पिछले हफ़्ते वायरल हुईं पांच मुख्य फ़र्ज़ी ख़बरें

हमने पिछले हफ़्ते बड़े पैमाने पर वायरल हुईं पांच फ़र्ज़ी ख़बरों का फ़ैक्ट चेक किया है. इसमें नोएडा में लव जिहाद, मुस्लिमों द्वारा ब्राह्मणों की पिटाई और दाहोद स्टेशन में आतंकवादी की गिरफ़्तारी से जुड़ी फ़र्ज़ी ख़बर शामिल है.

बूम ने पिछले हफ़्ते बड़े पैमाने पर वायरल हुईं पांच फ़र्ज़ी ख़बरों का फ़ैक्ट चेक किया है. इस रिपोर्ट में नोएडा में लव जिहाद का मामले से जुड़ी फ़र्ज़ी ख़बर, पूजा करने पर मुस्लिमों द्वारा ब्राह्मणों की पिटाई, पश्चिम बंगाल में एक व्यक्ति द्वारा महिला की साड़ी खींचते तस्वीर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बगैर मास्क की एक तस्वीर और गुजरात के दाहोद स्टेशन में आतंकवादी की गिरफ़्तारी से जुड़ी फ़र्ज़ी ख़बर शामिल हैं.

बीते हफ़्ते की पांच फ़र्ज़ी ख़बरें यहां पढ़ें-

1- बग़ैर मास्क पहने अरविंद केजरीवाल की तस्वीर


इस तस्वीर के साथ दावा किया गया कि मुख्यमंत्री केजरीवाल दूसरों को कोरोना महामारी के समय मास्क पहनने की सलाह दे रहे हैं, जबकि उन्होंने खुद मास्क नहीं पहना है. हमने अपनी जांच में पाया कि यह तस्वीर नवंबर 2019 से है जब दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए दिल्ली सरकार ने स्कूली बच्चों को मास्क बांटे थे.

2- गुजरात के दाहोद स्टेशन से पुलिसकर्मियों ने आतंकवादियों को गिरफ़्तार किया है.


बूम ने पाया कि वायरल दावा फ़र्ज़ी है. हमने डिवीज़नल सिक्योरिटी कमिश्नर से बात की, जिन्होंने इस बात की पुष्टि की कि वायरल वीडियो 30 मार्च को रेलवे सुरक्षा बल, सरकारी रेलवे पुलिस और रेलवे कर्मचारियों के अधिकारियों द्वारा संयुक्त रूप से एक मॉक ड्रिल की है.

3- नोएडा में 'लव-जिहाद' का मामला


बूम ने पाया कि यह तस्वीर चार साल पुरानी है. यह लखनऊ में एक कॉलेज के सामने 23 मार्च 2017 को क्लिक की गई थी. इसका नोएडा से कोई सम्बन्ध नहीं है. तस्वीर एंटी-रोमियो स्क्वाड के बनने के दूसरे दिन की है.

4- पश्चिम बंगाल में हिन्दू महिलाओं के साथ ऐसा बर्ताव किया जाता है.


बूम ने पाया कि वायरल हो रहा दृश्य दरअसल एक भोजपुरी फ़िल्म 'औरत खिलौना नहीं' (Aurat Khilona Nahi) का है. यह फ़िल्म यूट्यूब पर देखी जा सकती है. इस तस्वीर का पश्चिम बंगाल से कोई संबंध नहीं है.

5- स्वेज़ नहर में फंसे जहाज में 'धूम मचाले' गाने की तर्ज पर हॉर्न बजा कर ख़ुशी प्रकट की गयी.


बूम ने कई मीडिया रिपोर्ट्स खंगाली जिसमें हूबहू वीडियो मिला. हालांकि हॉर्न बजाए ज़रूर गए थे लेकिन इसमें 'धूम मचाले' गाने का कोई नामोनिशान नहीं है. वायरल वीडियो एडिट किया गया है.

आपके फ़ोन में भी ऐप क्रैश की समस्या आ रही है तो इन बातों को ज़रूर जान लें

Updated On: 2021-04-17T18:20:32+05:30
Show Full Article
Next Story