भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले का पुराना वीडियो सांप्रदायिक दावे के साथ वायरल

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो वर्ष 2017 से है और दार्जीलिंग में घटित एक घटना से सम्बन्ध रखता है

"देख लो भारत के पश्चिम बंगाल में हिन्दुओ की स्थिति । वहाँ के रोहिंग्या अपनी बस्ती में वो किसी हिन्दू को फटकने भी नही देते हैं" कैप्शन के साथ वायरल इस वीडियो में किया गया दावा सरासर गलत है |

वायरल वीडियो में लोगों का एक समूह कुर्ता-पायजामा पहने कुछ लोगों की बुरी तरह से पिटाई कर रहे हैं | मार खा रहे लोगों ने गले में भगवा कपड़ा भी डाल रखा है |

इस वायरल पोस्ट के साथ दावा किया गया है कि 'देख लो भारत के पश्चिम बंगाल में हिन्दुओ की स्थिति । वहाँ के रोहिंग्या अपनी बस्ती में वो किसी हिन्दू को फटकने भी नही देते हैं ओर ना ही प्रचार करने देते। इसलिए NRC जरूर है और इन किरायेदारों को बाहर निकलना जरूरी है' |

आपको बता दें कि ये दावा गलत है और वीडियो लगभग तीन साल पुराना है |

नहीं, यह वायरल तस्वीर वर्तमान किसान आंदोलन से सम्बंधित नहीं है

बूम ने पता लगाया कि वायरल वीडियो वर्ष 2017 के गोरखालैंड प्रोटेस्ट्स (Gorkhaland Protests) से है जब लोगों ने भारतीय जनता पार्टी के नेता दिलीप घोष (Dilip Ghosh) का विरोध किया था |

वायरल वीडियो नीचे देखें और आर्काइव्ड वर्ज़न यहां |



ये वीडियो कई फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल्स से वायरल है |


फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो को ध्यान से देखा तो एक पॉइंट पर हमने किसी को कहते सुना 'क्या समझ रखा है तुम लोग गोरखा को' | इससे संकेत लेते हुए हमने इंटरनेट पर 'गोरखा' 'भारतीय जनता पार्टी नेता' कीवर्ड्स के साथ सर्च किया तो हमें कई रिपोर्ट्स मिलें जिसमें 2017 की इस घटना के बारे में लिखा गया था |

हमें कई रिपोर्ट्स में इसी वीडियो के स्क्रीनशॉट्स देखने को मिले | रिपोर्ट्स यहां और यहां पढ़ें |

न्यूज़ रिपोर्ट्स के मुताबिक भाजपा के बंगाल प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और उनके समर्थकों पर लोगों ने अक्टूबर 5, 2017 में तब हमला बोल दिया था जब वो वहाँ एक रैली सम्बोद्धित करने गए थे | पत्रिका में छपे अक्टूबर 6, 2017 के एक रिपोर्ट के अनुसार 'दिलीप घोष तथा अन्य पार्टी समर्थकों पर दार्जीलिंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा से निकाले गए विनय तमांग के समर्थकों ने हमला किया था |

हमें इसी घटना के वीडियोस यूट्यूब पर भी मिलें |

हिन्दुओं पर टिप्पणी करने पर कांग्रेस नेता फूल सिंह की लोगों ने पिटाई कर दी?

प्रतिदिन टाइम्स (Pratidin Times) में अक्टूबर 6, 2017 को अपलोड किये गए वीडियो में हमें इसी क्लिप का एक लम्बा वर्ज़न देखने को मिला |

न्यूज़ एक्सप्रेस (News Express) यूट्यूब चैनल पर भी हमें यही वीडियो अक्टूबर 6, 2017 को अपलोड किया गया मिला |

नहीं, बेंगलुरु के किसानों ने यह सुपरमार्केट नहीं खोला है

Claim Review :   देख लो भारत के पश्चिम बंगाल में हिन्दुओ की स्थिति । वहाँ के रोहिंग्या अपनी बस्ती में वो किसी हिन्दू को फटकने भी नही देते हैं ओर ना ही प्रचार करने देते।
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story