किसान आंदोलन: क्या राकेश टिकैत के चेहरे पर पोती गयी कालिख?

सोशल मीडिया यूज़र्स राकेश टिकैत की एक तस्वीर साझा करते हुए दावा कर रहे हैं कि, "भारत बंद करने जा रहे टिकैत के मुँह पर कालिख पोती गयी."

किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) का 'काला' चेहरा दिखाती एक फ़र्ज़ी तस्वीर वायरल है. इसके साथ ही नेटिज़ेंस दावा कर रहे हैं कि, "भारत बंद करवाने चले थे जनता ने लात और थप्पड़ों की बारिश के बाद मुंह पर कालिख पोती."

बूम ने पाया कि वायरल हो रही यह तस्वीर एडिट की गयी है. वास्तविक तस्वीर जनवरी 2021 को सिंघु बॉर्डर, दिल्ली, (Singhu border, Delhi) पर एक प्रेस वार्ता (Press Conference) के दौरान की है जिसमें साफ़ देखा जा सकता है कि राकेश टिकैत के चेहरे पर कालिख़ नहीं पुती है.

गौरतलब है कि 2 अप्रैल 2021 को भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisaan Union) के नेता के काफ़िले पर अलवर (Alwar) में हमला हुआ था जब वे हरसोरा (Harsora) गांव जा रहे थे. इस हमले में कथित तौर पर उनकी कार पर पत्थर बरसाए गए और स्याही भी फेंकी गयी थी. हालांकि इस हमले में टिकैत को कुछ नहीं हुआ था. यहां पढ़ें. इस हमले पर राकेश टिकैत ने एक ट्वीट भी किया था.

क्या कपूर और अजवाइन शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ा सकते हैं? फ़ैक्ट चेक

नेटिज़ेंस इस हमले की पृष्ठभूमि में एक एडिट की गयी तस्वीर शेयर कर रहे हैं.

कुछ पोस्ट्स नीचे देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां और यहां देखें.




जानिए सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में दिख रहे यह आई.पी.एस कौन हैं?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वायरल फ़ोटो को रिवर्स इमेज सर्च किया और कुछ न्यूज़ रिपोर्ट्स पाई. इन रिपोर्ट्स में वायरल फ़ोटो ही प्रकाशित है.


यहां और यहां देखें.

चूँकि वायरल तस्वीर में एशियन न्यूज़ इंटरनेशनल का बूम माइक दिख रहा है, हमनें ए.एन.आई का ट्विटर और यूट्यूब खंगाला.

हमें वास्तविक तस्वीर एशियन न्यूज़ इंटरनेशनल के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर मिली. नीचे फ़र्ज़ी और वास्तविक तस्वीरों की तुलना देखी जा सकती है.


हमें ए.एन.आई के यूट्यूब चैनल पर हमें इस प्रेस वार्ता का वीडियो भी मिला.

आजतक की पत्रकार श्वेता सिंह के नाम पर फ़र्ज़ी ट्वीट हुआ वायरल

Claim Review :   भारत बंद करवाने चले थे जनता ने लात और थप्पड़ों की बारिश के बाद मुंह पर कालिख पोती
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story