पाक नेटिज़ेंस का फ़र्ज़ी दावा: सिख सैनिक भारतीय सेना छोड़ रहे हैं

ट्विटर और फ़ेसबुक पर दावा किया जा रहा है कि 21 सिख रेजिमेंट के सैनिकों ने इस्तीफ़ा दिया है |

पाकिस्तान से कई ट्विटर एकाउंट्स ने एक फ़र्ज़ी दावा ट्वीट किया है कि भारतीय सेना के 21 सिख रेजिमेंट से कई सैनिकों ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है |

ट्वीट में भ्रामक रूप से 'ब्रेकिंग न्यूज़' और 'बिग न्यूज़' जैसे हैशटैग का इस्तेमाल हुआ है ताकि खबर वर्तमान की लगे | दावे में यह भी कहा है कि करीब 300 सिख सैनिकों ने इस्तीफ़ा दे दिया है |

बूम ने सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद से संपर्क किया जिन्होंने इन ट्वीट्स का खंडन करते हुए ख़बरों को निराधार बताया है |

राजनाथ सिंह का 7 साल पुराना वीडियो वर्तमान किसान आंदोलन से जोड़ा गया

दिल्ली पुलिस ने किया अरविन्द केजरीवाल को नज़रबंद: आम आदमी पार्टी

ऐसे ही एक ट्विटर हैंडल #TeamPakistanZindabad @TeamPZBofficial ने एक वीडियो शेयर किया | यह वीडियो एक आम नागरिक का है जो आर्मी अफसर बनकर अलग सिख देश (ख़ालिस्तान) बनाने की मांग करता है | इसे पहले खारिज किया जा चूका है |

नीचे पोस्ट देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां और यहां उपलब्ध हैं |


एक अन्य पाकिस्तानी हैंडल ने झूठा दावा किया कि आंदोलन में शामिल होने के लिए 13,000 सिख सैनिकों ने इस्तीफ़ा दे दिया है। इसके बायो के अनुसार यह हैंडल @TeamPZBofficial का 'डिप्टी हेड' है, जिसने उपरोक्त ट्वीट में यही फ़र्ज़ी खबर ट्वीट की थी । यहाँ ट्वीट का आर्काइव देखें |


यही ख़बर फ़ेसबुक पर भी एक यूज़र ने शेयर की है |


फ़ैक्ट चेक

बूम ने भारतीय सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद से संपर्क किया | उन्होंने वायरल ख़बर का खंडन किया और ट्वीट एवं फ़ेसबुक पोस्ट को 'फ़र्ज़ी और निराधार' करार दिया। सिख रेजिमेंट भारतीय सेना की एक पैदल सेना रेजिमेंट है।

इसके अतिरिक्त, हमने सम्बंधित कीवर्ड का उपयोग करके हाल की समाचार रिपोर्टों की तलाश की, लेकिन प्रदर्शनकारी किसानों को सिख सैनिकों के समर्थन और उनके इस्तीफ़े से जुड़ी कोई खबर हमें नहीं मिली |

इसी वायरल टेक्स्ट का एक हिस्सा "21 सिख रेजिमेंट ने भारत के लिए लड़ने से इनकार कर दिया" मार्च 2019 में एक रिपब्लिक टीवी ग्राफिक पर फ़र्ज़ी तरीके से जोड़ा गया था | पाकिस्तानी समाचार चैनल, अबतक ने रिपब्लिक टीवी के मॉर्फ्ड ग्राफिक का इस्तेमाल अपने बुलेटिन में 'भारत के लिए लड़ने से इनकार करने वाले सिखों' कथन का समर्थन करने के लिए किया । यहाँ और पढ़ें |

क्या ऋतिक रोशन किसान आंदोलन में समर्थन देने पहुंचे हैं?

इसके अतिरिक्त, टीम पाकिस्तान जिंदाबाद द्वारा ट्वीट किया गया वायरल वीडियो जून, 2019 में बूम ने ख़ारिज़ किया था |

बूम ने पाया था कि उस शख्स ने फ़र्ज़ी तरीके से भारतीय सेना का एक सैनिक बनकर सिखों के लिए एक अलग राज्य बनाने की मांग की थी। एक पोस्ट में, एडिशनल डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ पब्लिक इनफार्मेशन (ADGPI), भारतीय सेना, के आधिकारिक फ़ेसबुक पेज ने वीडियो को फ़र्ज़ी बताया और उल्लेख किया कि भारतीय सेना की लड़ाकू वर्दी पहनने वाला व्यक्ति 'गलत सूचना फैलाने का प्रयास कर रहा था।'



Claim Review :   भारतीय सेना के 21 सिख रेजिमेंट में सैनिकों ने किसान आंदोलन के समर्थन में दिया इस्तीफ़ा
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story