क्या उत्तर प्रदेश में ऐमिम कार्यकर्ताओं ने भारतीय तिरंगा जलाया?

बूम ने पाया की झंडा ना ही भगवा था ना ही भारतीय तिरंगा, नेताओं ने नेपाल का विरोध व्यक्त करते हुए नेपाली ध्वज जलाया था

दो तस्वीरों का एक सेट फ़र्ज़ी दावों के साथ सोशल मीडिया पर वायरल है | तस्वीर में दो मुस्लिम व्यक्ति एक झंडा जलाते दिखाई देते हैं और उनके पीछे ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी (ए.आई.एम.आई.एम) का झंडा देखा जा सकता है | जहाँ एक तस्वीर में ये दोनों भगवा झंडा जलाते नज़र आते हैं, वहीँ दूसरी तस्वीर में ये भारतीय तिरंगा जलाते दिखाई देते हैं |

बूम ने अपनी पड़ताल में पाया की वायरल तस्वीर एडिट की हुई है | असल तस्वीर में दिख रहे दोनों व्यक्ति ए.आई.एम.आई.एम प्रतापगढ़ के कार्यकर्ता मो. सलीम अंसारी और इसरार अहमद हैं और उनके हाथ में दिख रहा झंडा दरअसल नेपाल का राष्ट्रीय ध्वज है जिसे जलाकर ये विरोध दर्ज़ कर रहे थे |

इन दोनों एम.आई.एम नेताओं ने नेपाल की संसद में नई सीमाओं को लेकर बिल पास किये जाने के बाद नेपाल का झंडा जलाकर विरोध व्यक्त किया था |

हाल ही में नेपाल की संसद ने भारत और नेपाल की सीमा को लेकर नया बिल पारित किया है और नेपाल नयी सीमा वाले मानचित्र यानी मैप को लागू भी करने जा रहा है | इस नए मानचित्र में लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा क्षेत्रों को नेपाल का हिस्सा दिखाया गया है | ज्ञात रहे की भारत ने हमेशा से इन तीनो क्षेत्रों को देश का अभिन्न अंग बताया है |

यह पोस्ट ऐसे समय पर वायरल हो रहा है जब भारत-चीन और भारत-नेपाल अपने चरम पर है | यहाँ और यहाँ पढ़ें |

यह भी पढ़ें: भारत-चीन संघर्ष: सी.पी.आई (एम) के प्रदर्शन की एडिटेड तस्वीरें फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

वायरल पोस्ट दो अलग दावों के साथ शेयर किया जा रहा है |

एक तस्वीर को एडिट करके भगवा झंडा जोड़ दिया गया है और कैप्शन में लिखा गया है: ये है प्रतापगढ़ #AIMIM जिलाध्यक्ष मो.सलीम अंसारी जो कि खुलेआम Secularism की आड़ में हमारे सनातन धर्म और मराठो की शान भगवा पताका को जलाकर इसका अपमान कर रहा है सभी सनातनियो से मेरी प्रार्थना है इसे शेयर करे ताकि ये जल्द पकड़ा जाए कल का है ये घटना देर रात का | MYogiAdityanath

दूसरी तस्वीर में नेपाली ध्वज को एडिट करके भारतीय तिरंगे को जोड़ दिया गया है |

पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ, यहाँ और यहाँ देखें |

ट्विटर पर वायरल

यही तस्वीर ट्विटर पर भी फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल है |

यह भी पढ़ें: सालों पुरानी तस्वीर को भारतीय सेना के ख़िलाफ किया गया इस्तेमाल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल पोस्ट्स को करीब से देखा तो पाया की तस्वीर में झंडा जला रहे व्यक्तियों के पीछे दिख रहे ऐमिम पार्टी के झंडे पर 'नेपाल मुर्दाबाद' लिखा हुआ है |


इसके बाद हमनें प्रतापगढ़ पुलिस का ट्विटर हैंडल खंगाला | इस हैंडल से कई ट्विटर यूज़र्स को इन्ही तस्वीरों से जुड़ी असल घटना से अवगत कराया गया था |

हमें पता चला की ऐमिम प्रतापगढ़ के कार्यकर्ताओं ने नेपाल के ख़िलाफ़ विरोध जताने के गरज से जून के दूसरे सप्ताह में ज़िले में नेपाल का सांकेतिक ध्वज जलाया था |

आदित्य विनायक नामक एक ट्विटर यूज़र को जवाब देते हुए प्रतापगढ़ पुलिस ने लिखा, "उक्त प्रकरण में प्रदर्शित झण्डा नेपाल देश का है, नेपाल देश की संसद द्वारा कथित रूप से भारतीय क्षेत्र को नेपाली क्षेत्र बताये जाने के विरोध में एआईएमआईएम पार्टी प्रतापगढ़ के सदस्यों द्वारा नेपाल देश का सांकेतिक झण्डा जलाया गया है।"

प्रतापगढ़ पुलिस ने ऐमिम के उस कार्यकर्ता का बयान भी ट्वीट किया था जो इस तस्वीर में नज़र आ रहा है |

ट्वीट में ही बूम को वह ज्ञापन भी मिला जिसमें नेपाल के खिलाफ़ विरोध प्रदर्शित किया गया है |

ज्ञापन में लिखा है: अवगत कराना है कि दिनांक 15.06.2020 को पड़ोसी देश नेपाल की संसद ने भारत देश के लिपुलेख, काला पानी, लिपि धुत्त को अपने नक्शे में दर्शित कर संसद से पारित करा लिया है । जिससे हम एमआईएम प्रतापगढ़ के लोग आहत व आक्रोसित है । हम लोग अपने देश भारत की एक भी इंच जमीन किसी भी देश को लेने नहीं देंगे। हम एमआईएम प्रतापगढ़ के लोग भारत सरकार से निम्नलिखित मांग करते हैं

1 नेपाल में सर्जिकल स्ट्राइक कर उसे मुहतोड़ जवाब दिया जाय।

2. नेपाल की सीमा को बंद किया जाए ।

3. नेपाल के लोगों को बिना पासपोर्ट के न आने दिया जाए ।

4. नेपाल से आर्थिक संबंध समाप्त किए जाय ।

5. हल्दिया और विशाखापट्टनम पोर्ट को बंद किया जाए ।

इसके अलावा वास्तविक तस्वीरों की एडिट की गयी तस्वीरों से तुलना नीचे देखी जा सकती है | कुछ पोस्ट्स ऐसी भी मिली जिनमें फ़ोटोशॉप कर 'भारत मुर्दाबाद' जोड़ा गया था | नीचे वास्तविक तस्वीरों से तुलना देखें |


हमें यूट्यूब पर एक वीडियो भी मिला जो 18 जून को अपलोड किया गया था | इस वीडियो में पूरा विरोध देखा जा सकता है |


Updated On: 2020-06-24T21:28:44+05:30
Claim Review :   प्रतापगढ़ में ए.आई.एम.आई.एम के दो नेताओं ने भारत का झंडा और भगवा झंडा जलाया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story