दरगाह पर लिया गया राहुल गाँधी का वीडियो साम्प्रदायिक सन्देश के साथ वायरल

सोशल मीडिया पर राहुल गाँधी के दरगाह पर दुआ मांगने को उनके हिन्दू धर्म के साथ जोड़कर किया जा रहा है वायरल
दावा: "ये है दत्तात्रेय जनेऊधारी ब्राह्मण की असलियत।👿 अब आख नही खुली तो कभी नहीं खुलेगी जागो हिन्दुओ जागो।" "🚩जय श्री राम🚩" "अब आख नही खुली तो कभी नहीं खुलेगी जागो हिन्दुओ जागो जय श्री राम" रेटिंग: झूठ सच्चाई: राहुल गाँधी ने एक टोपी पहन कर दरगाह पर फातिहा और दुआ ज़रूर की पर फ़ेसबुक वायरल हो रहे कैप्शन के अनुसार उनका धर्म परिवर्तन नहीं हुआ है। सोशल मीडिया पर राहुल गाँधी के इस वीडियो को गलत कैप्शन के साथ धड़ल्ले से वायरल किया जा रहा है।
फ़ेसबुक पर 'शैलेश कट्टा' नामक अकाउंट से इस पोस्ट को पैंतालीस हज़ार (45,000) से ज़्यादा शेयर्स और 6 लाख से ज़्यादा व्यूज मिले है। इस पोस्ट को फ़ेसबुक पर 'मनीष गुप्ता' नामक अकाउंट से भी शेयर किया गया है। सितम्बर 10,2016 को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध सूफी संत मखदूम अशरफ, किछौछा शरीफ के दर्शन को पहुंचे थे । वहां पहुंच कर उन्होंने देश में अमन और शांति बने रहने की कामना की थी । इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता 'मौलाना गुलाम नबी आज़ाद' भी वहाँ मौजूद रहे थे। पहले तो राहुल गांधी ने अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की थी। उसके बाद राहुल फैजाबाद शहर में रोड शो करते हुए अंबेडकरनगर पहुंचे और शिवबाबा के दर्शन किए थे। जहां उन्होंने खाट पंचायत कर किसानों से बात चीत भी की थी। राहुल गांधी ने शुक्रवार देर शाम किछौछा दरगाह शरीफ का रुख किया और दरगाह शरीफ पर चादर चढ़ाई थी। वहां उन्हें खादिम सुहेल अशरफ ने देश में अमन चैन तथा देश की अखंडता बरकार रहे उसके लिए दुआ भी पढाई थी। राहुल ने दरगाह के सज्जादा नशीन मौयुद्दीन अशरफ से मुलाकात की और सूफी संस्कृति और मुस्लिमों समस्याओं पर चर्चा भी की थी। पूरी वीडियो को सहारा समय की इस रिपोर्ट में यहाँ देखा जा सकता है। https://youtu.be/ttuSmQefk4I ज्ञात रहे की इस विषय के सन्दर्भ में आजतक ने एक रिपोर्ट की है जिसे यहां पढ़ा जा सकता है।
Claim Review :  राहुल गाँधी पर धर्म परिवर्तन के इल्ज़ामं
Claimed By :  शैलेश कट्टा
Fact Check :  false
Show Full Article
Next Story