झूठ: हिंदुओं को नपुंसक बनाने के लिए कोयंबटूर का रेस्त्रां गोलियों भरी बिरयानी परोस रहा है

कोयंबटूर पुलिस ने इस ख़बर को फ़र्ज़ी बताया है। पुलिस के मुताबिक इसे शेयर करने वाले हैंडल का पता लगाने की कोशिश की जा रही है।

असंबंधित तस्वीरों का एक सेट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक तस्वीर में एक व्यक्ति को बिरयानी परोसते हुए दिखाया है, जबकि दूसरी तस्वीर में बड़ी मात्रा में टैबलेट (गोलियां) दिखाई गई हैं। इन तस्वीरों के साथ दावा किया जा रहा है कि कोयंबटूर में एक रेस्तरां हिंदुओं को टैबलेट वाली बिरयानी परोसता है जिसे खाने से लोग नपुंसक बन सकते हैं।

कोयंबटूर पुलिस ने इस दावे को ट्वीटर पर ख़ारिज किया है। पुलिस ने कहा कि यह ख़बर झूठी है और उस हैंडल का पता लगाने की कोशिश की जा रही है जिसने मूल रुप से इस अफ़वाह को पोस्ट किया है।

1 मार्च, 2020 को, आरडी सिंह (@RD_RANA) नाम के ट्वीटर यूज़र ने निम्नलिखित कैप्शन के साथ तस्वीरों को ट्वीट किया:

यह भी पढ़ें: सी.ए.ए प्रदर्शन में महिला ने बताया 500 रूपए को कम, की शिकायत? फ़ैक्ट चेक

"बिरयानी को मुस्लिमों और हिंदुओं के लिए अलग-अलग बर्तन में पकाया जाता है। हिंदुओं के लिए बिरयानी में टैबलेट मिलाई जाती है जो आपको नपुंसक बना सकता है। कोयंबटूर में रेहमान बिस्मिल्लाह के माशा अल्लाह नामक रेस्तरां को ऐसी बिरयानी बेचते हुए पकड़ा गया था। सावधान रहें! वे आप तक हर तरीके से पहुंचने की कोशिश कर रहे है। "

इस ट्वीट को कोयंबटूर पुलिस के जवाब के बाद डिलीट कर दिया गया है|

कैप्शन से कीवर्ड लेते हुए हमने फेसबुक पर खोज की और पाया कि यह वीडियो फेसबुक पर भी वायरल है। फेसबुक पर एक लम्बे कैप्शन के साथ इस दावे को विस्तृत रूप से साझा किया है|

कैप्शन है: "जिसकों पाँच छः वर्ष की अवस्था से यह बताया जा रहा हो कि तुम दुनिया पर इस्लाम कायम करने आये हो , जिहाद ही तुम्हारा कर्तव्य है , दूसरे संस्कृति संप्रदाय को तुम्हें कैसे भी समाप्त करना है , तुम जो भी काम कर रहे हो ..वहीं से #जिहाद छेड़ो , #अल्लाह तुम्हारे लिये विशेष व्यवस्था करेगा..तो फिर आप उससे और क्या अपेक्षा करेंगे। यह #कोयंबतूर का एक रेस्टोरेंट है "#माशाअल्लाह", इसके मालिक का नाम #रहमान #बिस्मिल्लाह है। ये अपने ग्राहकों के लिये दो तरह की बिरयानी बनाता था , एक #मुसलमान ग्राहक के लिये एक हिन्दू ग्राहक के लिये।#हिन्दू वाले बिरयानी में कोई तो एक ऐसा #पाउडर मिलाता था जिससें खाने वाले की #बच्चे पैदा करने की #क्षमता समाप्त हो जाये..। तो भाईयों अपन तो #शाकाहारी हो चुके है , अब तो शरीर भी करीब करीब #ब्राह्मण हो चूका है। जो लोग #मांसाहार का सेवन करते है वो जरा सम्हले नहीं ..#ललनवा नहीं आयेगा धरती पर। किसी भी #मुस्लिम रेस्टोरेंट में कुछ भी खाते पीते है तो आपका भविष्य #अंधकारमय होने वाला है। इन #जिहादियों से सावधानी ही बचाव हैं। वरना तो आप सदियों से इनके हाथों हलाल होते आये हो" (Sic)

फ़ैक्ट चेक

बूम ने तस्वीरों पर रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि ये तस्वीरें भारत और श्रीलंका की असंबंधित घटनाओं से हैं।

यह भी पढ़ें: क्या 'आप' ने केवल मुस्लिम दंगा पीड़ितों के लिए मुआवज़े की घोषणा की?

बिरयानी परोसने वाले व्यक्ति की तस्वीर यूट्यूब वीडियो के थंबनेल में मिली जिसे 30 जून, 2016 को पोस्ट किया गया था। वीडियो के साथ टाइटल में लिखा था: भारतीय मुस्लिम त्योहार 30 लोगों के लिए दम बिरयानी की तैयारी और स्ट्रीट फूड"।

टैबलेट की तस्वीर श्रीलंका के डेली मिरर अखबार के एक लेख में पायी गयी जिसमें बताया गया था कि कैसे कोलम्बो में एक पिता-पुत्र की जोड़ी को 4 मिलियन रुपये के अवैध दवाओं के भंडारण के लिए पुलिस ने गिरफ़्तार किया था।

यह भी पढ़ें: दंगा पीड़ितों को राहत राशि देने का वीडियो शाहीन बाग़ को निशाना बनाते हुए वायरल हुआ

कोयंबटूर सिटी पुलिस ने तुरंत आरडी सिंह के मूल ट्वीट का जवाब दिया, जिसमें कहा गया था, "किसी को भी इस ट्वीट हैंडल पर विश्वास नहीं करना चाहिए क्योंकि यह फ़र्ज़ी ख़बर फैला रहा है।" यह भी बताया गया है कि वे उस हैंडल को ट्रेस करने की कोशिश कर रहे हैं जो सांप्रदायिक कैप्शन के साथ तस्वीरें पोस्ट कर रहा है।



Claim Review :  तस्वीरें दर्शाती हैं कि कोयंबटूर के एक रेस्त्रां में हिन्दुओं को नपुंकसक बना सकने वाली गोलियों से भरी बिरयानी परोसी जा रही है
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story