क्या दिल्ली के जमात-ए-इस्लामी हिन्द मस्जिद में कोविड सेंटर खोला गया है? फ़ैक्ट चेक

नेटिज़ेंस दावा कर रहे हैं कि दिल्ली के अबुल फ़ज़ल एन्क्लेव इलाक़े में स्थित जमात-ए-इस्लामी हिन्द की मस्जिद में कोरोना मरीज़ों के लिए कोविड सेंटर बनाया गया है.

सोशल मीडिया पर एक मस्जिद (Mosque) के अंदर कोविड सेंटर (Covid Centre) की व्यवस्था दिखाती दो तस्वीरें फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल हैं. तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के अबुल फ़ज़ल एन्क्लेव इलाक़े में स्थित जमात ए इस्लामी हिन्द (Jamat-e-Islami) की मस्जिद में कोरोना (Corona) मरीज़ों की ख़िदमत के लिए कोविड सेंटर की व्यवस्था की गई है.

बूम ने पाया कि असल तस्वीर महाराष्ट्र के पुणे की आज़म मस्जिद की है और यह सालभर पुरानी है यानी 2020 से हैं. जमात ए इस्लामी हिन्द के सोशल वर्क सेक्रेटरी ने भी इस दावे को ख़ारिज किया है.

एक मई से 18 के ऊपर सभी को लगेगी वैक्सीन, जानिए कैसे करें रजिस्ट्रेशन

फ़ेसबुक पर हुमा नक़वी नाम के एक पेज पर इन दो तस्वीरों को शेयर किया गया और कैप्शन में लिखा गया कि "दिल्ली: मस्जिद अशाअत ए इस्लाम, जमाअत ए इस्लामी हिन्द,अबुल फ़ज़्ल एन्क्लेव, शाहीन बाग़,जामिया नगर, कोविड मरीज़ों की ख़िदमत के लिए हाजिर."


पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

ट्विटर पर भी इसी दावे के साथ वायरल तस्वीर शेयर की गई हैं.

ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें

वायरल तस्वीर फ़ेसबुक और ट्विटर पर बड़े पैमाने पर शेयर किया गया है.

द हिन्दू समूह के डायरेक्टर एन राम के नाम पर वायरल हो रही है ये फ़र्ज़ी खबर

फ़ैक्ट चेक

बूम ने दोनों तस्वीरों की वास्तविकता जानने के लिए सबसे पहले फ़ेसबुक पोस्ट का कमेंट सेक्शन चेक किया, जहां एक यूज़र ने दावा किया था कि ये तस्वीरें पिछले साल की पुणे के आज़म कैंपस मस्जिद की हैं.

इससे हिंट लेते हुए हमने कुछ कीवर्ड्स के साथ खोज की तो हमें अप्रैल 2020 में इन दोनों तस्वीरों के साथ प्रकाशित कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं, जिनमें कहा गया कि महाराष्ट्र के पुणे में आज़म कॉलेज ऑफ एजुकेशन ने अपने कैंपस के अंदर बनी मस्जिद के हॉल को क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील कर दिया.

हिंदी न्यूज़ वेबसाइट नवभारत टाइम्स पर 28 अप्रैल 2020 को "पुणेः मुसलमानों ने क्वारंटाइन सेंटर के लिए दे दी आजम मस्जिद, खाने से लेकर किताबों तक की मिलेंगी सुविधाएं" शीर्षक के साथ प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि "महाराष्ट्र के पुणे में भवानी पेठ इलाक़े में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए यहां के आज़म कॉलेज के अंदर बनी मस्जिद के हॉल में साफ़-सफ़ाई के बाद एक क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है. इसमें एक साथ 80 लोगों के रहने की व्यवस्था है." इस रिपोर्ट के कवर इमेज पर वायरल तस्वीर में से एक तस्वीर देखी जा सकती है.


हमने अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए वायरल पोस्ट की दूसरी तस्वीर खोजी, जो हमें हिंदी न्यूज़ वेबसाइट वन इंडिया पर मिली.


27 अप्रैल 2020 को प्रकाशित इस रिपोर्ट में आज़म कॉलेज के अंदर बनी मस्जिद की कई तस्वीरें हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि क्वारंटाइन सेंटर में कोविड-19 मरीज़ों के लिए सभी तरह की सुविधाएं हैं. बेड, टॉयलेट, पंखे से लेकर किताबें भी मुहैया करवाई जाएंगी. अन्य रिपोर्ट यहां और यहां देखें.

बूम ने दिल्ली के अबुल फ़ज़ल एन्क्लेव में स्थित जमात ए इस्लामी हिन्द के सोशल वर्क सेक्रेटरी मोहम्मद अहमद से संपर्क किया, जिसमें उन्होंने जमात ए इस्लामी की मस्जिद में कोविड सेंटर होने की बात को ख़ारिज कर दिया.

मोहम्मद अहमद ने कहा कि "फ़िलहाल जमात ए इस्लामी में कोविड सेंटर नहीं है. लेकिन आगे हमारा एक 70 बेड का कोविड अस्पताल बनाने का प्लान ज़रूर है. इसके लिए हमने सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा है. अगर सरकार से अनुमति मिल जाती है तो हम जल्द ही इसपर काम शुरू कर देंगे."

'प्रोनिंग' के बारे में जान लें ये महत्वपूर्ण बातें

Claim Review :   दिल्ली के अबुल फ़ज़ल में जमात-ए-इस्लामी हिन्द की मस्जिद में कोविड सेंटर बनाया गया है.
Claimed By :  Facebook Pages And Twitter Users
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story