बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब-अल-हसन और इस ईमारत की वायरल तस्वीर का सम्बन्ध क्या है?

बूम ने पाया कि शाकिब-अल-हसन ने बांग्लादेश के मागुरा ज़िले में एक मस्जिद का नवीनीकरण ज़रूर करवाया है परन्तु वायरल फ़ोटो यूक्रेन से है.

नेटिज़ेंस एक इमारत की फ़ोटो के साथ बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब-अल-हसन (Shakib al Hasan) और उनकी पत्नी की तस्वीर फ़र्ज़ी दावों के साथ शेयर कर रहे हैं. दावा है कि शाकिब-अल-हसन ने बांग्लादेश (Bangladesh) में एक मस्जिद बनवाई है. साथ ही शेयर की गयी ईमारत को वही मस्जिद बताया जा रहा है.

बूम ने पाया कि शाकिब-अल-हसन ने बांग्लादेश में एक मस्जिद का नवीनीकरण करवाया है पर वायरल तस्वीर उस मस्जिद की नहीं है. वायरल तस्वीर यूक्रेन (Ukrain) में स्थित खारकीव रेलवे स्टेशन (Kharkiv Railway Station) की है.

फ़ेसबुक पर ज़ोरों से वायरल यह दावा कहता है: "बांग्लादेश के मुसलमान खिलाड़ी साकिब अल हसन और उसकी पत्नी ने अपने शहर में एक मस्जिद बनवाई जिसमें लगभग 90 लाख रुपए का खर्चा आया। इस खर्च को पूरा शाकिब अल हसन ने अपनी जेब से दिया या अल्लाह इस के नेक इरादों को पूरा करें #अलहमदुलिल्लाह !"

पश्चिम बंगाल चुनाव: योगी आदित्यनाथ के भाषणों पर महुआ मोइत्रा ने किया ग़लत दावा

नीचे कुछ पोस्ट्स देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां और यहां देखें.


पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के नाम से फ़र्ज़ी ट्वीट हुआ वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने सबसे पहले इमारत की तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया. हमें रुसी भाषा के कई आर्टिकल मिले जिसमें इसे यूक्रेन का खारकीव रेलवे स्टेशन बताया गया था.

हमनें कीवर्ड्स खोज की और कई न्यूज़ एवं फ़ोटो वेबसाइट पर इसी तस्वीर को प्रकाशित पाया. सभी आर्टिकल इसे यूक्रेन के खारकीव रेलवे स्टेशन की तस्वीर बता रहे हैं.

हमें फ़ोटो स्टॉक वेबसाइट जैसे अलामी और शटरस्टॉक पर इस रेलवे स्टेशन की तस्वीरें मिलीं. वायरल तस्वीर भी इन्हीं में से एक है.

शाकिब-अल-हसन और मस्जिद

दावे का यह भाग सच है क्योंकि सोमोय टीवी द्वारा प्रकाशित एक वीडियो रिपोर्ट के अनुसार शाकिब-अल-हसन ने एक मस्जिद का नवीनीकरण करवाया है. हालाँकि रिपोर्ट में नई मस्जिद का ज़िक्र नहीं है.

सोमोय टीवी के डिस्क्रिप्शन में बताया गया है: "जैसे-जैसे स्टारडम बढ़ता है, वैसे-वैसे सामाजिक जिम्मेदारी भी बढ़ती जाती है. क्रिकेट के मैदान की तरह, शाकिब अल हसन की भूमिका इस संबंध में निर्विवाद है. शाकिब ने अपने पैसे से अपने दादा के गृह क्षेत्र में मस्जिद का नवीनीकरण किया है. शाकिब की बहुत सारी यादें इसके आसपास हैं. इतना ही नहीं, दुनिया का सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय ऑलराउंडर और उनका परिवार विभिन्न सामाजिक गतिविधियों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करता रहा है."


Updated On: 2021-03-20T16:05:18+05:30
Claim Review :   बांग्लादेश के मुसलमान खिलाड़ी साकिब अल हसन और उसकी पत्नी ने अपने शहर में एक मस्जिद बनवाई जिसमें लगभग 90 लाख रुपए का खर्चा आया
Claimed By :  Social media
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story