मलेशियाई सुपरमार्केट में महिला की मौत हार्ट फेल से हुई, कोरोनावायरस से नहीं

बूम ने मृतक के एक रिश्तेदार से संपर्क किया, जिसने पुष्टि की कि 20 वर्षीय युवा महिला की मौत हृदय रुकने से हुई थी।

मलेशिया के एक सुपरमार्केट में एक युवती के गिरने के सीसीटीवी फुटेज को ग़लत दावे के साथ फैलाया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि युवती की मौत घातक कोरोनावायरस से हुई है। वीडियो में महिला को एक सुपरमार्केट के गलियारे में घूमते और उत्पादों को देखते हुए दिखाया गया है। क्षण भर बाद, वह अपना सिर पकड़ती है और गिर जाती है।

वीडियो एक कैप्शन के साथ फैलाया जा रहा है जो नेटिजन्स के बीच नए बीमारी को लेकर घबड़ाहट पैदा कर सकता है। "यह कोरोनोवायरस है, कोरोनावायरस की चपेट वो आई और 2 मिनट में उसकी मृत्यु हो गई। अब कोरोनोवायरस चीन, भारत, मलेशिया, सिंगापुर में है। सभी लोग सावधान रहें।"

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस: इंडोनेशियाई बाजार का वीडियो, चीन के वुहान का बता कर किया वायरल

एक अन्य फ़ेसबुक पोस्ट में, क्लिप की पहचान सिंगापुर की एक घटना के रूप में की गई है। इसके साथ कैप्शन दिया गया है, "आज सिंगापुर में एक व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस से हुई है। दोस्तों इस वीडियो को देखने के बाद समझ लीजिए कि यह वायरस कितना खतरनाक है।" कैप्शन में बंगाली में आगे कहा गया है कि वीडियो ने नेटिजन्स को चेतावनी दी है क्योंकि छोटे देश भी संक्रमित हो रहे हैं। (बंगाली में: মনে ভয় ঢুকে পড়েছে ছোট্ট দেশ যে কোন সময়ে আক্রান্ত করতে পারে... Share korben plzz ( সবাইকে দেখার সুযোগ করে দিন)

माना जाता है कि कोरोनोवायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान में हुई थी। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, तिब्बत में मामले की पुष्टि होने के साथ अब मरने वालों की संख्या बढ़कर 170 हो गई है। 7700 से अधिक लोग अब तक संक्रमित हो चुके हैं। कोरोनावायरस ने कई देशों में घबड़ाहट पैदा किया है। कई देशों ने चीन जाने वाली कई एयरलाइनों की उड़ानें निलंबित की हैं और सुरक्षित रहने के लिए तेजी से एहतियाती उपाय अपनाए हैं।

यह भी पढ़ें: झूठ: कोरोनावायरस पर वायरल 'आपातकालीन अधिसूचना' फ़र्ज़ी है

कोरोनैवायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सकारात्मक पाया गया था। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने एक प्रेस रीलिज जारी की जिसमें कहा गया कि चीन के वुहान विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले एक छात्र में नॉवेल कोरोनावायरस का टेस्ट सकारात्मक पाया गया है।

फ़ैक्ट चेक

बूम ने वीडियो को इसके प्रमुख फ्रेम में तोड़ा और रिवर्स इमेज सर्च किया। हम एक मलेशियाई समाचार रिपोर्ट तक पहुंचे जिसमें वीडियो का स्क्रीनशॉट था। समाचार रिपोर्ट के अनुसार, मलेशिया में यह फुटेज के वायरल होने के बाद, मृतक की मां ने इस दावे को ख़ारिज किया है कि युवती की मौत कोरोनावायरस से हुई है।


यह घटना 26 जनवरी को मलेशिया के क्लैंग इलाके में हुई थी, जहां एक 20 वर्षीय महिला नूर इज़ाह इज़्ज़ती की एक डिपार्टमेंटल स्टोर में खरीदारी के दौरान मौत हो गई थी। परिवार ने इस बात से इनकार किया कि युवती की मौत का कारण कोरोनावायरस था।

यह भी पढ़ें: वाहनों से उत्सर्जित सूक्ष्मकण मस्तिष्क कैंसर से जुड़े हैं: अध्ययन

बूम ने इज्ज़ती के एक रिश्तेदार से संपर्क किया, जिसने इसकी पुष्टि की। हाफिज रसिदा के अनुसार, इज़्ज़ती की मौत हार्ट फेल होने के कारण हुई ना कि वायरस के संक्रमण के कारण हुई है। उन्होंने एक फ़ेसबुक पोस्ट में भी यही कहा, जहां रोसिदा ने नेटिजेन्स से कोरोनवायरस के संदर्भ में वीडियो शेयर न करने का आग्रह किया है।

मलेशिया के स्वास्थ्य मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने नेटिज़न्स से आग्रह किया है कि इस वीडियो को कोरोनवायरस वायरस के साथ जोड़ते हुए ना शेयर किया जाए।

इसके अलावा, इज़्ज़ती के दोस्त ने उसकी मौत के कारणों के बारे में रिपोर्ट शेयर किया और यह बताया कि कैसे स्टोर से सीसीटीवी फुटेज जंगली में आग की तरह फैल गया।

मलेशिया में अब तक आठ लोगों में कोरोनावायरस का टेस्ट सकारात्मक पाया गया है। ये सभी चीनी नागरिक हैं। देश में अभी तक कोरोनावायरस के कारण किसी भी मौत की रिपोर्ट नहीं की गई है।

Claim Review :   वीडियो में लड़की कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण गिरती है और उसकी मौत हो जाती है
Claimed By :  Facebook pages
Fact Check :  False
Show Full Article
Next Story