अयोध्या में राम भक्तों के जमावड़े का दावा करता वीडियो पुराना और भ्रामक है

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो पुराना है और महाराष्ट्र में आयोजित होने वाली 'दुर्गामाता दौड़' का है

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफ़ी वायरल है जिसे शेयर करते हुए दावा किया जा रहा कि अयोध्या में भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कराने के लिये हिंदुओं की भारी भीड़ जमा हो रही है. वीडियो में ढेर सारे लोग भगवा झंडा लेकर एक ख़ास पोशाक में मार्च करते हुए नज़र आ रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर में पथराव का पुराना वीडियो जयपुर बताकर वायरल

वीडियो को फ़ेसबुक पर शेयर करते हुए एक यूज़र ने कैप्शन दिया 'हिंदू राष्ट्र घोषित करवाने के लिए सारे राम भक्त अयोध्या पहुंच चुके हैं हर हिंदू का एक ही सपना हिंदू राष्ट्र हो भारत अपना'



वीडियो यहाँ, यहाँ, यहाँ देखें

फ़ैक्ट-चेक

वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिये बूम ने वीडियो को कई कीवर्ड्स और कीफ्रेम्स के ज़रिये सर्च करने की कोशिश की लेकिन इस तरीक़े से ज़्यादा कुछ हाथ नहीं लगा.

जानें दक्षिण भारत की 'जादुई नदी' के नाम से शेयर किये जा रहे इस वीडियो का सच

हमने वीडियो को काफ़ी ध्यान से देखा तो वीडियो की एकदम शुरुआत में ही कुछ लोग मराठी टोपी पहने हुए दिखाई दिये जिससे ये अनुमान लगा कि वीडियो महाराष्ट्र का हो सकता है. वीडियो की शुरुआत में ही हमें एक शॉप का होर्डिंग लगा दिखाई दिया जिसमें लिखा था 'Laxmi sports.' हमने इस दुकान का पता लगाने के लिये Laxmi sports maharashtra के नाम से गूगल सर्च किया तो justdial पर हमें बिल्कुल ऐसी ही होर्डिंग का पता मिल गया. ये दुकान महाराष्ट्र के सांगली में स्थित है.


बूम ने Laxmi sports के मालिक Mahantesh Patil से इस वायरल वीडियो के बारे में और जानकारी लेने की कोशिश की. उन्होंने बूम को बताया कि ये वीडियो लगभग दो-तीन साल पुराना है और सांगली में ही नवरात्रि के दौरान आयोजित एक उत्सव 'दुर्गा माता दौड़' का है.

क्या अमरिंदर सिंह ने अपने ट्विटर बायो से 'कांग्रेस' हटा दिया? फ़ैक्ट चेक

दुर्गा माता दौड़ का आयोजन महाराष्ट्र में नवरात्रि के दौरान कई वर्षों से किया जाता रहा है. इस दौड़ को मैराथन दौड़ भी कहते हैं. इस दौड़ में भाग लेने वाले सभी स्त्री पुरुष पारंपरिक परिधानों के साथ गाजे बाजे में नाचते हुए धार्मिक झंडों के साथ चलते हैं. इस आयोजन में दुर्गा प्रतिमा को भी साथ लेकर मंत्रोच्चार किया जाता है.

बूम ने सांगली स्थित MG road में Laxmi sports के अग़ल बग़ल स्थित कुछ और दुकानों से संपर्क किया. Indian Music store के नाम से दुकान चलाने वाले Mohsin Raza ने वीडियो देखने के बाद बूम को बताया कि ये वीडियो वहीं का है और 2-3 साल पुराना है. मोहसिन ने कहा कि यहाँ हर साल ही दुर्गामाता दौड़ का आयोजन होता है.

बूम को MG road स्थित Laxmi sports shop की बिल्कुल उसी जगह की तस्वीर मिली जो वायरल वीडियो में दिख रही है.


क्या केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने हिन्दू धर्म अपना लिया है? फ़ैक्ट चेक

फ़ेसबुक पर Abhijit Shinde नाम के एक यूज़र द्वारा 1 October को अपलोड किया था. इस वीडियो के कैप्शन में मराठी भाषा में लिखा था 'धर्म और संस्कृति की एकता के लिये हिंदू समाज के लोग दुर्गा माता दौड़ में शामिल.' पोस्ट के कैप्शन से ये स्पष्ट हो रहा है कि वीडियो महाराष्ट्र का है.

सुभाष चंद्र बोस को ख़ुद की मौत की ख़बर पढ़ते दिखाती यह तस्वीर एडिटेड है

हालांकि बूम को ये जानकारी स्पष्ट नहीं हो सकी कि वीडियो किस तारीख़ का है लेकिम इतना तो स्पष्ट हो गया है कि ये वीडियो महाराष्ट्र के धार्मिक आयोजन दुर्गामाता दौड़ का है न कि अयोध्या में किसी भी तरह के सम्मेलन का. बूम ने Abhijit Shinde से इस वीडियो के बारे में और जानकारी के लिये संपर्क किया है उनका जवाब मिलते ही स्टोरी अपडेट की जायेगी.

Updated On: 2021-10-06T17:34:23+05:30
Claim Review :   हिंदू राष्ट्र घोषित करवाने के लिए सारे राम भक्त अयोध्या पहुंच चुके हैं
Claimed By :  social media
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story