अमित शाह ने सुशांत सिंह ख़ुदकुशी मामले में सीबीआई जांच के निर्देश नहीं दिए हैं

बूम ने पाया की वायरल लेटर दरअसल सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले में सीबीआई जांच की मांग को लेकर है

फ़ेसबुक पर वायरल दावे की गृह मंत्री अमित शाह ने सुशांत सिंह राजपूत ख़ुदकुशी मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिया हैं, झूठ हैं |

पोस्ट में जो लेटर है वह दरअसल भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए है जिसमें उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की है | इस पोस्ट में अमित शाह और सुशांत सिंह राजपूत की तस्वीर भी है |

इंटरनेट यूज़र्स ने स्वामी के लेटर को अमित शाह की सी.बी.आई जांच के लिए हाँ के रूप में वायरल कर दिया | राजपूत अपने बांद्रा, मुंबई, वाले घर में 14 जून की दोपहर मृत पाए गए थे | नेटिज़ेंस ने बॉलीवुड पर नेपोटिस्म यानी भाई-भतीजावाद का आरोप लगाया और राजपूत की मौत का जिम्मेदार ठहराया | हालांकि पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट में मौत की वजह फांसी के कारण दम घुटने को बताया गया है | मुंबई पुलिस इस मामले की जांच कर रही है |

सुशांत सिंह राजपूत: आई.ए.एन.एस, जागरण सीबीआई जाँच की मांग करने वाले फ़र्ज़ी एकाउंट के झांसे में आए

यह दावे तरह तरह से वायरल हो रहे हैं की अमित शाह ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं | हिंदी फ़ेसबुक सर्किल हो या बांग्ला | हर जगह यह दावे जोर शोर से शेयर किए गए हैं |

हिंदी में दावा है: 'अब चलेगा अमित शाह का डंडा सबसे पहले होंगे रिया और संदीप गिरफ्तार' |

यह भी पढ़ें: आजतक और इंडिया.कॉम ने 'फ़र्ज़ी' ट्वीट्स को सुशांत सिंह राजपूत के आखिरी ट्वीट्स बताए

फ़ैक्ट चेक

हमें ऐसी कोई भी विश्वसनीय न्यूज़ रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें गृह मंत्री अमित शाह द्वारा सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के मामले में सीबीआई जांच के आदेश हों |

बूम इस बात की पुष्टि करने में सक्षम था की वायरल दावों के साथ जिस लेटर की तस्वीर है वह दरअसल सुब्रमण्यम स्वामी का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेटर है | इसमें उन्होंने प्रधानमंत्री से राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई जांच की है |

15 जुलाई को वकील ईशकरण भंडारी ने यह लेटर एक यूट्यूब लिंक के साथ ट्वीट किया | सुब्रमण्यम स्वामी ने यूट्यूब लाइव में भी इस मामले पर चर्चा की है | वीडियो में स्वामी ने यह भी कहा है की राजपूत बहुत जल्दी चले गए |

दोनों लेटर्स (वायरल लेटर और सुब्रमण्यम स्वामी के लेटर) की तुलना नीचे देख सकते हैं |


स्वामी ने वकील ईशकरण सिंह भंडारी को अभिनेता की मृत्यु के बारे में अधिक जानकारी निकालने के लिए नियुक्त किया है | ए.बी.पी न्यूज़ ने रिपोर्ट में बताया की वकील ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को सुशांत के घर को 'सील' और 'प्रीसर्व' करने के लिए लेटर भेजा है | स्वामी ने 11 जुलाई को ईशकरण को कमिश्नर से ऐसा करवाने के लिए लेटर भेजा था |

अमित शाह की मंजूरी का लेटर

जन अधिकार पार्टी के सदस्य पप्पू यादव ने अमित शाह से इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी | इसके चलते अमित शाह ने उन्हें लेटर प्राप्ति की सूचना देते हुए लेटर भेजा | यादव ने यह 14 जुलाई को ट्वीट किया था |

मिड-डे से बात करते हुए महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, "मेरे पास ट्वीट्स हैं और कैंपेन है पर मुझे नहीं लगता की सीबीआई जांच की जरुरत है | मुंबई पुलिस ऐसे मामले संभालने में माहिर हैं और इस घटना से जुड़े हर पहलु पर जांच कर रही हैं जिसमें प्रोफेशनल राइवलरी भी शामिल है | अब तक हमें किसी भी तरह का धोखा या बेईमानी नज़र नहीं आयी है | जांच का विवरण उसके ख़त्म होने पर शेयर किया जाएगा |"

मुंबई पुलिस ने अब तक 34 लोगों के बयान दर्ज किए हैं |

सुशांत सिंह राजपूत के मौत की जांच प्रधानमंत्री मोदी ने सीबीआई को नहीं सौंपी है

Updated On: 2020-07-27T12:46:00+05:30
Claim Review :   वीडियो और तस्वीर दावा करती हैं कि अमित शाह ने सुशांत सिंह राजपूत ख़ुदकुशी मामले में सीबीआई जाँच के आदेश दिए हैं
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story