दरगाह पर ली गयी राहुल और प्रियंका गाँधी वाड्रा की तस्वीर हुई गलत सन्दर्भ में वायरल

चार साल पुरानी इस तस्वीर में राहुल गाँधी और उनकी बहन अमेठी के मीर शाह दरगाह पर ज़ियारत करते नज़र आ रहे हैं

सोशल मीडिया पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा की एक तस्वीर को अलग-अलग कैप्शन के साथ वायरल किया जा रहा है।

व्हाट्सप्प पर वायरल होती इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है की, "आज लखनऊ में नमाज़ अदा करते भाई बहन, यह देखने के बाद अब भी कोई संदेह है यह देश का भला करेंगे …is this true ppl"

व्हाट्सप्प पर वायरल होती तस्वीर

ट्विटर पर इस तस्वीर को इस कैप्शन के साथ वायरल किया जा रहा है की , "नमाज पढना हो तो प्रसन्नता से पढते हैं…दिक्कत तो योग से है"

और एक कैप्शन कहता है की, "Is this photoshop ? Can a Janaeu Dhari Brahmin @RahulGandhi organise and attend #Iftar⁠ ⁠ full of non veg food? #IStandWithRahulGandhi ? Oh yes Italian Maino Pappu pager can do #AccordingToRahulGandhi"

अनुवाद: "क्या यह तस्वीर मॉर्फ़ है ? क्या एक जनेऊधारी ब्राह्मण रमज़ान में इफ्तार करवाता है। वह भी पूरा नॉन वेज , यह इटालियन पप्पू कुछ भी कर सकता है।"

फैक्टचेक

बूम ने गूगल रिवर्स इमेज सर्च के ज़रिये इस तस्वीर की सच्चाई को जानने की कोशिश की और पाया की इस तस्वीर में राहुल और प्रियंका नमाज़ नहीं पढ़ रहे हैं | तस्वीर दरअसल अमेठी में 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान मीर शाह बाबा दरगाह पर ली गयी थी जहां ये दोनों ज़ियारत के लिए गए थे। इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर लोगों को भ्रमित करने के लिए गलत सन्दर्भ में फ़ैलाया जा रहा है।

फर्स्टपोस्ट ने इस सन्दर्भ में एक न्यूज़ रिपोर्ट की है जिसे यहाँ पढ़ा जा सकता है। अमेठी और राय बरेली सालो से गाँधी परिवार का गढ़ रहा है। लोकसभा 2014 चुनाव से पहले राहुल और प्रियंका ने दरगाह की ज़ियारत (दर्शन) कर एक रोड शो भी किया था।

हालांकि की हमें वायरल तस्वीर से हूबहू मिलती तस्वीर तो नहीं मिली, मगर एक व्यक्ति है जो दोनों - पोस्ट की गयी और फर्स्ट पोस्ट की तस्वीरों - में मौजूद है | हमने उन दोनों तस्वीरों को आमने-सामने रख कर चिन्हित किया है |

पहली तस्वीर सोशल मीडिया पर गलत सन्दर्भ में वायरल हो रही है। दूसरी तस्वीर फर्स्टपोस्ट ने वर्ष 2014 में अपनी न्यूज़ रिपोर्ट में प्रकाशित की थी। इन दोनों तस्वीरों के कोलाज़ में राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा के अलावा एक और आदमी को देखा जा सकता है।

फ़ेसबुक पर इस तस्वीर को 'ज़ी न्यूज़ फैन क्लब' नामक पेज पर और अन्य काफ़ी सारे पेजों पर शेयर किया जा रहा है।

इस तस्वीर को ट्वीट भी किया गया है।

कांग्रेस के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल पर भी इस तस्वीर को टैग किया गया है।

इस तस्वीर को A.N.I , अनुपम खेर के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल और इकोनॉमिक टाइम्स के ट्विटर हैंडल पर भी टैग किया गया है।

फर्स्टपोस्ट में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार राहुल गाँधी 2014 में अमेठी में लोक सभा चुनाव प्रचार के दौरान अपनी बहन प्रियंका के साथ मीर शाह बाबा के दरगाह पर गए थे |

आपको बता दे की राहुल गाँधी के दरगाहों पर लिए गए कई वीडिओज़ को पहले भी वायरल किया जा चूका है | बूम ने पहले भी ऐसी ख़बरों का पर्दाफ़ाश किया है। ऐसी ही एक रिपोर्ट को आप यहाँ पढ़ सकते है।

गौरतलब है की कुछ दिनों पहले पुलवामा में सी.आर.पी.ऍफ़ के जवानों पर हुए आत्मघाती हमले के जिम्मेदार जैश-ए -मुहम्मद के आतंकी आदिल डार की तस्वीर को राहुल गाँधी की तस्वीर के साथ मॉर्फ़ कर वायरल कर दिया गया था। बूम ने इस पर एक रिपोर्ट भी की थी जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं |

राहुल और प्रियंका गाँधी के मीर शाह बाबा दरगाह के दर्शन के वीडियो को यहाँ देखा जा सकता है।

Claim Review :   राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा लखनऊ में नमाज़ अदा करते हुए
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  FAKE
Show Full Article
Next Story