सात साल पुरानी मैक्सिकन नेता की तस्वीर भ्रामक दावों के साथ वायरल

बूम ने पाया कि यह फ़ोटो 12 दिसंबर 2013 को ली गयी थी जब मेक्सिकन नेता एक बिल का विरोध कर रहे थे ना कि भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ बोल रहे थे ।

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही एक तस्वीर सामने आयी है | यह तस्वीर एक नग्न नेता को दिखाती है | साथ ही एक भ्रामक दावा है कि मेक्सिको कि संसद में उन्होंने कपड़े उतार कर कहा कि, मुझे नग्न देखने में शर्म आती है पर अपने देश को नग्न और हताश देखने में शर्म नहीं आती |

बूम ने पाया कि 12 दिसंबर 2013 को नाटकीय रूप से एक ऊर्जा बिल के ख़िलाफ़ मेक्सिको के सांसद एंटोनियो गार्सिया ने कांग्रेस में "मेक्सिको की तेल संपदा को छीनने" की निंदा करने के लिए अपने कपड़े उतार दिए थे | नेता ने ऐसा नहीं कहा जैसा दावा किया जा रहा है बल्क़ि उन्होंने ऊर्जा बिल के खिलाफ प्रदर्शन के चलते कपडे उतारे |

नहीं, तस्वीर में प्रियंका गांधी 'नक्सल भाभी' को गले नहीं लगा रही हैं

इस तस्वीर के साथ एक दावा अंग्रेजी और हिंदी में वायरल हो रहा है | हिंदी दावा अंग्रेजी का अनुवाद मात्र है | दावा कुछ यूँ है: "मेक्सिको 🇲🇽 में , संसद का एक सदस्य ने संसद में बहस के दौरान अपने सारे कपड़े उतार देता है और बोलता है की " तुम्हे मुझे नग्न देखने मे शर्म आती है लेकिन आपको अपने देश को नग्न, नंगे, हताश, बेरोजगार और निजी कंपनियों जब इस देश का सारा धन लूट रहे है और आम आदमी को गुलाम बना रहे तब तुम्हे ये देख कर शर्म नही आती " क्या हिम्मतवर व्यक्ति है, ऐसा ही होना चाहिए |"

अंग्रेजी में दावा है: "In Mexico 🇲🇽 , a member of Parliament removes all his clothes in Parliament during debate... "You are ashamed to see me naked, but you are not ashamed to see your people in the streets naked, barefooted, desparate, jobless and hungry after you have stolen all their money and wealth".........he told the Parliament‼️ What a courageous man, this is how it should be."

यही तस्वीर बूम को टिपलाइन पर भी प्राप्त हुई |


पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |




गोवा कांग्रेस की सोशल मीडिया प्रभारी की तस्वीर 'नक्सल भाभी' बताकर वायरल

कोविड-19 संक्रमण फिर होने के सीमित सबूत: डब्लू.एच.ओ इंडिया चीफ़

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च कर पाया कि तस्वीर दिसंबर 2013 से इंटरनेट पर मौजूद है | इसका इस्तेमाल दिसंबर 2013 में प्रकाशित दो लेखो में हुआ है | एक था वाल स्ट्रीट जर्नल और दूसरा बीबीसी |


वाल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार यह नाटकीय घटना तब हुई जब मेक्सिको की संसद में एक सांसद एंटोनियो गार्सिया कोनेजो ने कांग्रेस द्वारा ऊर्जा बिल के हित में मतदान के ख़िलाफ़ कपड़े उतार कर प्रदर्शन किया |

रिपोर्ट में लिखा है, "मेक्सिको की कांग्रेस ने स्टेट के स्वामित्व वाली तेल कंपनी पेट्रेलियोस मैक्सोसोस के 75 साल के एकाधिकार को समाप्त करने के लिए "देशद्रोह" की चिल्लाहट और झगड़े के बीच मतदान किया। इस लैंडमार्क बिल का लक्ष्य विदेशी तेल दिग्गजों के लिए 1938 के बाद पहली बार दुनिया के सबसे बड़े ऊर्जा बाजारों में से एक को खोलने का है।"

इसी रिपोर्ट में बताया गया है कि कपड़े उतारते वक़्त सांसद कोनेजो ने कहा था कि, "इसी तरह तुम देश के कपड़े उतार रहे हो |"


वाल स्ट्रीट जर्नल या बीबीसी की रिपोर्टों में कहीं भी वायरल हो रहे दावों जैसा कुछ नहीं है | बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार मेक्सिको के सांसद एंटोनियो गार्सिया कोनेजो ने कपड़े उतारते वक़्त कहा कि "इसी तरह देश के भी कपड़े उतारे जा रहे हैं |"

"इस तरह तुम देश के कपड़े उतार रहे हो | लाभ कहाँ है? मुझे शर्म नहीं आ रही, जो तुम कर रहे हो वह शर्मनाक है," बीबीसी के लेख के अनुसार सांसद एंटोनियो गार्सिया कोनेजो ने पैंट उतारते वक़्त कहा |

बूम ने पाया कि प्रदर्शन भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ नहीं बल्क़ि एक नए ऊर्जा बिल के ख़िलाफ़ था जिससे विदेशी निवेशकों और कंपनियों के लिए मेक्सिको का रास्ता खुल रहा था |

यह लेख अंग्रेजी में है, हिंदी ट्रांसलेशन गूगल ट्रांसलेट कि मदद से किया गया है |


Claim Review :   मेक्सिको के सांसद ने संसद में कपड़े उतार कर कहा, मुझे नग्न देखने में शर्म आती है तो देश को नग्न, हताश, बेरोजगार और निजीकरण से लोगों को गुलाम बनता देख क्यों शर्म नहीं आती |
Claimed By :  Social media
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story