सुशांत सिंह राजपूत के मौत की जांच प्रधानमंत्री मोदी ने सीबीआई को नहीं सौंपी है

मुम्बई पुलिस अभी जांच-पड़ताल कर रही है और अब तक 28 लोगों के बयान दर्ज़ कर लिए गए हैं

वायरल फ़ेसबुक पोस्ट्स का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई यानी सेंट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टिगेशन को जाँच पड़ताल सौंप दी है । यह दावा फ़र्ज़ी है ।

एक पोस्ट - जिसमें प्रधानमंत्री मोदी और सुशांत सिंह राजपूत की तस्वीर है वायरल हो रही है - द्वारा बांगला भाषा में दावा किया गया है 'हमारे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं."

राजपूत अपने मुंबई स्थित घर में 14 जून की दोपहर मृत पाए गए थे ।

यह भी पढ़ें: आजतक और इंडिया.कॉम ने 'फ़र्ज़ी' ट्वीट्स को सुशांत सिंह राजपूत के आखिरी ट्वीट्स बताए

इस घटना के तुरंत बाद सोशल मीडिया पर सिनेमा प्रेमयों का गुस्सा उबाल खाने लगा था | लोगो ने कहा था की बॉलीवुड 'फेवरेटिज़्म' का बोलबाला है |

पोस्ट के अर्काइव्ड वर्शन के लिए यहाँ क्लिक करें ।

सुशांत की मृत्यु के बाद उनकी मौत को लेकर सोशल मीडिया पर तरह तरह के कयास लगाए जाने लगे | कई लोगों ने दावा किया की उनकी हत्या की गयी है तो कइयों ने इसे एक सोची समझी साज़िश बताया | कई ट्वीट्स और इंस्टाग्राम पोस्ट्स के ज़रिए भारतीय जनता पार्टी की सांसद रूपा गांगुली ने भी राजपूत की मौत के सिलसिले में सीबीआई जाँच की मांग की ।

जाँच अब भी मुम्बई पुलिस के पास है

अभी तक कोई आधिकारिक एलान या आदेश नहीं आया है जो मामले की जाँच का ट्रांसफ़र सीबीआई को करने की घोषणा करता हो । मुम्बई पुलिस मामले की जांच कर रही है जिसमें अब तक दोस्त, पारिवारिक सदस्यों, साथ के लोगों सहित 28 लोगों के बयान दर्ज़ किये जा चुके हैं । हाल की न्यूज़ रिपोर्ट्स के अनुसार फ़िल्म निर्माता संजय लीला भंसाली और शेखर कपूर अपने बयान अगले हफ़्ते दर्ज़ कराएंगे ।

एन.डी.टी.वी की एक रिपोर्ट के अनुसार, भंसाली "से उन आरोपों के बारे में पूछा जाएगा जो एक्टर के डिप्रेशन से जूझने के बारे में हैं क्योंकि उसे यशराज फ़िल्म्स के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के चलते उनकी फ़िल्मो से निकाला गया था, सूत्रों के अनुसार । वह अपना बयान 6 जुलाई को देंगे ।"

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड में परिवारवाद मसले के बीच काल्पनिक फ़िल्म टीपू सुल्तान फिर वायरल

मुम्बई पुलिस ने बताया था कि अंतिम ऑटोप्सी रिपोर्ट में क्वोट किया गया है की 'मौत से पहले संघर्ष के कोई संकेत नहीं पाए गए, उनके नाखूनों में भी कुछ नहीं मिला ।' पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक राजपूत, 34, 'फ़ांसी से डैम घुटने' की वजह से मरें हैं ।

डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस अभिषेक त्रिमुखे ने 27 जून को हुई मीडिया से वार्ता में कहा था कि टीम मामले के पीछे के 'कारण की हर कोण से जांच कर रही है ।'

बूम ने डीसीपी त्रिमुखे से सम्पर्क किया है, जवाब मिलने पर लेख अपडेट किया जाएगा ।

राजपूत की मौत ने फ़िल्म इंडस्ट्री को झकझोर दिया है । डिप्रेशन के अलावा, कई लोग इंडस्ट्री में परिवारवाद को मौत का कारण बता रहे हैं । महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मौत की ख़बर के दूसरे दिन ट्वीट किया था कि मुम्बई पुलिस मौत के पीछे कोई 'प्रोफ़ेशनल दुश्मनी' के कोण की तलाश भी करेगी ।

"मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह लगता है कि सुसाइड के पीछे फ़िल्म इंडस्ट्री में बिज़नेस दुश्मनी कारण हो सकती है । यह कोण भी मुंबई पुलिस द्वारा जांच जाएगा," देशमुख ने एक वीडियो संदेश में कहा ।


Updated On: 2020-07-09T18:14:54+05:30
Claim Review :  पोस्ट्स का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जाँच पड़ताल सीबीआई को सौंप दी है
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story