नानावती हॉस्पिटल के डॉक्टरों की प्रसंशा करते अमिताभ बच्चन का पुराना वीडियो हुआ वायरल

बूम ने पाया की यही वीडियो यूट्यूब पर इस साल 23 अप्रैल को अपलोड किया गया था |

अमिताभ बच्चन का तीन महीने पुराना एक वीडियो जिसमें वे नानावती हॉस्पिटल के अधिकारीयों कि तारीफ़ कर रहे हैं, फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल हो रहा है | दावा है कि उनका यह संदेश कोरोनावायरस संक्रमित होने के बाद का है | उन्हें कोविड-19 के लक्षण दिखने पर नानावती अस्पताल में 11 जुलाई, 2020 को भर्ती किया गया था जिसके बाद वे पॉजिटिव पाए गए हैं |

बूम ने अलग अलग सोर्स कि मदद से यह पुष्टि की है कि सन्देश अप्रैल 2020 में भारत में लॉकडाउन लगने के कुछ हफ़्तों बाद ही रिकॉर्ड किया गया था | हमें यूट्यूब पर 23 अप्रैल, 2020 को अपलोड किया गया यही वीडियो मिला |

इसके अलावा नानावती हॉस्पिटल ने भी एक स्पष्टीकरण जारी किया है । इसमें कहा गया है कि वायरल हो रहा यह वीडियो अप्रैल 2020 में शूट हुआ है । स्पष्टीकरण आगे कहता है कि अप्रैल में अमिताभ ने पी.पी.इ कीट्स दान दिए थे और यह संदेश रिकॉर्ड किया था ।

यह वायरल क्लिप उस वक़्त सोशल मीडिया पर जोरोंशोरों से वायरल है जब अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन कि कोरोनावायरस संक्रमित होने कि पुष्टि हुई है | दोनों नानावटी में भर्ती हैं |

अभिषेक बच्चन ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी भी दी है की ऐश्वर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या बच्चन भी कोविड-19 संक्रमित पाए गए हैं | ट्वीट में अभिषेक ने यह भी कहा की दोनों घर पर ही क्वारंटाइन में रहेंगी | मुंबई में 12 जुलाई तक 91,745 कोविड-19 मामले हैं |

यह भी पढ़ें: नहीं कहा कोरोनिल कोरोना का इलाज है: पतंजलि सी.इ.ओ ने किया झूठा दावा

इस 2.36 मिनट लम्बी वीडियो क्लिप में अमिताभ बच्चन डॉक्टरों, नर्सों और अन्य हॉस्पिटल स्टाफ कि प्रसंशा कर रहे हैं | उन्होंने हॉस्पिटल को हर बार स्वास्थ सम्बन्धी तकलीफों के चलते उनका ध्यान रखने के लिए धन्यवाद भी दिया |

वीडियो में कहीं भी वे कोविड-19 पॉजिटिव होने के बारे में बात नहीं करते हैं | फ़ेसबुक पर यह क्लिप वायरल है | कैप्शन में लिखा है: "अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव होने के बाद नानावती हॉस्पिटल में भर्ती हुए,उन्होंने वहां से लोगों को सकारात्मक रहने का संदेश दिया।स्वास्थ्य कर्मियों और डॉक्टरों को भगवान का रूप बताया।"

पोस्ट्स के आर्काइव्ड वर्शन यहाँ और यहाँ देखें |

रेडिफ़ की जर्नलिस्ट शीला भट्ट ने बिना कोई दिन या तारिख का उल्लेख किए यह वीडियो ट्विटर पर पोस्ट किया | जब एक यूज़र ने उनसे पूछा कि वीडियो कब का है, उन्होंने डेट नहीं बताई और जवाब दिया 'हाल के अतीत' का |



फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो के एक कीफ्रेम का रिवर्स इमेज सर्च किया और पाया कि यही वीडियो क्लिप 23 अप्रैल 2020 को यूट्यूब पर अपलोड किया गया था |

इसके साथ हिंदी में एक कैप्शन था जो इस प्रकार है: "अमिताभ बच्चन ने की कॉरोना वरियर्स की तारीफ़ कहां सफेद कोट में भगवान अस्पताल में काम कर रहे हैं"



समय बिंदु 00.26 पर देखा जा सकता है कि बच्चन सूरत में एक बिलबोर्ड कि बात करते हैं और कहते हैं कि उन्होंने ट्वीट किया है | कीवर्ड्स खोज करने पर हमें गुजरती वेबपोर्टल दिव्या भास्कर पर 23 अप्रैल का एक लेख मिला जिसमें बच्चन कि बिलबोर्ड पर टिप्पणी का उल्लेख था |

बूम ने नानावटी अस्पताल से भी संपर्क किया | नाम न बताने कि शर्त पर हॉस्पिटल के एक सूत्र ने कहा की वीडियो पुराना है |

यह भी पढ़ें: क्या है 'वन नेशन, वन राशनकार्ड' प्रणाली? इसे ऐसे समझें

"वह (अमिताभ) अक्टूबर 2019 में अस्पताल में भर्ती थे | मार्च-अप्रैल के बीच हमनें यह वीडियो करने का फ़ैसला किया | हॉस्पिटल ने इसे फैलाया नहीं क्योंकि बच्चन ने खुद सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट करने कि बात रखी," सूत्र ने बूम से कहा |

बच्चन के करीबी एक और सूत्र ने बूम से पुष्टि की कि वीडियो पुराना है और इसका अमिताभ के कोरोनावायरस संक्रमित होकर हॉस्पिटल भर्ती होने से कोई सम्बन्ध नहीं है |

इसी दौरान वायरल वीडियो के संदर्भ में नानावटी हॉस्पिटल ने एक स्पष्टीकरण जारी किया है । नीचे देखें ।


महाराष्ट्र के स्वास्थ मंत्री राजेश टोपे ने मीडिया से कहा की बाप-बेटा दोनों एंटीजन टेस्टिंग से पॉजिटिव पाए गए हैं और उनके लक्षण माइल्ड हैं | हॉस्पिटल में भर्ती केवल सावधानी के लिए की गई है ।

यह भी पढ़ें: ओसमानिया हॉस्पिटल में लावारिस लाशों का पुराना वीडियो कोवीड-19 से जोड़ कर वायरल किया गया

Updated On: 2020-07-16T17:24:26+05:30
Claim Review :   कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद नानावती हॉस्पिटल में भर्ती अमिताभ बच्चन ने की वहाँ के डॉक्टर्स की तारीफ़
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story