क्या यूपी चुनाव से पहले अंबानी ने योगी आदित्यनाथ का समर्थन किया है? फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर योगी आदित्यनाथ और अंबानी की अलग-अलग तस्वीरों को मिलाकर बनाई गई है. जानिए इन तस्वीरों के पीछे की सच्चाई, बूम की इस रिपोर्ट में.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की रिलायंस इंडस्ट्रीज के एमडी और चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के साथ एक एडिटेड तस्वीर इस दावे से शेयर की जा रही है कि उद्योगपति ने अगले साल होने वाले यूपी चुनाव (UP Chunav 2022) से पहले उनका समर्थन किया है. वायरल तस्वीर में मुकेश अंबानी और यूपी के मुख्यमंत्री को राम मंदिर (Ram mandir) के डिज़ाइन (Design) के साथ देखा जा सकता है.

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर आदित्यनाथ और अंबानी की अलग-अलग तस्वीरों को मिलाकर बनाई गई है. वायरल तस्वीर में, अंबानी और यूपी सीएम को एक फ़ोटो फ़्रेम के साथ पोज़ देते हुए देखा जा सकता है, जिसमें उत्तर प्रदेश के अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर का डिज़ाइन है.

बॉलीवुड को इस्लाम के प्रचार का अड्डा बताकर शेयर की गई यह तस्वीर फ़ोटोशॉप्ड है

वायरल तस्वीर पर लिखा है, "अंबानी ने चुनाव के लिए योगी को अपना समर्थन सुनिश्चित किया."

ट्विटर पर एक यूज़र ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, "पहली बात ऐ के राम मंदिर का बनना लगभग नामुमकिन है क्यों के उस जमीन के नीचे रेत बालू है..! दूसरी बात ये की अगर कभी बन भी गई तो वो मंदिर कम अम्बानी का होटल जायद होगा. माफी चाहता हूँ पर वो सिर्फ एक कमाई का जरिया होगा पूंजीपतियों के लिए..! ये तसवीर यही दर्शाती है.."

ट्वीट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.


ट्वीट यहां देखें.

हॉस्पिटल में दिलीप कुमार के आख़िरी वीडियो के नाम से वायरल क्लिप का सच क्या है?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वायरल तस्वीर को मुकेश अंबानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पुरानी तस्वीरों का उपयोग करके एडिट किया गया है.

योगी आदित्यनाथ और अंबानी की पोज़िंग का कट आउट दो अलग-अलग तस्वीरों से लिया गया है, जिन्हें फ़्लिप और कंबाइन किया गया है, साथ ही राम मंदिर के डिज़ाइन की तस्वीर को भी जोड़ा गया है.

तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च करने पर, हमें दोनों मूल तस्वीरें मिलीं, जिनमें योगी और अंबानी अलग-अलग लोगों के साथ पोज़ दे रहे हैं.

योगी आदित्यनाथ का कट आउट 2018 में नेपाल के पूर्व राजा ज्ञानेंद्र वीर विक्रम शाह को कुंभ का लोगो भेंट करते हुए उनका अभिवादन करते हुए दिखाती तस्वीर से लिया गया है.

दोनों तस्वीरों की तुलना करने पर, हम देख सकते हैं कि आदित्यनाथ के दोनों कटआउट समान चेहरे के भाव और शरीर के हावभाव से मेल खाते हैं. हम यह भी देख सकते हैं कि प्रस्तुत किया जा रहा फ़्रेम अलग है.


मुकेश अंबानी का कटआउट 16 सितंबर, 2016 की तस्वीर से लिया गया है, जब उन्होंने गांधीनगर, गुजरात में पंडित दीनदयाल ऊर्जा विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में भाग लिया था असल तस्वीर में अंबानी गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के साथ पोज़ दे रहे हैं.


दोनों तस्वीरों की तुलना करने पर, हम देख सकते हैं कि अंबानी के दोनों कटआउट समान चेहरे के भाव और शरीर के हावभाव से मेल खाते हैं.


वायरल तस्वीर में राम मंदिर के डिज़ाइन के फ़ोटो फ्रेम पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें अमेज़न पर बेचा जा रहा एक आर्ट पीस मिला, जो वायरल तस्वीर के समान है.


योगी आदित्यनाथ की एक बच्चे के साथ तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल

Claim Review :   अंबानी ने चुनाव के लिए योगी को अपना समर्थन दिया
Claimed By :  Social Media Posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story