तेंदुए और गाय की यह तस्वीर असम से नहीं गुजरात से है

बूम ने पाया की यह घटना करीब 18 साल पुरानी है और गुजरात के एक गांव की है |

कुछ दिनों से फ़ेसबुक पर तेंदुए और गाय की एक तस्वीर फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल हो रही है | इस तस्वीर में गाय और तेंदुआ एक साथ दिख रहे हैं | तेंदुआ अपने बर्ताव के विपरीत गाय के साथ बैठा देखा जा सकता है | वह गाय को कोई तकलीफ़ नहीं पंहुचा रहा है |

जबकि यह तस्वीर वास्तविक ही है, इसके साथ किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है | दावे में कहा जा रहा है की यह तस्वीर असम में ली गयी है और यह भी बताया जा रहा है की गाय ने तेंदुए को, जब वह छोटा था, अपना दूध पिलाया था |

बूम ने पाया की तस्वीर 2002 में गुजरात के अंतोली गांव में ली गयी थी | रिपोर्ट्स की माने तो तेंदुए और गाय में स्नेहपूर्ण रिश्ता था जिससे तेंदुए ने गाय या गाय के आसपास किसी अन्य जानवर को कोई तकलीफ़ नहीं पहुंचाई |

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश की सड़कों पर घूम रहे हैं बाघ? पुरानी तस्वीरों को नया बता कर किया शेयर

इस तस्वीर के साथ अंग्रेजी में कैप्शन लिखा है जिसका हिंदी अनुवाद कुछ यूँ है: "असम में एक व्यक्ति ने गाय खरीदी | कई रातें वह कुत्तों के भौकने की आवाज़ सुनता रहा | एक दिन उसने सीसीटीवी कैमरा लगवाया | वह यह देखकर हैरान था की रोज़ रात में एक तेंदुआ गाय के पास आकर बैठता है | उसने गाय के पुराने मालिक से पूछा और पाया की इस तेंदुए की माँ इसके 20 दिन के होते ही मर गयी थी | इस गाय ने उसे अपना दूध पिलाकर जान बचाई | जब तेंदुआ बड़ा हुआ, उसे जंगल में छोड़ दिया गया | पर वयस्क तेंदुआ अब भी गाँव में इस गाय के पास रोज़ रात में आता है जिसे वह अपनी माँ मानता है |"

(वास्तविक कैप्शन: In Assam a person bought a cow. During night he heard the dogs barking, it happened for successive nights; so he got CCTV installed. He was surprised to see that a leopard visited every night and sat near the cow. On inquiring from the previous owner, he got to know that the mother of this leopard was killed when the cub was only 20 days old. The cow fed him her milk and saved his life. The cub was left off in the jungle as it grew up. But, the fully grown leopard comes every night and still spends time with the cow, whom it considers as his mother.)

कुछ पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ, यहाँ और यहाँ देखें | यही तस्वीर ट्विटर पर भी तेजी से वायरल हो रही है वो भी इन्ही दावों के साथ | जन्मजीत शंकर सिन्हा नामक एक ट्विटर यूज़र के ट्वीट को करीब 7,500 बार रीट्वीट किया गया है |

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री ओमर अब्दुल्लाह ने भी सिन्हा की पोस्ट को कोट ट्वीट किया है | आर्काइव्ड वर्शन यहाँ देखें |



यह तस्वीर पिछले महीनों में भी वायरल रह चुकी है |

यह भी पढ़ें: फ़र्ज़ी: कोविड-19 के पहले मरीज़ ने बनाया था चमगादड़ के साथ शारीरिक संबंध

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया और ऑनलाइन पोर्टल ऑनफारेस्ट.कॉम पर 6 अप्रैल 2014 का एक लेख पाया | इस लेख की हैडिंग थी: "स्ट्रेंजर देन फिक्शन- अ लेपर्ड और मदरली काऊ" |

इस रिपोर्ट में घटना की तस्वीरें और तेंदुए और गाय के स्केच थे | इस लेख में बताया गया है की घटना गुजरात के वड़ोदरा जिले के अंतोली गांव की है |


बूम ने गूगल पर कीवर्ड्स खोज की तो कई प्रमाण पाए की यह घटना गुजरात की है | हमें इंडियन फारेस्ट सर्विस के अधिकारी सुसांता नंदा का एक ट्वीट मिला | इस ट्वीट में उन्होंने यही तस्वीर पोस्ट कर इसके गुजरात के होने का दावा 6 मई 2020 को किया था |

हिंदी दैनिक अखबार पत्रिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, "बता दें ये तस्वीर वडोदरा के अंतोली गांव की है और ये साल 2002 में पहली बार सामने आई थी। एक रिपोर्ट के मुताबिक तस्वीर में दिख रहा तेंदुआ रोज रात को गाय से मिलने के लिए आता था। वो गाय के पास आकर बैठते ही गाय उसकी गर्दन को चाटती थी जैसे की मानी वी उसकी की बच्चा हो।"

यह भी पढ़ें: ये 'अजीब जानवर' नहीं, इटालियन आर्टिस्ट द्वारा बनाये गए सिलिकॉन डॉल्स हैं

हमें ज़ी न्यूज़ की पूर्व पत्रकार ऋचा अनिरुद्ध के एक शो का वीडियो मिला जिसमें ज़ी न्यूज़ के रिपोर्टर यूनुस सईद की एक रिपोर्ट है | ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक गाय अर्जुन सोलंकी की है जो गुजरात के वडोडरा जिले में अंतोली गांव के निवासी हैं | उन्होंने ज़ी न्यूज़ को बताया था की एक रात उन्होंने जब तेंदुए को गाय के पास देखा तो वह चौंक गए | उन्होंने देखा की तेंदुआ उनकी गाय के साथ खेलता था |

ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट में यह भी बताया गया है की वह रात-रात भर गाय के पास रहता था |

ऐसे ही कुछ और रिपोर्ट्स हैं जो इस बात की पुष्टि करती हैं की घटना 18 साल पुरानी है और गुजरात से है | यहाँ पढ़ें |

Updated On: 2020-07-16T14:16:19+05:30
Claim Review :   तेंदुए और गाय की यह तस्वीर असम में ली गई है ।
Claimed By :  Facebook posts and Twitter handles
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story