दुकान में तोड़फोड़ करती महिला का वीडियो फ़र्ज़ी साम्प्रदायिक दावों के साथ वायरल

बूम ने पाया कि महिला और उसका पति दोनों ही हिन्दू हैं और इस घटना में कोई सांप्रदायिक कोण नहीं है |

पारिवारिक झगड़े के कारण एक महिला का पति के काम करने की जगह पर तोड़फोड़ करने वाला यह वीडियो फ़र्ज़ी साम्प्रदायिक कोण के साथ वायरल है कि यह एक हिन्दू महिला है जिसनें एक मुसलमान से शादी की जिसनें बाद में उसे धोका दिया |

बूम ने पाया कि जहां तक धर्म की बात है, दोनों हिन्दू हैं | इस घटना में कोई सांप्रदायिक कोण नहीं है | इस महिला ने एक दूकान में हंगामा किया | महिला का आरोप है कि उसके पति ने उसे धोका दिया है और उसकी अलग से एक बीवी और दो बच्चे हैं |

हिंदू-मुस्लिम कपल की तस्वीर सांप्रदायिक रंग देकर वायरल

फ़र्ज़ी दावा जो इस घटना को सांप्रदायिक बताता है, कुछ यूँ है: "झूठ बोलकर एक मुस्लिम युवक ने हिंदू लड़की से की शादी लेकिन वो पहले से ही शादीशुदा और दो बच्चो का वालिद(बाप) निकला।"

नीचे कुछ पोस्ट्स देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |



यही दावा ट्विटर पर भी वायरल है |

पाकिस्तानी मामले का वीडियो भारत में हुए 'लव-जिहाद' के सन्दर्भ में वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वायरल हो रहा वीडियो इंदौर, मध्यप्रदेश का है और इस घटना में कोई साम्प्रदायिक कोण नहीं है । हमनें पाया कि महिला का नाम नेहा पाटिल है जो एक आनंद पाटिल से विवाहित है ।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नेहा पाटिल ने उस दुकान में हंगामा किया जहां उसका पति काम करता था क्योंकि आनंद पाटिल ने झूठ कह कर उससे शादी की जबकि उसके पहले से एक बीवी और दो बच्चे थे ।

वायरल वीडियो क्लिप में महिला के आरोपों से संकेत लेते हुए हमनें, "वुमन", "हस्बैंड", "आर्य समाज मंदिर" जैसे कीवर्ड्स के साथ खोज की और पाया कि महिला इंदौर में एक दूध की दुकान में तोड़फोड़ कर रही थी जहां उसका पति, आनंद पाटिल, काम करता था ।

यह घटना 14 अक्टूबर 2020, की है जब महिला ने इंदौर के भोलाराम उस्ताद रोड पर स्थित एक दूध की दुकान में हंगामा कर तोड़फोड़ की । महिला का आरोप था कि दूध के दुकान का चालक झूठ बोल उससे आर्य समाज मंदिर में 3 साल पहले शादी कर चुका है और अब उसने उससे छोड़ दिया है । महिला को मालूम चला कि उसके पहले से एक बीवी और दो बच्चे हैं, दैनिक भास्कर के मुताबिक ।

इसी रिपोर्ट में भँवरकुआँ में पदस्थ सहायक सब इंस्पेक्टर जगदीश मालवीय का स्टेटमेंट है । जगदीश ने दैनिक भास्कर को बताया कि, महिला ने कहा कि आनंद पाटिल ने 2017 में उससे आर्य समाज मंदिर में शादी की पर इस साल जून में उसे पता चला कि आनंद पाटिल की एक और पत्नी है ।


यूट्यूब पर सर्च करने पर हमें एक वीडियो मिला जिसमें वायरल वीडियो में दिख रही महिला अपना और अपने पति का नाम साफ साफ बताती है । यह 2.05 समय बिंदु पर देखें ।

नहीं, तस्वीर में दिख रही महिला भाजपा नेता कपिल मिश्रा की बहन नहीं है

Claim Review :   वीडियो दावा करता है कि हिन्दू महिला ने अपने मुसलमान पति की एक और बीवी होने का पता चलने पर उसकी पिटाई की
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story