गुजरात में दिल्ली दंगों के आरोपी की गिरफ़्तारी के रूप में वायरल वीडियो का सच

भरूच पुलिस और अहमदाबाद पुलिस ने बूम को बताया कि गिरफ़्तार किए गए आरोपियों में से किसी का भी दिल्ली दंगों के मामले से संबंध नहीं है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है, जिसके साथ दावा किया जा रहा है कि क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने दिल्ली दंगे (Delhi Riots) के एक आरोपी सिराज मोहम्मद अनवर (Siraj Mohammad Anwar) को गुजरात (Gujarat) से गिरफ़्तार किया है. बूम ने पाया कि वायरल वीडियो में अहमदाबाद पुलिस ने स्थानीय ढाबा से एक हिस्ट्रीशीटर और उसके साथियों को गिरफ़्तार किया है जो विभिन्न अपराधों के आरोपी हैं.

हालांकि, हमने यह भी पाया कि भरूच पुलिस ने 29 जून को अहमदाबाद से सिराज मोहम्मद अनवर नाम के एक व्यक्ति को एक दूसरे मामले में गिरफ़्तार किया था, जिसका दिल्ली दंगों या वायरल वीडियो से कोई संबंध नहीं है.

दुनिया के 50 सबसे ईमानदार लोगों की लिस्ट में मनमोहन सिंह टॉप पर? फ़ैक्ट चेक

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि सादे कपड़ों में पुलिसकर्मी एक भोजनालय में मेज की तलाश करने का नाटक करते हैं और फिर एक मेज पर बैठे चार आरोपियों को पकड़ लेते हैं.

फ़ेसबुक पर Namo Narendra Modi Ji नाम के एक पेज से वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा गया है, "लाइव फुटेज दिल्ली दंगे में आरोपी सिराज मोहम्मद अनवर को क्राइम ब्रांच ने गुजरात से दबोचा."


वायरल वीडियो फ़ेसबुक पर बड़े पैमाने पर शेयर हुआ है. यूज़र्स वीडियो के साथ किये गए दावे को बड़ी संख्या में शेयर कर रहे हैं.


क्या प्रो. एचसी वर्मा हर साल पीएम रिलीफ़ फ़ंड में 1 करोड़ रुपये दान देते हैं? फ़ैक्ट चेक

फ़ैक्ट चेक

बूम ने पाया कि वायरल वीडियो पाटन जिले का है, जहां 27 जून को अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने एक हिस्ट्रीशीटर किशोर पांचाल उर्फ़ किशोर लोहार और उसके साथियों को एक स्थानीय भोजनालय से गिरफ़्तार किया था.

इंडियन एक्सप्रेस और टाइम्स ऑफ इंडिया ने वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट के साथ इसी घटना की रिपोर्ट प्रकाशित की है.


बूम ने अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के सहायक पुलिस आयुक्त डीपी चुडास्मा से संपर्क किया, जिन्होंने बताया कि वायरल वीडियो में देखे गए आरोपियों का दिल्ली दंगों के मामले से कोई संबंध नहीं है. चुडास्मा ने कहा कि आरोपी हिस्ट्रीशीटर थे और पूरे गुजरात में कई अपराधों के लिए वांछित थे. उन्होंने कहा, "मुख्य आरोपी किशोर पंचाल वाहन चोरी, मारपीट, घर में सेंधमारी और अवैध रूप से हथियार रखने में शामिल था. वे बलात्कार और जबरन वसूली के मामलों में आरोपी हैं." चुडास्मा ने आगे कहा कि वीडियो में गिरफ़्तार किसी भी आरोपी का नाम सिराज मोहम्मद अनवर नहीं था. "आरोपी के अन्य राज्यों या दिल्ली दंगों में मामलों में शामिल होने का ऐसा कोई दावा अब तक हमारी जांच में नहीं आया है."

फिर हमने वायरल दावे में उल्लिखित आरोपी 'सिराज मोहम्मद अनवर' के नाम की खोज की और इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट मिली जिसमें भरूच पुलिस ने हथियार डीलर को गिरफ़्तार किया था और उसके कब्ज़े से दो हथियार ज़ब्त किया था.

बूम से बात करते हुए, भरूच लोकल क्राइम ब्रांच के पुलिस निरीक्षक जेएन ज़ाला ने कहा कि अनवर को 29 जून को उसके बैग में दो हथियारों के साथ गिरफ़्तार किया गया था और एक गुप्त सूचना पर उसे गिरफ़्तार कर लिया गया था. ज़ाला ने कहा, "आरोपी दिल्ली का रहने वाला है, लेकिन कई सालों से गुजरात के भरूच में रहता है. हमारी जांच में पहले किसी आपराधिक इतिहास का खुलासा नहीं हुआ है." उन्होंने वायरल दावे को ख़ारिज करते हुए कहा, "जहां तक हम जानते हैं, गिरफ़्तार आरोपी का दिल्ली दंगों के मामलों से कोई संबंध नहीं है."

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के अधिकारियों और भरूच क्राइम ब्रांच के अधिकारियों दोनों ने इस बात से इनकार किया कि दोनों मामलों के आरोपियों के दिल्ली दंगों के मामले से संबंध हैं.

कोलकाता की सड़कों पर बाढ़ का पानी के दावे से वायरल तस्वीर कहां से है?

Updated On: 2021-07-04T14:36:35+05:30
Claim Review :   दिल्ली दंगे में आरोपी सिराज मोहम्मद अनवर को क्राइम ब्रांच ने गुजरात से दबोचा
Claimed By :  Social Media Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story