मध्य प्रदेश की सड़कों पर घूम रहे हैं बाघ? पुरानी तस्वीरों को नया बता कर किया शेयर

बूम ने माधव नेशनल पार्क के रेंज अधिकारी एलपी आर्य से संपर्क किया, जिन्होंने अफ़वाहों को ख़ारिज किया है

शिकार की खोज में बाघ और तेंदुए की कई असंबंधित तस्वीरों का एक सेट सोशल मीडिया पर वायरल है । तस्वीरों के साथ फ़र्ज़ी दावा किया जा रहा है कि जानवरों को मध्य प्रदेश के शिवपुरी में राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र के पास देखा गया था ।

इन पोस्टों में रात के समय एक बाघ को सड़क पार करते हुए दिखाया गया है और दूसरे पोस्ट में एक बाघ को गाय को भगाते हुए देखा जा सकता है ।

अन्य तस्वीर तेंदुए की है, जिसे पास के पेड़ से खींचा गया है । तेंदुआ जमीन पर पड़ी मोटरबाइक के बीच बैठा है । अगली तस्वीर में, पुरुषों को एक पेड़ पर आश्रय लेते हुए देखा जा सकता है । शायद वे तेंदुए से ख़ुद को बचा रहे थे।

वायरल पोस्ट के साथ टेक्स्ट में लिखा है, “शिवपुरी कोई भी बाइक से न जाए अभी नेशनल पार्क से छूटे दो शेर आने जाने वालों को किया जख़्मी 3 लोगों को मारा ।”

फ़ेसबुक पर ये पोस्ट इसी कैप्शन के साथ वायरल हो रहे हैं ।

माधव नेश्नल पार्क ग्वालियर के पास शिवपुरी जिले में स्थित है । यह पार्क अन्य स्तनधारियों के अलावा, अपने भारतीय तेंदुओं के लिए जाना जाता है ।

फ़ैक्ट चेक

बूम ने सभी तस्वीरों पर एक रिवर्स इमेज सर्च चलाया और पाया कि वे पुराने और असंबंधित हैं । हमने माधव नेश्नल पार्क के रेंज अधिकारी, एलपी आर्य से संपर्क किया ताकि पता चल सके कि हाल ही में परिसर से बाघ के भागने की घटना हुई है या नहीं । उन्होंने कहा, “नेश्नल पार्क में कोई बाघ नहीं है । तेंदुए हैं, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है ।”

इमेज 1

अपने शिकार को मार कर खाने वाले बाघ की तस्वीर, मूल रूप से मध्य प्रदेश के शाजापुर की है । जनवरी 2016 को यह हिंदुस्तान टाइम्स की एक समाचार रिपोर्ट में था, जिसकी हैडलाइन थी, “एनिमल दैड किल्ड इन एमपी शाजापुर डिस्ट्रिक्ट वाज टाइगर ।”

इमेज 2

दूसरी तस्वीर में एक बाघ सड़क पार कर रहा है और बैकग्राउंड से गाड़ी की हेड लाइट की रोशनी दिखाई दे रही है । मूल रूप से तस्वीर महाराष्ट्र के ताडोबा की है । पिछले साल फरवरी में मोटरेबल रोड पर बाघ के चलने वाली दो अन्य तस्वीरों के साथ यह ट्वीट किया गया था ।



इमेज 3 और 4

मोटरबाइकों के बीच एक कंक्रीट सड़क पर बैठे एक तेंदुए की तस्वीरें, महाराष्ट्र के चिपलून जिले की हैं । क्षेत्र के गने खड़पोली गांव में पिछले साल दिसंबर में एक तेंदुआ भाग गया था । इसने इलाके के लोगों में दहशत पैदा कर दी थी । तेंदुए द्वारा हमले में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे ।

सकाल पर भी यही सूचना दी गई थी । इसी कहानी के साथ इन तस्वीरों को ट्वीट किया गया था ।



Show Full Article
Next Story