नहीं, भूमि पूजन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चप्पल नहीं पहन रखी थी

बूम ने पाया की वायरल तसवीरें प्रधानमंत्री द्वारा पौधारोपण करने के दौरान ली गयी हैं ना की भूमि पूजन के वक़्त

दो तस्वीरों का एक सेट - जिसमें प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी 'पारिजात' या शेफाली का पौधरोपण कर रहे हैं - इन फ़र्ज़ी दावों के साथ वायरल है की मोदी ने भूमि पूजन के दौरान चप्पल पहन रखी थी जिससे हिन्दुओं के धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है |

बूम ने पाया की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत की वायरल तस्वीरें भूमि पूजन से पहले ली गयी हैं जो वायरल दावों को फ़र्ज़ी साबित करता है |

हैदराबाद के मंदिर का वीडियो राम मंदिर अयोध्या के नाम पर हो रहा वायरल

पिछले कई दशकों से हिन्दुओं और मुसलामानों के बीच विवाद का विषय रही अयोध्या की ज़मीन पर 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट का अंतिम फ़ैसला आया था जिससे वहाँ मंदिर निर्माण का रास्ता साफ़ हो गया था | प्रधानमंत्री ने राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू करते हुए 5 अगस्त 2020 को भूमि पूजन किया था |

वायरल तस्वीर में प्रधानमंत्री मंदिर परिसर में पारिजात के एक पौधे को पानी देते नज़र आ रहें हैं | तस्वीर में लाल और नीले घेरे बना कर दिखाया गया है की इस दौरान मोदी चप्पल पहने हुए हैं |

हिंदी में एक कैप्शन कहता है 'चप्पल पहनकर भूमि पूजन, आखिर कितनी धज्जियां उड़ाओगे हिंदू धर्म की' !

नीचे कुछ पोस्ट्स देखें और आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |


यही तस्वीरें फ़र्ज़ी दावों के साथ ट्विटर पर भी वायरल हैं |


6 साल पुराना 3D एनीमेशन राम मंदिर के ब्लू प्रिंट के रूप में वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया की सोशल मीडिया पर तस्वीर के साथ किये गए दावे फ़र्ज़ी हैं और तस्वीरें भूमि पूजन शुरू होने के पहले ली गयी थीं |

हमनें रिवर्स इमेज सर्च किया जिससे हमें एन.डी.टी.वी की एक रिपोर्ट मिली | रिपोर्ट कहता है: "मंदिर के भूमि पूजन के पहले प्रधानमंत्री ने मंदिर परिसर में पारिजात का पौधा लगाया" | यहां रिपोर्ट साफ़ कहता है की परिसर में पौधा लगाया है और इसी परिसर में मंदिर बनेगा |

नरेंद्र मोदी अयोध्या के राम मंदिर परिसर में पारिजात वृक्ष का पौधा लगाते हुए।

इसके अलावा हमनें प्रधानमंत्री मोदी के मंदिर परिसर में आने, अस्थायी राम मंदिर में शाष्टांग प्रणाम करने (जैसे नीचे तस्वीरों में दिखाया गया है), पारिजात का पौधा लगाने और फिर भूमि पूजन स्थल जा कर पूजा करने तक के पूरे मूवमेंट को करीब से देखा और पाया की प्रधानमंत्री ने भूमि पूजन के दौरान चप्पल या जूते नहीं पहने थे |

नरेंद्र मोदी अयोध्या के राम मंदिर भूमि पूजन में - बिना चप्पलों के।

बूम ने भूमि पूजन के लाइव कवरेज से कुछ मौकों पर प्रधानमंत्री को देखा | वो कहीं भी जूता या चप्पल पहने नहीं दिखाई दिए | उन्होंने मोज़े ज़रूर पहन रखें हैं |

नरेंद्र मोदी अयोध्या के राम मंदिर भूमि पूजन की विधियों के दौरान

भूमि पूजन की लाइव कवरेज नीचे देखें |


Updated On: 2020-08-10T15:40:50+05:30
Claim Review :   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चप्पल पहन कर भूमि पूजा की
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story