अखिलेश यादव के नाम से बाबरी मस्जिद को लेकर किये गए ट्वीट का सच

सोशल मीडिया पर अखिलेश यादव के एक कथित ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल है. वायरल ट्वीट में दावा किया गया है कि अगर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी तो अयोध्या में बाबरी मस्जिद का निर्माण करवाया जाएगा.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नाम से एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल है. वायरल ट्वीट में लिखा गया 'उत्तर प्रदेश में अगर हमारी सरकार बनेगी, तो हम अपने मुस्लिम भाईयों से यह वादा करते हैं, कि बाबरी मस्जिद का निर्माण उसी स्थान पर कराएंगे, जहां पर आज राम मंदिर का निर्माण हो रहा है'. #नहीं_चाहिए_भाजपा

स्क्रीनशॉट यादव के वेरीफ़ाइड ट्विटर हैंडल का है. स्क्रीनशॉट में हैंडल का नाम @yadavakhilesh दिख रहा है और इस पर ट्विटर का नीला बैज भी है.

वायरल तस्वीर में भारतीय तिरंगे का अपमान करता व्यक्ति कौन है?

ट्विटर पर ये स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए एक यूज़र ने लिखा 'ऐसे लोगों को वोट देना सनातन धर्म का अपमान है। देख लो क्या विचार हैं अखिलेशुद्दीन के #नहीं_चाहिए_सपा ."

ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

वायरल ट्वीट का स्क्रीनशॉट फ़ेसबुक पर भी शेयर किया गया है.

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

पोस्ट का आर्काइव वर्ज़न यहां देखें.

ये स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल है.


सोनू निगम के नाम पर बने 'फ़ैन' ट्विटर हैंडल से किया गया ट्वीट वायरल

फ़ैक्ट चेक

बूम ने सबसे पहले अखिलेश यादव के ट्विटर टाइम लाइन को चेक किया. हमने Advanced Search के सहारे यादव की टाइम लाइन खंगाली, पर हमें ऐसा कोई ट्वीट नहीं मिला जिसमें बाबरी मस्जिद के पुनर्निर्माण की बात की गयी हो. अखिलेश के फ़ेसबुक पेज पर भी हमें ऐसा कोई बयान नहीं मिला.

वर्ष 2019 में राम मंदिर पर आये सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले को लेकर अखिलेश यादव का एक ट्वीट हमें ज़रूर मिला. नीचे पढ़ें.

इसके बाद हमने आर्काइव वेबसाइट्स भी खंगाली ताकि अगर ट्वीट को डिलीट किया गया हो तो उसका आर्काइव्ड वर्ज़न हमें मिल सके. मगर archive.is और wayback machine पर भी हमें ऐसे किसी ट्वीट का आर्काइव्ड वर्ज़न नहीं मिला.

बूम ने न्यूज़ रिपोर्ट भी खोजे. चूँकि राम मंदिर या बाबरी-मस्जिद से जुड़ा कोई भी बयान ख़बरों में ज़रूर आता. हमें अखिलेश यादव द्वारा दिया गया ऐसा कोई भी बयान नहीं मिला. हाँ, हमें दिसंबर 2020 में Republic World में छपी एक ख़बर ज़रूर मिली जिसमे अखिलेश यादव ने कहा था कि भगवान राम के दर्शन के लिए वो शीघ्र अयोध्या जाएंगे.

नवभारत टाइम्स में भी ये ख़बर 2020 में छपी थी.


बूम ने पहले भी अखिलेश यादव के नाम से राम मंदिर पर किये गए एक फ़र्ज़ी ट्वीट का फ़ैक्ट चेक किया था. नीचे पढ़ें.

राम मंदिर निर्माण के ख़िलाफ़ अखिलेश यादव का ट्वीट फ़र्ज़ी है

Claim Review :   उत्तर प्रदेश में अगर हमारी सरकार बनेगी, तो हम अपने मुस्लिम भाइयो से ये वादा करते है, कि बाबरी मस्जिद का निर्माण उसी स्थान पर कराएंगे जहा पर आज राम मंदिर का निर्माण हो रहा है| - अखिलेश यादव
Claimed By :  Social Media Posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story