिपाही की तस्वीर रेप और हत्या के फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

बूम को अमृतसर ग्रामीण पुलिस ने वायरल दावे को ख़ारिज करते हुए बताया कि महिला सिपाही की मौत सड़क दुर्घटना में हुई थी।

सड़क दुर्घटना में मृत पंजाब पुलिस की महिला सिपाही की तस्वीरों का एक सेट फ़र्जी दावे के साथ शेयर हो रहा है। वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि महिला सिपाही का बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी गयी है।

बूम ने अमृतसर ग्रामीण पुलिस से बात की, जिन्होंने वायरल दावे को ख़ारिज करते हुए बताया कि महिला सिपाही की मौत सड़क दुर्घटना में हुई थी।

यह तस्वीरें उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक 19 वर्षीय दलित लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले के बाद शेयर जा रही हैं। हाथरस सामूहिक बलात्कार मामला राष्ट्रीय सुर्ख़ियां में है |

वायरल तस्वीर में पुलिस वर्दी में एक महिला को ज़मीन पर अचेत अवस्था में पड़े हुए देखा जा सकता है। इसके अलावा एक तस्वीर में पंजाब पुलिस का आईडी कार्ड है, जिसमें महिला की पहचान कांस्टेबल नोमी के रूप में हुई।

उत्तर प्रदेश बीजेपी नेता की तस्वीर हाथरस गैंगरेप आरोपी का पिता बताकर वायरल

वायरल तस्वीरों में दावा किया जा रहा है कि उसके साथ बलात्कार किया गया और उसकी हत्या कर दी गई। कैप्शन में लिखा है, "पंजाब में पुलिस महिला कांस्टेबल की हत्या क्या पुलिस भी सुरक्षित नही है सिर्फ हाथरस पर राजनीति करेंगे । राजस्थान, छत्तीसगढ़ में आयेदिन बलात्कार की घटनाएं हो रही है ,बेटियां सुरक्षित नही है। क्या वो सभी इस देश की बेटियां नहीं है....?"


अंग्रेजी में कैप्शन का हिंदी अनुवाद है: "पंजाब पुलिस @ नोमी (क्रिश्चियन गर्ल) अमृतसर में बलात्कार और हत्या। दुख की बात है कि भारतीय समाचार पत्र, पत्रकार, सोशल मीडिया इस पर चुप हैं।"


आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

ट्विटर पर वायरल

हमें ऐसे ट्वीट्स मिले जिनमें उसी वायरल तस्वीरों को झूठे दावे के साथ शेयर किया गया था।


आर्काइव वर्ज़न यहां देखें |


पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

तालियों और फूलों से सम्मानित यह महिला हाथरस गैंगरेप पीड़िता नहीं है

फ़ैक्ट चेक

हमने वायरल दावे की हक़ीक़त जानने के लिए 'पंजाब पुलिस' 'महिला कांस्टेबल', 'पंजाब पुलिस महिला कांस्टेबल रोड एक्सीडेंट' जैसे कुछ कीवर्ड के साथ गूगल सर्च किया तो हमें इस घटना से जुड़ी कई मीडिया रिपोर्ट्स मिली। रिपोर्ट के मुताबिक़ एक अक्टूबर 2020 को पंजाब के संगतपुरा के पास एक तेज़ रफ़्तार एसयूवी ने उसके स्कूटी को टक्कर मार दी, जिससे महिला कांस्टेबल नोमी की मौत हो गयी।

वायरल तस्वीरों में महिला के पास मिले आईडी कार्ड पर छपे नाम का मिलान मीडिया रिपोर्ट के साथ करने पर हमने पाया कि महिला पंजाब पुलिस में कांस्टेबल नोमी ही है।

पंजाब केसरी में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़, कांस्टेबल नोमी अपनी एक्टिवा स्कूटी से अमृतसर पुलिस लाइन ड्यूटी पर जा रही थी। तभी रास्ते में गांव मज्जुपुरा के पास पीछे से आ रही स्कॉर्पियो गाड़ी ने उसे टक्कर मार दी, टक्कर इतनी ज़ोर था कि महिला कांस्टेबल की मौक़े पर ही मौत हो गयी। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर आगे की कार्यवाई शुरू कर दी है। आरोपियों का पता लगाया जा रहा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार महिला कांस्टेबल का शव पोस्टमॉर्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया गया, जिसके बाद एक अक्टूबर, 2020 को शाम को सरकारी सम्मान के साथ कांस्टेबल का अंतिम संस्कार उसके गांव काला अफगाना में कर दिया गया।


बूम ने अमृतसर ग्रामीण पुलिस से संपर्क किया, जिन्होंने पुष्टि की कि वायरल तस्वीरों में दिख रही महिला कांस्टेबल नोमी है। पुलिस ने वायरल दावे को खारिज कर दिया कि उसके साथ बलात्कार हुआ था। पुलिस ने बताया कि यह एक सड़क दुर्घटना का मामला था।

अजनाला के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) विपन कुमार ने बूम को बताया, "नहीं, कोई बलात्कार नहीं हुआ है, यह एक सड़क दुर्घटना का मामला है। एक अक्टूबर, 2020 को सुबह लगभग 7.30 बजे एक स्कॉर्पियो ने उनकी स्कूटी को टक्कर मार दी थी। वह सुबह अपनी ड्यूटी के लिए जा रही थी और सड़क दुर्घटना में मौक़े पर उनकी मौत हो गयी।"

कुमार ने कहा, "मामले की जांच चल रही है, हमने गाड़ी बरामद कर ली है, लेकिन चालक अभी भी फ़रार है और हम आरोपियों की तलाश कर रहे हैं।"

कैलिफ़ोर्निया में स्थित एक सुरंग की तस्वीर अटल टनल के नाम पर हुई वायरल

Claim Review :   तस्वीर में दिख रही महिला कांस्टेबल की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गयी
Claimed By :  Facebook Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story