इज़राइल-फ़िलिस्तीन संघर्ष: क्या फ़िलिस्तीनी नागरिकों ने घायल होने का नाटक किया है?

सोशल मीडिया पर वायरल दावा कहता है 'अब जिहादियों और आतंकियों का मेक अप और नौटंकी जिहाद'.

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो काफ़ी वायरल हो रहा है. वीडियो के साथ ये दावा किया जा रहा है 'लो जी,अब जिहादियों और आतंकियों का मेक अप और नौटंकी जिहाद'. वायरल हो रहे वीडियो में कुछ लोग बच्चों और औरतों पर ज़ख्म के निशान बनाते देखें जा सकते हैं. इस वीडियो के ज़रिये इज़राइल (Israel) और फ़िलिस्तीन (Palestine) के बीच चल रही जंग जैसी स्थिति पर भ्रम फैलाने की कोशिश की गयी है.

बूम ने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है और वीडियो दरअसल वर्ष 2017 के एक न्यूज़ रिपोर्ट को एडिट करके बनाई गयी है जिसमे फ़िलिस्तीन (Paletine) के मेकअप आर्टिस्ट्स (makeup artists) को दिखाया गया था. ये आर्टिस्ट्स फ़्रेंच (French) चैरिटी डॉक्टर्स ऑफ़ द वर्ल्ड (Doctors of the World) के एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहें थे.

क्या वायरल हो रहा यह वीडियो इज़राइल में हुआ धमाका दिखाता है?

ये वीडियो ऐसे वक़्त पर वायरल हो रहा है जब इज़राइल (Israel) और फ़िलिस्तीन (Palestine) के बीच जंग जैसे हालात बनते जा रहे हैं. चल रही हिंसक घटनाओं में अब तक तक़रीबन 150 मौतें हो चुकी हैं. इनमे से अधिकाँश मौत फ़लीस्तीन की ओर हुए हैं.

वायरल वीडियो के साथ हिंदी में लिखा कैप्शन कहता है 'लो जी,अब जिहादियों और आतंकियों का मेक अप और नौटंकी जिहाद।'

वीडियो में मेकअप आर्टिस्ट्स कुछ बच्चों और आदमियों पर ज़ख्म का मेकअप कर रहें हैं. साथ ही वीडियो में अंग्रेज़ी भाषा में लिख कर ये दावा किया जा रहा है कि गाज़ा में रहने वाले लोग नकली मेकअप कर के एक फ़र्ज़ी कहानी पूरी दुनिया को सुना रहे हैं.

वीडियो अंग्रेज़ी कैप्शन के साथ भी वायरल है.

फ़ेसबुक पर भी ये वीडियो ऐसे ही दावों के साथ शेयर किया जा रहा है.



फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो के एक की फ़्रेम पर रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें वर्ष 2018 में France 24- The Observers (फ़्रांस 24 ऑब्ज़र्वर) द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला जिसमे यही वीडियो शेयर किया गया है.

फ़्रेंच फ़ैक्ट चेकर्स ने 2018 में इस वीडियो को फ़ैक्ट चेक करते हुए बताया कि असल वीडियो गाज़ा पोस्ट (Gaza Post) द्वारा वर्ष 2017 में बनाया गया था. फ़्रांस 24 (France 24) के फ़ैक्ट चेक के मुताबिक गाज़ा पोस्ट ने उन फ़िलिस्तीनी लोगों पर एक रिपोर्ट तैयार की थी जो फ़िल्मों में मेकअप और स्पेशल इफेक्ट्स की जानकारी रखने के इच्छुक थे.

असल वीडियो लगभग 130 सेकंड का है और उसमे मेकअप आर्टिस्ट्स से बातचीत भी दिखाई गयी है.

साइकिल पर शव ले जाते व्यक्ति की दिल दहला देने वाली तस्वीर कब की है?

गाज़ा पोस्ट का असल वीडियो नीचे देखें.

बूम ने वायरल वीडियो और असल वीडियो के स्क्रीनशॉट्स की तुलना भी की. नीचे देखें.


वायरल वीडियो (लेफ़्ट) ओरिजिनल वीडियो (राइट)

इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के नाम पर किये गए इस ट्वीट का सच क्या है?

Claim Review :   अब जिहादियों और आतंकियों का मेक अप और नौटंकी जिहाद।
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story