हार्दिक पटेल को मंच पर थप्पड़ मारने का पुराना वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर यह वीडियो हालिया बताकर शेयर किया जा रहा है. बूम ने पाया कि दावा फ़र्ज़ी है.

हाल ही में कांग्रेस पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हार्दिक पटेल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इस वीडियो में हार्दिक पटेल मंच से एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं, तभी एक युवक मंच पर आकर उन्हें थप्पड़ जड़ देता है. इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है यह वीडियो हार्दिक पटेल के बीजेपी में शामिल होने के बाद का है.

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा ग़लत है. वीडियो असल में क़रीब 3 साल पुराना है.

'लाल सिंह चड्ढा' फ़िल्म से जोड़कर वायरल यह वीडियो पुराना है

गौरतलब है कि गुजरात के पाटीदार समाज के नेता हार्दिक पटेल ने 2 जून 2022 को औपचारिक तौर पर बीजेपी का दामन थामा है.

फ़ेसबुक पर वीडियो पोस्ट करते हुए एक यूज़र ने कैप्शन में लिखा, "हार्दिक पटेल का बीजेपी में शामिल होते ही स्वागत व अभिनंदन."


पोस्ट यहां देखें.

एक अन्य यूज़र ने इसी वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन लिखा, "बीजेपी में शामिल होने के बाद हार्दिक का हार्दिक अभिनंदन किया गया."


पोस्ट यहां देखें.

सोशल मीडिया पर वायरल सिद्धू मूसेवाला के आख़िरी वीडियो का क्या है सच ?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने सम्बंधित कीवर्ड और वायरल वीडियो के स्क्रीन्ग्रैब को निकालकर रिवर्स इमेज सर्च पर खोजा. इस दौरान हमने पाया कि यह वीडियो हालिया नहीं बल्कि अप्रैल 2019 का है.

न्यूज़ एजेंसी ANI के अप्रैल 19, 2019 के एक ट्वीट में यह वीडियो मिला. वीडियो के साथ कैप्शन में बताया गया है कि गुजरात के सुरेंद्रनगर में एक रैली के दौरान कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को थप्पड़ पड़ गया.


इसके अलावा, हमें यह वीडियो एबीपी न्यूज़ के यूट्यूब चैनल पर 19 अप्रैल 2019 को अपलोड हुआ मिला.

वीडियो का टाइटल है - हार्दिक पटेल को मारा गया थप्पड़, गुजरात के सुरेंद्रनगर में कर रहे थे चुनावी सभा

हमने इस घटना से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स खंगाली. इस दौरान अमर उजाला पर 19 अप्रैल 2019 को प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट मिली.

इस रिपोर्ट के अनुसार, गुजरात के सुरेंद्रनगर में जनसभा के दौरान कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को एक व्यक्ति ने थप्पड़ मार दिया. यह घटना उस समय हुई जब हार्दिक बलदाणा गांव में रैली कर रहे थे. इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उसे पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी. बाद में हार्दिक पटेल ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई.

रिपोर्ट में बताया गया है कि हार्दिक पटेल को थप्पड़ मारने वाले व्यक्ति का नाम तरुण गुज्जर है. वह गुजरात के कड़ी का रहने वाला है.

द हिन्दू की रिपोर्ट के अनुसार, इस घटना के बाद कांग्रेस ने आरोप लगाया कि तरुण गुज्जर बीजेपी का कार्यकर्ता था और उसने पार्टी के इशारे पर हमले को अंजाम दिया.

हालांकि, सुरेन्द्रनगर के एसपी महेंद्र बघेड़िया ने एएनआई से बात करते हए स्पष्ट किया था कि आरोपी तरुण गुज्जर का संबंध किसी भी पार्टी से नहीं है. वह एक आम आदमी है.

तरुण गुज्जर ने हार्दिक पटेल को थप्पड़ जड़ने के कारण का ख़ुलासा करते हुए बताया था कि "जब पाटीदार आन्दोलन शुरू हुआ, उस समय मेरी पत्नी गर्भवती थी और उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था. मुझे आन्दोलन की वजह से काफ़ी परेशानियां झेलनी पड़ी. तभी मैंने सोच लिया था इस व्यक्ति को एक दिन सबक सिखाऊंगा."

"अहमदाबाद में हार्दिक की रैली की वजह से मुझे फिर से परेशानी झेलनी पड़ी. मुझे अपने बच्चे के लिए कुछ दवाएं खरीदनी थी, लेकिन उस समय पूरा गुजरात बंद बंद पड़ा था. वह कौन है? जो जब चाहे कुछ भी बंद कर सकता है. क्या वो गुजरात का हिटलर है?"

उतरप्रदेश के मस्जिद की करीब तीन साल पुरानी तस्वीर दिल्ली के जामा मस्जिद से जोड़कर वायरल

Claim :   हार्दिक पटेल का बीजेपी में शामिल होते ही स्वागत व अभिनंदन
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story
Our website is made possible by displaying online advertisements to our visitors.
Please consider supporting us by disabling your ad blocker. Please reload after ad blocker is disabled.