वायरल तस्वीर में भारतीय तिरंगे का अपमान करता व्यक्ति कौन है?

तस्वीर में एक शख़्स अपने जूतों में तिरंगे को लपेटकर बैठा है. दावा है कि वो पाकिस्तानी राजनेता है.

सोशल मीडिया पर भारतीय तिरंगे का अपमान करते दिखाती एक तस्वीर भ्रामक दावे के साथ वायरल है. तस्वीर में एक शख़्स अपने जूतों में भारतीय राष्ट्र ध्वज को लपेटकर बैठा दिख रहा है. इस फ़ोटो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि ये शख़्स पाकिस्तान का राजनेता हारुन विलोर है.

फ़ेसबुक पर इस फ़ोटो को शेयर करते हुए कैप्शन दिया गया है 'रहा नही गया आज पोस्ट करना ही पड़ा..!! तिरंगा पैरो में लपेट के रखा था पाकिस्तान के राष्ट्रीय लोकसभा संख्या 74 के उम्मीदवार हारून विलोर को आतंकवादियों ने बम विस्फोट कर उडा दिया..!! बधाई..!!

क्या दुर्गा वाहिनी की सदस्या ने पाकिस्तानी रेसलर को बुरी तरह पीटा? फ़ैक्ट चेक


ये फ़ोटो अलग अलग अकाउंट्स से इसी दावे के साथ कई बार शेयर की गईं हैं.


फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया तो पाया कि तस्वीर पाकिस्तान में लोकसभा के उम्मीदवार हारुन विलोर की नहीं है, बल्कि बलूचिस्तान आवामी पार्टी (BAP) के नेता सिराज रायसानी की है.

क्या है पेगासस स्पाईवेयर, जानिए दस महत्वपूर्ण बातें

हमें कई पुराने ट्वीट्स मिलें जिसमें यही तस्वीर इस्तेमाल की गयी है और तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति को सिराज रायसानी बताया गया है.

इन ट्वीट्स से हिंट लेते हुए हमने 'सिराज रायसानी' नाम से कीवर्ड सर्च किया तो हमें कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिलें.

Firstpost वेबसाइट की 14 जुलाई 2018 की एक रिपोर्ट में बताया गया कि साल 2018 में पाकिस्तान के लोकसभा चुनावों की एक रैली के दौरान बलूचिस्तान में एक बहुत बड़ा बम धमाका हुआ था. इस हादसे में लगभग 133 लोग मारे गये थे और 200 के क़रीब घायल हुए. DNA वेबसाइट पर 2018 में छपी एक रिपोर्ट में भी ये वायरल तस्वीर देखने को मिलती है जिसमे तस्वीर में दिख रहे शख्स को रायसानी बताया गया है.

इसी हमले में बलूचिस्तान आवामी पार्टी के नेता सिराज रायसानी की भी मौत हो गई थी. सिराज की तस्वीर ही पाकिस्तान के 2018 के ही लोकसभा चुनावों के उम्मीदवार हारुन विलोर के नाम से शेयर की जा रही है.


इत्तेफ़ाक की बात ये है कि उसी साल 11 जुलाई को ही एक चुनावी रैली के दौरान पेशावर में एक आत्मघाती हमला हुआ. इस हमले में पाकिस्तान के आवामी नेशनल पार्टी (ANP) के नेता हारुन विलोर की मौत हो गई थी. ये दोनों ही हमले पाकिस्तान के लोकसभा चुनावों के कुछ दिनों पहले ही हुए. उस साल 25 जुलाई 2018 से चुनाव होने थे.

CAA विरोधी प्रदर्शनों में दिए भाषण का वीडियो हिमालया कंपनी से जोड़कर वायरल

Pakistan today नाम के एक पोर्टल की खबर के मुताबिक़ बलूच नेता रायसानी अपने भारत विरोधी बयानों और गतिविधियों के कारण चर्चा में रहता था. उसकी मौत के बाद पाकिस्तान के Inter Service public Relation यानि ISPR के DG मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर ने उसकी तस्वीरें शेयर की थीं. तस्वीरों में सिराज भारत के झंडे के ऊपर खड़े दिखाई देता है.


बूम ने पाया कि तिरंगे का अपमान कर रहा शख़्स बलूचिस्तान आवामी पार्टी का नेता सिराज रायसानी है जिसकी मौत एक बम धमाके में हुई थी. वहीं हारुन विलोर की भी मौत एक आत्मघाती हमले में हुई पर उसका इस फ़ोटो से कोई लेना देना नहीं.

Claim Review :   तिरंगा पैरो में लपेट के रखा था पाकिस्तान के राष्ट्रीय लोकसभा संख्या 74 के उम्मीदवार हारून विलोर को आतंकवादियों ने बम विस्फोट कर उडा दिया..
Claimed By :  social media
Fact Check :  Misleading
Show Full Article
Next Story