पीपल्स लिबरेशन आर्मी के 56 पूर्व जनरल्स के नाम मारे गए चीनी सैनिकों के रूप में वायरल

बूम ने पाया कि लिस्ट विकिपीडिया से ली गयी है जो चीनी जनरल्स के नामों की सूची है

56 व्यक्तियों के नामों की सूची सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ शेयर की जा रही है कि वे 15 जून को भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच गलवान घाटी में हुई झड़प में मारे गए चीनी सैनिक हैं । यह दावा गलत है; बूम ने पाया कि यह सूची पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पी.एल.ए) के 56 पूर्व जनरलों के नामों की है, और यह सूची "पीपल्स रिपब्लिक ऑफ़ चाइना के जनरलों की सूची" नामक एक विकिपीडिया पेज से ली गई है |

वायरल सूची वाली एक तस्वीर ट्विटर हैंडल न्यूज़ लाइन आई.ऍफ़.इ (@NewsLineIFE) द्वारा कैप्शन के साथ शेयर की गई थी: "#ब्रेकिंगन्यूज़: #गलवानवैली #लदाख #इंडियाचीनफेसऑफ- आधिकारिक अधिसूचना के तहत 45 #PLA मृतकों की पुष्टि की गई है । लेकिन अब प्रतीत होता है की 11 और जो ICU में थे, उनका निधन हो गया।" सूची में मैंडरिन में टेक्स्ट भी है, जो मोटे तौर पर कहता है, "हम इन परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं, और दृढ़ता से हमारे देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं ।"

क्या उत्तर प्रदेश में ऐमिम कार्यकर्ताओं ने भारतीय तिरंगा जलाया?

मार्च 2020 को बनाया गया, न्यूज लाइन आई.ऍफ़.इ - जो खुद को एक समाचार आउटलेट बताता है - के केवल तीन महीनों में लगभग 10,000 फ़ॉलोवर्स हो गए हैं ।


सूची को सोशल मीडिया पर कई बार शेयर किया गया है । बूम को ये सूचि हमारे हेल्पलाइन पर भी प्राप्त हुई |

गलवान घाटी में भारत-चीन की झड़प 20 भारतीय सैनिकों की मौत के साथ समाप्त हो गई, साथ ही चीनी पक्ष की ओर से भी कथित तौर पर मौत की खबरें हैं । झड़प के बाद, चीन ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया जिसमें उस तरफ़ मरने वालों की पुष्टि की जा सके ।

हालांकि, सोशल मीडिया उन चीनी सैनिकों के नामों की झूठी सूची के साथ व्याप्त है, जो उस झड़प में कथित तौर पर मारे गए थे।

क्या इंदिरा गांधी ने गलवान घाटी में सेना के जवानों को सम्बोधित किया था?

मेघालय में घायल सैनिकों का वीडियो गलवान वैली झड़प के रूप में वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने न्यूज़ लाइन आई.ऍफ़.इ के ट्वीट के जवाबों को देखा, और एक टिप्पणी में पाया गया कि सूची में कुछ नाम पूर्व पी.एल.ए जनरलों के हैं।


इस कमेंट से हिंट लेते हुए हमनें वायरल सूची में उल्लेखित नामों को कीवर्ड के रूप में उपयोग करते हुए पीएलए के पूर्व जनरलों की सूचियों की खोज की ।

हमें "चीन के पीपल्स गणराज्य के जनरलों की सूची" नामक एक विकिपीडिया पेज मिला जिसमें समाचार लाइन आई.ऍफ़.इ द्वारा पोस्ट की गई वायरल सूची में वर्णित सभी नाम थे।

लेफ्ट: न्यूज़ लाइन आई.ऍफ़.इ द्वारा पोस्ट किए गए नामों की वायरल सूची; अधिकार: 1955 से पीएलए जनरलों के नाम

यदि नामों की वायरल सूची की तुलना 1955 के वरिष्ठ चीनी जनरलों की सूची से की जाती है, जैसा कि विकिपीडिया पेज में उल्लेखित है, तो सूची में पहले 31 नामों को एक क्रम में बिना बदले विकिपीडिया सूची से उठाया गया है।


हमने ये भी पाया की वायरल पोस्ट में दिए गए नाम - क्रमांक 31 से 56 तक - चीन के 1993 और 1994 के जनरल्स के नाम से मेल खाता है | लिस्ट में नाम ठीक उसी क्रम में हैं जैसा की विकिपीडिया पेज पर | जबकि सूची में शामिल कई लोग अब मर चुके हैं, जो जीवित हैं वे सभी ऊँची पोस्ट के अधिकारी हैं जिनका सीमा पर ड्यूटी करने की सम्भावना लगभग ना के बराबर है |

इससे पता चलता है कि न्यूज लाइन आई.ऍफ़.इ द्वारा पोस्ट किए गए नामों की पूरी सूची बनावटी है जो विकिपीडिया पेज से उठाई गई है।

Claim Review :  पोस्ट दावा करता है की लिस्ट में उन 56 चीनी सैनिको के नाम हैं जो भारत-चीन झड़प में मारे गए थे
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story