किसान आंदोलन: रिहाना की एडिटेड तस्वीर वायरल

रिहाना हाल ही में किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट करने के बाद चर्चा में हैं.

रिहाना की तस्वीर जिसमें वे पाकिस्तान के झंडे को पकड़े दिख रही हैं, फ़ोटोशॉप्ड है. नेटिज़ेंस रिहाना को भारत विरोधी बता रहे हैं. ये ऐसे समय पर हुआ है जब रिहाना ने किसान आंदोलन के समर्थन में एक ट्वीट किया था.

वायरल तस्वीर में रिहाना एक स्टेडियम में पाकिस्तान के झंडे के साथ दिखाई देती हैं जबकि वास्तविकता ये है कि तस्वीर 2019 के आई.सी.सी क्रिकेट वर्ल्ड कप के दौरान तब ली गयी थी जब उन्होंने वेस्ट इंडीज़ का झंडा पकड़ा हुआ था.

संबित पात्रा ने शेयर की अरविन्द केजरीवाल की कृषि कानूनों का समर्थन करते दिखाती एडिटेड क्लिप

पाकिस्तानी पत्रकार ने किसान परेड से जोड़कर 7 साल पुरानी तस्वीर शेयर की

मंगलवार को रिहाना ने किसान समर्थन में ट्वीट कर लिखा, "हम इसके बारे में चर्चा क्यों नहीं कर रहे हैं? #FarmersProtest." इसके बाद नेटिज़ेंस उनके पक्ष और विपक्ष में बंट गए हैं.


यह तस्वीर भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा नेता अभिषेक मिश्रा ने साझा की. उन्होंने रिहाना के इस ट्वीट के साथ कुछ पुराने ट्वीट साझा किये और लिखा, "चमचों की नई राजमाता..."




यही तस्वीर फ़ेसबुक पर भी शेयर की जा रही है.


जींस और टीशर्ट के साथ दंगा विरोधी ड्रेस पहने दिखाई दे रहा व्यक्ति कौन है?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने रिवर्स इमेज सर्च कर पाया कि वायरल तस्वीर फ़ोटोशॉप की गयी है. वास्तविक तस्वीर में रिहाना वेस्ट इंडीज़ क्रिकेट टीम के झंडे को थामे खड़ी हैं. यह तस्वीर 2019 में हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप के दौरान ली गयी थी.

वास्तविक फ़ोटो इंटरनेशनल क्रिकेट कॉउंसिल यानी आई.सी.सी ने 1 जुलाई 2019 को आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से पोस्ट की थी. यह किसान आंदोलन से काफ़ी पहले की भी है.

हमें न्यूज़ रिपोर्ट्स भी मिली जिसमें रिहाना का चेस्टर-ले-स्ट्रीट, यु.के, में वेस्ट इंडीज़ और श्रीलंका के क्रिकेट मैच के दौरान शामिल होने का उल्लेख था.


इसके अलावा वेस्ट इंडीज़ क्रिकेट के आधिकारिक ट्वीट हैंडल ने रिहाना की कुछ और तस्वीर जुलाई 2019 में पोस्ट की थीं. इन तस्वीरों में रिहाना उन्ही कपड़ों में हैं जो वायरल तस्वीर में दिख रहा है. वे उसी परिदृश्य में भी खड़ी है जैसा वायरल तस्वीर में है.


Claim Review :   रिहाना एक स्टेडियम में पाकिस्तान का झंडा लहरा रही हैं.
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story