अमेज़न प्राइम के फ़र्ज़ी अकाउंट ने स्वरा भास्कर को बनाया निशाना

बूम ने पाया की अब ससपेंड हो चूका यह हैंडल 'पैरोडी' हैंडल था |

हाल ही में अमेज़न प्राइम के नाम पर बने एक फ़र्ज़ी ट्विटर अकाउंट से किये गए ट्वीट में दावा किया गया की यदि उसे 5000 रिट्वीटस मिलें तो ओ.टी.टी प्लेटफार्म से स्वरा भास्कर अभिनीत वेबसीरीज रसभरी को हटा दिया जाएगा | जबकि कई ट्विटर यूज़र्स ने इसे सच माना और रीट्वीट किया, राजनैतिक तौर पर मुखर अभिनेत्री के विरोधियों ने भी जोर शोर से इसे शेयर किया |

इस अकाउंट के ससपेंड होने तक ट्वीट को 6,800 रिट्वीटस और 4,800 मिल चुके थे | कई यूज़र्स ने इसे अमेज़न प्राइम का वास्तविक हैंडल समझ, ट्वीट को सच मान लिया | रसभरी एक कॉमेडी-ड्रामा वेबसीरीज है जो अमेज़न प्राइम पर हाल में रिलीज़ हुई है | इसमें स्वरा भास्कर एक शिक्षिका के रूप में नज़र आयी हैं | इस सीरीज की कहानी एक शिक्षक और छात्र के इर्द-गिर्द घूमती है |

व्हाट्सएप्प पर अमेज़न ग्रेट इंडिया सेल से सम्बंधित फ़र्ज़ी लिंक हो रहे हैं वायरल

ट्वीट अंग्रेजी में है जिसका हिंदी अनुवाद है: "5,000 रिट्वीटस दीजिये और हम अमेज़न प्राइम से #रसभरी डिलीट कर देंगे (IMDb पर बहुत कम रेटिंग के कारण)"


आर्काइव यहाँ देखें |

ट्विटर पर फ़र्ज़ी हैंडल्स 'पैरोडी' डिस्क्लेमर का भरपूर गलत फायदा उठाते हैं ताकि ट्विटर द्वारा सस्पेंशन से बच सकें | यह झूठ और फ़र्ज़ी न्यूज़ का एक बहुत बड़ा सोर्स हैं | हाल में बूम ने एक फ़र्ज़ी ट्विटर हैंडल का भंडाफोड़ किया था जो अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह के नाम पर फ़र्ज़ी ट्वीट्स कर रहा था और सीबीआई जांच की मांग कर रहा था | इस हैंडल के शिकार कई न्यूज़ आउटलेट्स हो गये थे | इसमें आई.ए.एंन.एस और जागरण शामिल हैं |

सुशांत सिंह राजपूत: आई.ए.एन.एस, जागरण सीबीआई जाँच की मांग करने वाले फ़र्ज़ी एकाउंट के झांसे में आए

पैरोडी को किया गया रीट्वीट






इन ट्वीट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहाँ, यहाँ और यहाँ देखें |

अमेज़न प्राइम का फ़र्ज़ी अकाउंट

इस हैंडल की प्रोफ़ाइल को जांचने पर पता चला की यह एक पैरोडी अकाउंट है | इसे ट्विटर द्वारा सत्यापित भी नहीं किया गया है | ससपेंड होने से पहले इस हैंडल ने 13 ट्वीट किये थे और इसके 308 फॉलोवर्स थे |


आर्काइव यहाँ देखें |

इसके अलावा, अमेज़न का वास्तविक आधिकारिक हैंडल "@PrimeVideoIN" है जबकि इस पैरोडी हैंडल का नाम "@PrimeVideo_in" है |


आर्काइव यहाँ देखें |

रसभरी की IMDb - जो एक ऑनलाइन मूवीज का डेटाबेस है - रेटिंग 2.4/10 है |

स्वरा भास्कर पहले भी फ़ेक न्यूज़ का शिकार रह चुकी है और वैचारिक तौर पर राइट-विंग यूज़र्स द्वारा राजनैतिक मुद्दों पर असहमति के चलते उन्हें ट्रोल भी किया है |

बूम ने एक फ़र्ज़ी बयान जो भास्कर के हवाले से वायरल था, को खारिज किया था | अमेज़न इंडिया के प्रवक्ता ने कोई बयान देने से इंकार कर दिया | बाद में फ़र्ज़ी हैंडल ससपेंड कर दिया गया |


अमेज़न प्राइम के नाम पर हाल में एक और फ़र्ज़ी न्यूज़ वायरल हुई थी की इस प्लेटफ़ॉर्म पर से सुशांत सिंह राजपूत की फ़िल्म "MS Dhoni: The Untold Story" हटा दी गयी है |

Claim Review :   अमेज़न प्राइम इंडिया का ट्वीट दावा करता है कि स्वरा भास्कर की रसभरी हटा दी जाएगी यदि 5,000 रिट्वीट मिले ।
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story