आम आदमी पार्टी के सोमनाथ भारती की एडिट की हुई तस्वीर वायरल

बूम ने पाया कि तस्वीर में पुलिस एक कथित उपद्रवी के साथ खींचातानी कर रही है और उसे लेकर जा रही है. यह फ़ोटो दिसंबर 2019 की है.

सोशल मीडिया पर आम आदमी पार्टी के नेता सोमनाथ भारती की एक तस्वीर वायरल है. देखने पर पहले-पहल लगता है कि उन्हें पुलिस खींच कर ले जा रही है. चेहरे पर कालिख भी पुती है. हालांकि यह तस्वीर एडिट की गयी है. असल तस्वीर साल भर पुरानी है और सोमनाथ भारती की नहीं है.

बूम ने पाया कि तस्वीर में पुलिस एक कथित उपद्रवी के साथ खींचातानी कर रही है और उसे लेकर जा रही है. यह फ़ोटो दिसंबर 2019 की है. लखनऊ में नागरिकता संशोधन अधिनियम के ख़िलाफ़ हो रहे प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़की थी और उत्तर प्रदेश पुलिस ने 100 से ज़्यादा कथित उपद्रवियों को गिरफ़्तार किया था जिनमे से एक को दो पुलिस वाले खींच कर ले जा रहे थे जब ये तस्वीर ली गयी थी.

हैदराबाद के पुल पर नहीं लगी ट्रक में आग, यह घटना पुणे की है

हाल में आम आदमी पार्टी के नेता सोमनाथ भारती ने उत्तर प्रदेश के रायबरेली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ अपशब्द का प्रयोग किया था और उत्तर प्रदेश पुलिसकर्मियों के साथ भी कथित अभद्रता की थी. इसके चलते वो सुलतानपुर की अमहट जेल में बंद थे पर शनिवार को रायबरेली की एमपी- एमएलए कोर्ट ने भारती को 50-50 हजार के मुचलके पर जमानत दे दी है.

ये तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन में नेटिज़ेंस दावा करते हैं: "ई देखिये सोमनाथ का किया हल कर दिया है, पुलिस वालों को कहा था की वर्दी उतरवा देगा, और योगी जी को जान से मारने की धमकी दी थी पुलिस वालों के सामने, ये बातन भूल गये थे अब up मे योगी जी है, इसका तो पैंट पिला हो गया योगी जी की जय हो, और किसी देश'द्रोही जिहादी, अपिया को जाना हो UP मे तो देख ले, फीर सोचे.."

नीचे ऐसी ही कुछ पोस्ट्स देखें और इनके आर्काइव्ड वर्शन यहां देखें.




फ़ैक्ट चेक : कोका-कोला कंपनी ने किसान आंदोलन का समर्थन किया है?

फ़ैक्ट चेक

बूम ने इस तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया. हमें कई फ़ेसबुक पोस्ट्स (यहां देखें) के साथ साथ अमर उजाला की 22 दिसंबर 2019 की एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल तस्वीरों की कोलाज में से एक प्रकाशित थी.

असल तस्वीर में दिख दिख रहा शख्स कोई और है. रिपोर्ट के मुताबिक़, "राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में सौ से ज्यादा उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है. प्रशासन किसी को भी बख्शने के मूड में नहीं है। पुलिस ने हिंसा के दौरान आगजनी व पत्थरबाजी करने वालों को गिरफ्तार किया."


बूम ने वायरल तस्वीर और वास्तविक तस्वीर की तुलना की. हमनें दोनों को एकदम सामान पाया.


बोरिस जॉनसन ने किसान आंदोलन के कारण दौरा रद्द नहीं किया है

कोलाज में दिख रही दूसरी तस्वीर भी हमें फ़ेसबुक पर 2019 में शेयर की हुई मिली. यहां देखें.

बूम ने इंटरनेट पर भारती की वो तस्वीर भी तलाशी जिसमे उनके चेहरे पर काली स्याही फेंकी गयी थी. तस्वीर में भारती ने काले रंग की जैकेट पहन रखी है ना की वायरल तस्वीर में दिख रही भूरे रंग की जैकेट.




Claim Review :   सोमनाथ का किया हल कर दिया है, पुलिस वालों को कहा था की वर्दी उतरवा देगा, और योगी जी को जान से मारने की धमकी दी थी पुलिस वालों के सामने, ये बातन भूल गये थे अब up मे योगी जी है, इसका तो पैंट पिला हो गया
Claimed By :  Facebook posts
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story